शाहजहांपुर के इस विडियो को पीटने व जलाने के गलत दावे के साथ फैलाया जा रहा है |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२८ जुलाई २०१९ को सितारे चैनल नामक एक फेसबुक पेज ने एक विडियो पोस्ट किया था, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “उत्तरप्रदेश के शाहजहांपुर -चौक कोतवाली के अब्दुल्लागंज में ईश्वरीय विश्व विद्यालय की प्रबंधिका ने नौकरानी जो कि दलित वर्ग से आती है को बेरहमी से डंडे से पीटा और लाइटर से भी जलाया! देखो वीडियो” | इस विडियो में हम दो औरतों को एक दुसरे औरत को डंडे से डराते हुए देख सकते है, और उसका हाथ जलने की धमकी देते हुए सुन सकते है | इस विडियो को सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए यह दावा किया जा रहा है कि यह घटना उत्तर प्रदेश के शाहजहाँपुर की  है जहाँ  ईश्वरीय विश्व विद्यालय की प्रबंधिका ने नौकरानी को बेरहमी से डंडे से पीटा और लाइटर से भी जलाया | फैक्ट चेक किये जाने तक यह विडियो लगभग ८०० प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चुकी थी |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव विडियो 

संशोधन से पता चलता है कि…

जांच की शुरुआत हमने उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर के एडिशनल एसपी  दिनेश त्रिपाठी से संपर्क किया, उन्होंने हमें बताया कि “यह घटना मई के महीने की है जब ईश्वरीय विश्व विद्यालय में यह लड़की जो मानसिक रूप से अस्वस्थ है अनाधिकृत तरीके से विद्यालय के अंदर प्रवेश कर गई थी और ऊधम मचाकर विद्यालय के प्रशासन को काफ़ी परेशान किया था | विद्यालय के कर्मचारी द्वारा उस लड़की को पीटा नही गया था बल्कि उससे डंडा दिखाकर डराया जा रहा था | इस विडियो में दिखाई गई लड़की का इस विद्यालय के साथ कोई भी संबंध नही है और नाही वो कोई नौकरानी है” | 

इसके पश्चात हमने शाहजहांपुर के प्रजापिता ब्रह्मा कुमारी ईश्वरीय विद्यालय से संपर्क किया, ब्रह्मा कुमारी चरिता जी ने हमें बताया कि “लड़की का नाम सोना गुप्ता है और वह मानसिक रूप से अस्वस्थ है, वो कभी भी विद्यालय में अनाधिकृत तरीके से आ जाती थी और बहुत शोर शराबा व ऊधम मचाती  थी, घटना के दिन भी ये युवती अनाधिकृत तरीके से विद्यालय के अंदर ऊधम मचा रही थी व उसके हाथ में एक लाइटर था, जिसकी वजह से वहां पे उपस्थित एक दूसरी ब्रह्मा कुमारी बहन उसका हाथ पकड़कर उसे बाहर लेकर जाने की कोशिश कर रही थी और वे उसे डंडे और लाइटर से डरा रही थी की वो इससे डर जाए और वापस अंदर ना आए | यह विडियो उसी समय का है जिसे गलत कथन से साथ फैलाया जा रहा है, विडियो में दर्शक स्पष्ट रूप से देख सकते है कि इस मानसिक रूप से अस्वस्थ युवती को केवल डराया जा रहा है, और इस घटना के बाद भी ये लड़की विद्यालय में प्रवेश या फिर विद्यालय के गेट के सामने रात को सोई भी पाई जाती है | हमने इसकी शिकायत उसके पिता से की है और साथ ही कोतवाली पुलिस को भी इस युवती के बारें में सुचना देकर शिकायत दर्ज कराई है | इस लड़की का विद्यालय से कोई भी संबंध नही और यह विद्यालय ब्रह्मा कुमारियों द्वारा संचालित है और यहां पर कार्यरत हम सभी सेवाधारी बहनें है” |

इसी बात का उल्लेख करते हुए उत्तर प्रदेश की शाहजहांपुर पुलिस ने उनके आधिकारिक ट्वीटर अकाउंट से एक स्पष्टीकरण जारी किया जिसमे उपरोक्त घटना का विवरण दिया गया है |  

आर्काइव लिंक 

निष्कर्ष: तथ्यों की जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है क्योंकि मूल तौर पर विडियो में दिखाई गई लड़की मानसिक रूप से अस्वस्थ है और उसका विद्यालय के साथ कोई लेना देना नही है साथ ही उसे किसीने भी नही पीटा, यह विडियो उसे डराने का है | इस विडियो को एक गलत दावें के साथ सोशल मीडिया में फैलाया जा रहा है |

Avatar

Title:शाहजहांपुर के इस विडियो को पीटने व जलाने की गलत दावें के साथ फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •