क्या प्रधानमंत्री नोटबंदी के दौरान लोगों को हुई परेशानियों का मज़ार उड़ा रहे है? जानिये इस वीडियो का सच…

Missing Context Political

इस वीडियो को क्लिप किया गया है। प्रधानमंत्री लोगों की परेशानियों का मज़ाक नहीं उड़ा रहे है। वे कह रहे है कि इतनी परेशानियों के बाद भी लोगों ने उनका समर्थन दिया।

8 नवंबर को नोटबंदी के लिये छह साल हो गये है। ऐसे में प्रधानमंत्री मोदी का एक वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है। उसमें वे हंसते हुये कह रहे है कि 8 नवंबर को आठ बजे नोटबंदी हुई थी। 500 और 1000 के नोट बंद किये गये। घर में शादी है पैसे नहीं है। और फिर उस वीडियो में लोगों की हंसी की आवाज़ आ रही है। 

इससे ऐसा प्रतित हो रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी नोटबंदी में लोगों को हुई परेशानियों का मज़ाक उड़ा रहे है। 

वायरल हो रहे वीडियो में यूज़र ने लिखा है, “परपीड़ा सुख का क्रूरतम उदाहरण। बेटी की शादी है, पैसे नहीं हैं। यह उस देश में हुआ जहां के गांव-जवांर में किसी की बेटी की शादी हो तो गरीब से गरीब आदमी भी अपनी पहुंच भर योगदान देता है। इस क्रूर सुख के अलावा नोटबंदी का क्या हासिल रहा?” (शब्दश:)

फेसबुक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

इस वीडियो को देखने के बाद हमने पाया कि यह ए.बी.पी न्यूज़ द्वारा प्रसारित किया गया है। क्योंकि इसमें ए.बी.पी न्यूज़ का चिन्ह है। आप नीचे दी गयी तस्वीर में देख सकते है। 

आप देख सकते है कि इस तस्वीर में “जापान से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाइव” यह लिखा हुई है। इसको ध्यान में रखते हुये हमने यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च किया। परिणाम में हमें इसका मूल वीडियो ए.बी.पी न्यूज़ के चैनल पर 12 नवंबर 2016 को प्रसारित किया हुआ मिला। इसमें आप वायरल हो रहे भाग को 7.34 मिनट से आगे तक देख सकते है।  

इस वीडियो को देखने पर हमने पाया कि प्रधानमंत्री मोदी ये कह रहे है कि जब नोटबंदी का ऐलान हुआ था, लोगों को काफी परेशानी हुई। कई राजनेताओं ने जनता तो भड़काया कि मोदी के खिलाफ कुछ बोलो। उस दौरान लोग चार घंटे, छह घंटे लाइन में खड़े रहे, काफी परेशानी उठाये। परंतु फिर भी लोगों ने देश के हित में लोगों ने इस निर्णय को स्वीकार किया। 

इससे हम कह सकते है कि वायरल वीडियो अधूरा है। नीचे दिये गये तुलनात्मक वीडियो में आप वायरल वीडियो और मूल वीडियो में अंतर देख सकते है।

12 नवंबर 2016 को टाइम्स ऑफ इंडिया के वेबसाइट प्रकाशित जानकारी में बताया गया है कि प्रधानमंत्री मोदी ने यह भाषण जापान में कोबे में भारतीय लोगों को संबोधित करते हुये दिया था। उस समय उन्होंने नोटबंदी के बारें में बात की थी।

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। इस वीडियो को क्लिप किया हुआ है। इसमें प्रधानमंत्री मोदी लोगों की परेशानियों का मज़ाक नहीं उड़ा रहे है।

Avatar

Title:क्या प्रधानमंत्री नोटबंदी के दौरान लोगों को हुई परेशानियों का मज़ार उड़ा रहे है? जानिये इस वीडियो का सच…

Fact Check By: Samiksha Khandelwal  

Result: Missing Context

Leave a Reply