तेलंगाना में भा.ज.पा कार्यकर्ताओं द्वारा पथराव करने के वीडियो को पश्चिम बंगाल का बता किया वायरल|

Partly False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी तेजी से फैलता हुआ नज़र आ रहा है, वीडियो में कुछ व्यक्तियों को एक घर पर पथराव करते व कुछ सुरक्षाकर्मी इन व्यक्तियों को तितर-बितर करने की कोशिश करते दिख रहे हैं | इस वीडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि यह क्लिप पश्चिम बंगाल का है, जहां हाल ही में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पथराव किया था | वायरल क्लिप में दिख रहे व्यक्तियों को जय श्री राम के नारे लगाते सुना जा सकता है साथ ही कुछ व्यक्तियों को भाजपा के झंडे को पकड़े देखा जा सकता है |
पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि 

“अगर किसान दिल्ली में दंगा फैला रहे है, तो क्या भाजपा बंगाल में शांति की स्थापना करने पर लगी हुई है |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसन्धान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने पाया कि यह वीडियो तेलंगाना से है जहाँ एक विधायक के घर पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने पथराव किया था |

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को बारीकी से देखने से की, जिसके परिणाम से हमें पथराव करने वाले व्यक्तियों के समीप एक पुलिस की गाड़ी नज़र आई | हमें गाड़ी के ऊपर “वारंगल पुलिस” लिखा हुआ नज़र आया |

इसके पश्चात हमने वारंगल शब्द के साथ इस वीडियो के संदर्भित कीवर्ड्स को गूगल पर ढूँढा, परिणाम में हमें १ फरवरी २०२१ को द हिंदुस्तान टाइम्स द्वारा प्रकाशित एक न्यूज़ रिपोर्ट मिली | खबर के अनुसार परकाल टीआरएस के विधायक चल्ला धर्मा रेड्डी के आवास पर हमला करने के लिए ३१ जनवरी को ३९ भाजपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया था | टीआरएस विधायक ने कथित रूप से कहा था कि भाजपा कार्यकर्ता अयोध्या में राम मंदिर के लिए दान अभियान के नाम पर पैसा ठग रहे थे |

आर्काइव लिंक 

१ फरवरी २०२१ को द न्यूज मिनट में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, बीजेपी के ५३ कार्यकर्ताओं को ३१ जनवरी को पुलिस ने परकाल टीआरएस के विधायक चल्ला धर्मा रेड्डी के आवास पर हमला करने के लिए हिरासत में लिया था | खबर के अनुसार यह घटना तेलंगाना की है। रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि कार्यकर्ता घटना से तीन दिन पहले एक बैठक को संबोधित करते हुए धर्मा रेड्डी की टिप्पणी पर भड़के हुए थे। समाचार रिपोर्टों के अनुसार, टीआरएस विधायक ने पूछा था कि क्यों तेलंगाना के लोगों को अयोध्या में राम मंदिर के लिए दान करना चाहिए, जब उनके पास भद्राचलम में पहले से मंदिर था |

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को आंशिक रूप सेगलत पाया है, ये सत्य है कि भाजपा से सम्बंधित लोगों द्वारा पथराव किया गया था पर ये पथराव बंगाल में नहीं अपितु तेलंगाना में हुआ है जहाँ एक विधायक के घर पर अयोध्या राम मंदिर को लेकर विधायक द्वारा की गई टिप्पणी के बाद उठे विवाद के चलते पथराव हुआ था |

Avatar

Title:तेलंगाना में भा.ज.पा कार्यकर्ताओं द्वारा पथराव करने के वीडियो को पश्चिम बंगाल का बता किया वायरल|

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: Partly False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •