“मेरी कमेंटरी प्रदुषण की बैठक से ज़्यादा ज़रूरी है |” – गौतम गंभीर ने ऐसा नही कहा।

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

फोटो क्रेडिट- starunfolded.com 

१८ नवंबर २०१९ को “Sunny Upadhyay” नामक फेसबुक यूजर ने एक वीडियो पोस्ट किया, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर बुलाई बैठक में आप नही आये,बैठक से जरूरी मेरा काम है:- गौतम गंभीर चुनाव लड़ सांसद क्यों बने तुम ? केजरीवाल पर आरोप लगाने के लिए बस!” 

इस वीडियो में हम पूर्व दिल्ली के सांसद गौतम गंभीर को मीडिया से बात करते हुए देख सकते है | न्यूज़ रिपोर्टर ने जब गौतम गंभीर को पुछा कि “आप बैठक में नही आए जब बुलाया गया था?” इस सवाल का जवाब देते हुए गंभीर कहते है कि “बैठक ज़रूरी है या मेरा काम ज़रूरी है?” 

१५ नवंबर २०१९ को गौतम गंभीर को दिल्ली के प्रदुषण से जुड़ी बैठक में बुलाया गया था जहाँ जो नही जा सके | अब इस वीडियो को इस दावे के साथ फैलाया जा रहा है कि “गौतम गंभीर ने खुद यह बात कही है कि उनके लिए उनका काम प्रदुषण बैठक से ज्यादा ज़रूरी है | 

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को यूट्यूब पर “गौतम गंभीर ANI प्रदुषण” के कीवर्ड्स से ढूँढा, जिसके परिणाम से हमें १८ नवंबर २०१९ को ANI द्वारा प्रसारित वीडियो मिला | यह वीडियो वायरल वीडियो का लम्बा वर्शन है जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “गौतम गंभीर ने कहा कि: बैठकों की तुलना में प्रदूषण कम करने के लिए उपाय पर काम करना ज्यादा ज़रूरी है |” इस वीडियो में हम १:३० मिनट पर रिपोर्टर को सवाल पूछते हुए सुन सकते है जिसके उत्तर में गंभीर कहते है कि 

“भाईसाहब बैठक ज़रूरी है या मेरा काम ज़रूरी है? पाच महीने में मैंने अपने काम आपको गिनवा दिए है, आप पाँच साल के तो काम गिनिये न जो उन्होंने (केजरीवाल) काम किये है |” 

इसके बाद वे यह भी कहते है कि “मैंने बैठक इसीलिए नही अटेंड करी क्योंकि ११ तारिख को जब मुझे मेल आया था तब मैंने उसी दिन कनवे कर दिया था कि जो मेरा कॉन्ट्रैक्ट है जो मुझे एंटरटेन करना पड़ेगा | और ११ तारिख को उनको यह मेल जा चूका था, ऐसा नही है कि मैंने १३ तारिख को बोला कि मैं नही आऊंगा | लेकिन आप पांच महीने की मेरा काम देखिए, आप ये मत देखिए कि १० मिनट में मेरा ट्रोल करना शुरू कर दिया | अगर इतनी मेहनत दिल्ली के प्रदुषण को कम में की होती ना जितना मुझे ट्रोल करने में, पोस्ट करने में, पोस्टर लगाने में और जलेबी बाटने में किया तो आज हम सब मिलके सांस ले पाते |” 

उपरोक्त यूट्यूब वीडियो के विवरण में लिखा गया है कि “गौतम गंभीर ने १५ नवंबर को दिल्ली में वायु प्रदूषण पर शहरी विकास की संसदीय स्थायी समिति की बैठक के दौरान अपनी अनुपस्थिति पर एक स्पष्टीकरण दिया, उन्होंने कहा कि वह कमेंटरी के लिए अनुबंधित थे और उन्होंने समिति को इस बारे में पहले ही सूचित कर दिया था | 

उपरोक्त वीडियो के शुरुवात में हम गौतम गंभीर को स्पष्टीकरण देते हुए सुन सकते है। 

इससे यह स्पष्ट होता है कि सोशल मीडिया पर वायरल क्लिप असल में उनके एक लम्बे बयान का छोटा सा हिस्सा है जिसे सुनकर यह प्रतीत होता है कि गौतम गंभीर ने यह बयान दिया है कि उनका कमेंटरी का काम प्रदूषण के बैठक से ज्यादा ज़रूरी है | इस वीडियो का एक छोटा क्लिप गलत तरीके से फैलाया जा रहा है | मूल वीडियो में गौतम गंभीर असल में “मेरे काम” शब्दों का इस्तेमाल उनके सांसद बनने के बाद दिल्ली के लिए किये गये कामों के संदर्भ में कह रहे थे ना की उनके कमेंटरी के काम के बारे में |

क्लिप्ड वीडियो और मूल वीडियो की तुलना आप नीचे सकते है |

इस वीडियो को आप ANI के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट द्वारा किये गये ट्वीट में भी देख सकते है |

आर्काइव लिंक  

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो लोगो को भ्रमित करने के लिए फैलाया जा रहा है | यह मूल वीडियो का छोटा क्लिप है |

Avatar

Title:“मेरी कमेंटरी प्रदुषण की बैठक से ज़्यादा ज़रूरी है |” – गौतम गंभीर ने ऐसा नही कहा।

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply