हिमाचल प्रदेश में आयोजित धार्मिक उत्सव का वीडियो जलियांवाला बाग में ईवीएम विरोध के रूप में वायरल….

False Political

लोकसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान हो चुका है, लेकिन अभी भी ईवीएम से वोटिंग को लेकर बवाल मचा हुआ है। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से शेयर किया जा रहा है, जिसमें एक भारी भीड़ को तलवारों को पकड़े हुए देखा जा सकता है। वायरल वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि पंजाब के अमृतसर स्थित जलियांवाला बाग के अंदर ईवीएम के खिलाफ बड़ा आंदोलन हुआ।

वायरल वीडियो के साथ यूजर ने लिखा है- पंजाब में जलियांवाला बाग के पास अंदर में  EVM के खिलाफ बहुत बड़ा आंदोलन शुरू हो गया ईवीएम हटाओ देश बचाओ

ट्वीटरआर्काइव

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पड़ताल की शुरुआत में हमने वायरल वीडियो के कुछ स्क्रीनशॉट लिए। मिली तस्वीरों का रिवर्स इमेज सर्च करने पर वायरल वीडियो हमें एक यूट्यूब चैनल (आर्काइव) पर मिला। जिसके कैप्शन में लिखा है, गवास गांव में 38 साल बाद शांत महायज्ञ, देवताओं और खूंदों की मौजूदगी में निभाई फेरी-शिखा पूजन की रस्म। 

यह वीडियो वायरल वीडियो का मूल वीडियो है। निम्न में पूरी वीडियो देखें।

मिली जानकारी की मदद से हमने कुछ की-वर्ड सर्च किया। जिसके परिणाम में एक यूट्यूब चैनल पर हमें  वायरल वीडियो से मिलता जुलता एक वीडियो मिला। 11 जनवरी 2024 को प्रकाशित इस वीडियो में भी लोगों को हाथ में तलवारें लिए देखा जा सकता है। इस वीडियो में बीचों-बीच एक बड़ा खंबा लगा दिख रहा है जो वायरल वीडियो में भी दिखाई देता है।

चैनल में प्रकाशित वीडियो में वायरल वीडियो से मिलता जुलता विजुअल 26 मिनट से देखा जा सकता है। 

वीडियो में दिए गए कैप्शन के अनुसार गवास गांव में हुआ यह महायज्ञ 38 साल बाद आयोजित किया गया था।

निम्न में हमने वायरल वीडियो से जुड़ी तस्वीर और चैनल में प्रकाशित वीडियो के  तस्वीर का विश्लेषण किया। जिसमें देखा जा सकता है कि वायरल वीडियो और चैनल में दिखाई दे रही जगह एक ही है। 

मिली जानकारी की मदद लेते हुए हमने आगे की जांच की। हमें अमर उजाला (आर्काइव) की एक रिपोर्ट मिली। 8 जनवरी 2024 को प्रकाशित इस खबर के अनुसार हिमाचल प्रदेश में हुए गवास शांत महायज्ञ का है। जब  गवास गांव में यह महायज्ञ 38 साल बाद आयोजित किया गया था।  यह यज्ञ तीन दिन तक चलता रहा। यह यज्ञ देवता गुडारू महाराज के लिए किया गया था। इस यज्ञ समारोह में हजारों की संख्या में लोग पहुंचे थे। इस आयोजन में हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू भी पहुंचे थे। 

इसके अलवा इस वीडियो को अलग अलग एंगल से यहां ,यहां और यहां पर भी देखा जा सकता है। जानकारी के अनुसार इस यज्ञ आयोजन से क्षेत्र में सुख समृद्धि की कामना की जाती है।  

निष्कर्ष- तथ्य-जांच के बाद हमने पाया कि, वायरल वीडियो का जलियांवाला बाग और ईवीएम के विरोध से कोई संबंध नहीं है। ये वीडियो हिमाचल प्रदेश में इसी साल जनवरी में आयोजित एक धार्मिक महोत्सव का है। 

Avatar

Title:हिमाचल प्रदेश में आयोजित धार्मिक उत्सव का वीडियो जलियांवाला बाग में ईवीएम विरोध के रूप में वायरल….

Fact Check By: Sarita Samal 

Result: False

Leave a Reply