क्या अर्नब गोस्वामी ने धारा 370 को रद्द करने के बाद “हजारों को मार डालो” कहा है ?

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

७ अगस्त २०१९ को “Bhakton ka RADARनामक फेसबुक यूजर ने एक विडियो पोस्ट किया, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि जबकि कश्मीर में लाखों लोग सैन्य घेराबंदी के अधीन हैं, अर्नब गोस्वामी कहते हैं, “एक गर्वित भारतीय के रूप में, मैं क्षति के लिए तैयार हूं…. उन्हें मार डालो… उन्हें हजारों में मार डालो” भारत में प्राइम टाइम के पत्रकार कश्मीरियों के खून की मांग कर रहे हैं | #StandWithKashmir” |

इस विडियो में हम रिपब्लिक टीवी के प्राइम टाइम पत्रकार अर्नब गोस्वामी को न्यूज़ डिबेट के बीच में देख सकते है, जहां उन्हें यह कहते हुए सुना जा सकता है कि “अब ऑपरेशन एलिमिनेशन शुरू होगा । हमें इन सभी लोगों को खत्म करना होगा | ये गद्दार, नारे लगाने वाली ब्रिगेड, आपको लगता है कि हमने आपको मौका नहीं दिया? अब हमें एक कठिन सैन्य विकल्प की आवश्यकता है। और मैं एक गरवान्वित भारतीय के रूप में कह रहा हूं, मैं क्षति के लिए तैयार हूं। मार दो हजारों” | 

इस वीडियो को सबसे पहले एक ट्विटर हैंडल “विथ कश्मीर” ने इस विवरण के साथ साझा किया था कि “जबकि #Kashmir में लाखों लोग सैन्य घेराबंदी के तहत हैं, अर्नब गोस्वामी कहते हैं,” एक गर्वित भारतीय के रूप में, मैं टक्कर क्षति के लिए तैयार हूं … उन्हें मार डालो… उन्हें हजारों में मार डालो। ”भारत में प्राइम टाइम के पत्रकार कश्मीरियों के खून के लिए हैं। #StandWithKashmir।” |

इस ट्वीट का संज्ञान ले ट्विटर द्वारा इस यूज़र का ट्विटर हैंडल स्सपेंड कर दिया गया है।

इस विडियो को उपरोक्त विवरण के साथ सोशल मीडिया पर काफ़ी तेजी से साझा करते हुए यह दावा किया जा रहा है कि अर्नब गोस्वामी ने धारा ३७० के निरस्त होने और जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को रद्द होने के संबंध में उपरोक्त टिप्पणी की है |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव विडियो 

संशोधन से पता चलता है कि…

विडियो का बारीकी से आँकलन करने से हमें यह पता चला कि यह न्यूज़ डिबेट “सन्डे डिबेट शो” से है, साथ ही यह कश्मीर के मुद्दे को लेकर हुई बहस के २४ सेकंड का क्लिप है | ८ सेकंड पर, वीडियो की ध्वनि कम हो जाति है, जो १० सेकंड में फिर से ठीक हो जाती है | इसके अलावा, गोस्वामी की टिप्पणियां अचानक समाप्त हो जाती हैं और बहस में अधूरी लगती हैं | इस विडियो को देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि यह विडियो एडिट किया गया है |

जांच की शुरुआत हमने इस विडियो को कीवर्ड्स के माध्यम से ढूँढने से की, गूगल पर हमने “Will Pro-Azadi Gang Unite Against Pakistan? #KashmirDebate” कीवर्ड्स को सर्च किया जैसा की विडियो के शीर्षक में हम देख सकते है, परिणाम में हमें २४ फरवरी २०१९ को रिपब्लिक टीवी द्वारा प्रसारित एक विडियो मिला, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “क्या पाकिस्तान के खिलाफ प्रो-आजादी गैंग एकजुट होगा? | अर्नब गोस्वामी के साथ एक्सक्लूसिव संडे डिबेट” |

बहस के दौरान पैनल में बैठे कुछ पैनलिस्ट के साथ गोस्वामी की कश्मीर के पत्थरबाजों के संबंध में बहस हुई, जिसके चलते अर्नब ने कहा कि “क्रोध से ड्यूटी और पर्यटकों पर कई हमले होते हैं |” ५५ मिनट १२ सेकंड पर पत्थर-मारों का जिक्र करते हुए गोस्वामी को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि, हजारों को मार डालो, उन्हें मार डालो” | बाद में उन्होंने कहा कि उनके साथ निपटने का एकमात्र तरीका है कि पहले उन्हें निपटाया जाए और “उन पर नरमी न बरती जाए |” वह यह भी बताते हैं कि कैसे एक पत्थरबाज जुबैर अहमद तुरै जेल से भाग गया और 15 दिनों में एक आतंकी संगठन में शामिल हो गया |

इसी विडियो में आगे १ घंटे ७ मिनट ४७ सेकंड पर अर्नब गोस्वामी कहते हैं कि  “मैं कह रहा हूं कि हमें अब एक कठिन सैन्य विकल्प की आवश्यकता है और मैं एक गर्व भारतीय के रूप में कह रहा हूं, मैं जम्मू और कश्मीर के भीतर आतंकवादियों और उनके समर्थकों को हटाने के लिए क्षति के लिए तैयार हूं क्योंकि अब ऑपरेशन उन्मूलन शुरू हो जाएगा और हमें इन सभी लोगों को खत्म करना होगा |”

English Statement: “I am saying that we now need to have a tough military option and I’m saying as a proud Indian, I am prepared for collateral damage to take on terrorists within Jammu and Kashmir and their supporters because now operation elimination will start and we will have to eliminate all these people.”

बहस में थोड़ा आगे गोस्वामी का सुझाव है कि कश्मीर के लिए एकमात्र समाधान यह है कि बल और मजबूत सैन्य कार्रवाई का उपयोग करना चाहिए | वह यह भी कहता है कि पथराव करने वालों की समस्या के लिए एकमात्र उपाय यह है कि उन्हें इकट्ठा किया जाए, उनके बालों को पकड़कर उन्हें खूब पीटना चाहिए |

वर्तमान में इस विवाद के चलते, रिपब्लिक टीवी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट कर ट्विटर इंडिया को @withkashmir हैंडल की जानकारी देते कहा है कि यह पाकिस्तान के ISI द्वारा संचालित हैंडल है जो कि रिपब्लिक TV के ख़िलाफ़ फ़ेक न्यूज़ फैलाने का कार्य कर रहा है, रिपब्लिक चैनल ने एक हैशटैग #TwitterMustClarify चलाया, जिसके बाद ट्विटर अकाउंट “WithKashmir” को निलंबित कर दिया गया |

आर्काइव लिंक 

निष्कर्ष: तथ्यों के जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है, यह विडियो पुराना है और इसे पुलवामा हमले के बाद प्रसारित किया गया था, साथ ही इस विडियो को एडिट किया गया है |

Avatar

Title:क्या अर्नब गोस्वामी ने धारा 370 को रद्द करने के बाद “हजारों को मार डालो” कहा है?

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •