विडियो में मगरमच्छ को मुंबई स्थित दादर से नही बल्कि चिपलून के दादर मोहल्ले के एक नाले से बचाया गया था |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

३० जुलाई २०१९ को रविकुमार एस नामक एक फेसबुक यूजर द्वारा एक विडियो पोस्ट किया गया था, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “दादर मुंबई में मेन रोड गटर में मगरमच्छ मिला” | ५४ सेकंड के इस विडियो में कुछ लोगों को एक गटर से एक मगरमच्छ को बचाते हुए देख सकते है | इस विडियो को सोशल मीडिया पर काफ़ी तेजी से साझा करते हुए यह दावा किया जा रहा है कि इस मगरमच्छ को मुंबई के दादर इलाके से बचाया गया था | 

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव विडियो 

इस विडियो को फेसबुक पर काफ़ी तेजी से साझा किया जा रहा है |

संशोधन से पता चलता है कि…

जांच की शुरुआत हमने इस दावें को गूगल सर्च पर ढूँढने से की, जिसके परिणाम में हमें कई खबरें मिलीं जिनमें दावा किया गया था कि मगरमच्छ महाराष्ट्र के रत्नागिरी जिले के चिपलून इलाके में पाया गया था | ज़ी २४ तास के मराठी समाचार लेख में बताया गया है कि मगरमच्छ को चिपलून के एक रिहायशी इलाके के एक नाले में पाया गया था और कई लोगों द्वारा कहा गया था कि चिपलूनसे होकर बहने वाली वशिष्ठ नदी का जल स्तर बढ़ रहा है जिसके कारण यह मगरमच्छ नाले से शहर के अंदर आ गया |

हमें चिपलूनिट्स नामक फेसबुक पेज द्वारा prasarit एक फेसबुक लाइव विडियो मिला, जिसमें २७ जुलाई को कैप्शन के साथ वीडियो पोस्ट किया गया था कि “Crocodile  @ Dadar Mohalla, #Chiplun” |

इसके पश्चात हमने प्रभागीय वनाधिकारी, विजयराज सुर्वे से संपर्क किया, जिन्होंने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि “मगरमच्छ को चिपलून में एक नाले से पकड़ा गया था | घटना २७ जुलाई की है जब हमें सूचना मिली कि चिपलून के दादर इलाके में एक नाले में एक मगरमच्छ को देखा गया है | वीडियो में दिखाया गया है कि हमारे वन अधिकारियों ने मगरमच्छ को नाले से बाहर निकालकर उसे पकड़ लिया” |

इसके अलावा उन्होंने यह कहा कि सोशल मीडिया पर वायरल संदेशों ने मुंबई में दादर का दावा किया है क्योंकि दोनों क्षेत्रों का समान नाम है | दादर मोहल्ला भी चिपलून में एक क्षेत्र है | उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि “मगरमच्छ को मुंबई के दादर से नही बल्कि चिपलून के दादर मोहल्ले के एक नाले से बचाया गया था” |

इस खबर को कई प्रतिष्ठित मीडिया संगठनों ने भी प्रकाशित किया था, जिन्हें आप नीचे पढ़ सकते है |

NDTVआर्काइव लिंक
दैनिक भास्कर आर्काइव लिंक
इंडियन एक्सप्रेस आर्काइव लिंक
महाराष्ट्र टाइम्स आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों के जांच करने के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है क्योंकि यह मगरमच्छ मुंबई के दादर में नही बल्कि रत्नागिरी जिले में चिपलून के दादर में एक नाले पे पाया व बचाया गया था |

Avatar

Title:विडियो में मगरमच्छ को मुंबई स्थित दादर से नही बल्कि चिपलून के दादर मोहल्ले के एक नाले से बचाया गया था |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •