क्या इंग्लैंड का पहला स्कूल १८६८ मे शुरू हुआ था और उस वक्त भारत मे ७३,२००० गुरुकुल व ९५% साक्षरता थी ? जानिये सच |

False International Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१९ अप्रैल २०१८ को फेसबुक पर ‘Hindu Jagran Manch’ नामक एक यूजर द्वारा एक पोस्ट साझा किया गया है | पोस्ट में एक चित्र दिया गया है | चित्र का विवरण है – इंग्लॅण्ड मे पहला स्कूल १८६८ मे खुला, उस समय भारत मे ७३२००० गुरुकुल व ९५% साक्षरता थी | तो आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:  

ARCHIVED POST

संशोधन से पता चलता है कि…

हमने जांच की शुरुआत के लिए सबसे पहले गूगल मे ‘first school of england’ की वर्ड्स से ढूंढा, तो हमें जो परिणाम मिले वह आप नीचे देख सकते है |

इस संशोधन मे हमें इंग्लैंड का आधिकारिक वेबसाइट मिला जिसमे हमें इंग्लैंड मे स्थापित सभी स्कूल के बारे मे जानकारी मिली |

http://www.educationengland.org.uk/history/timeline.html

इस जानकारी के मुताबिक सन ५९८ मे पहले स्कूल की स्थापना इंग्लैंड के कैंटरबरी नामक एक शहर मे हुई थी |

इसके बाद हमने गूगल में दावे अनुसार ‘1868 indian education system’ की वर्ड्स से ढूंढा, तो हमें जो परिणाम मिले वह आप नीचे देख सकते है |

विकिपीडिया के इस पेज में हमें १८५५ से की गयी जनगणना की संख्या मिली जिसके मुताबिक उपरोक्त पोस्ट मे किये गए दावे के दोनों आकड़े गलत निकले |

https://en.wikipedia.org/wiki/History_of_education_in_the_Indian_subcontinent

इस जनगणना के मुताबिक सन १८५५ मे ३०९१ स्कूल थे मगर कहीं भी गुरुकुल का उल्लेख नहीं है और ना ही कहीं पर ९५% साक्षरता की पुष्टि हुई |

फिर हमने गूगल में ‘1868 who could attend gurukul’ की वर्ड्स से ढूंढा, तो हमें जो परिणाम मिले वह आप नीचे देख सकते है |

संशोधन मे प्राप्त इस प्रकाशन मे गुरुकुल की प्रथा और नियमों का उल्लेख है | इस प्रकाशन के मुताबिक गुरुकुल की शिक्षा सबके लिए थी मगर ब्राह्मणों को प्राथमिकता दी जाती थी क्योंकि गुरुकुल की शिक्षा प्रदान करने का अधिकार सिर्फ़ ब्राह्मणों को ही था | इसीलिए क्षत्रियों से भी ज़्यादा उन्हें महत्व और प्राथमिकता दी जाती थी | पूरे प्रकाशन को पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें |

Shodhganga PDFWikipedia.Education_history_1

इसके अलावा सन १८६८ मे भी जातिवाद को बहुत गंभीरता से माना जाता था, जिसमे क्षुद्र जाती वालों को साक्षरता का अधिकार ही नहीं था और क्षुद्र जाती वाली की तादाद ब्राह्मणों और क्षत्रियों से कई ज़्यादा थी | इससे किया गया दावा कि ९५% की साक्षरता थी – अपने आप खारिज हो जाता है |

जांच का परिणाम : इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में किया गया दावा की, “इंग्लॅण्ड मे पहला स्कूल १८६८ मे खुला, उस समय भारत मे ७३२००० गुरुकुल व ९५% साक्षरता थी | ” ग़लत है | इंग्लैंड मे पहला स्कूल सन ५९८ मे शुरू हुआ था और १८६८ मे साक्षरता ना ही ९५% थी और ना ही ७३२००० गुरुकुल थे |

Avatar

Title:क्या इंग्लैंड का पहला स्कूल १८६८ मे शुरू हुआ था और उस वक्त भारत मे ७३,२००० गुरुकुल व ९५% साक्षरता थी ? जानिये सच |

Fact Check By: Nita Rao 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •