अहमदाबाद पुलिस के अपराधियों को पकड़ने के एक वीडियो को दिल्ली दंगों के आरोपियों की गिरफ्तारी का बता साझा किया जा रहा है |

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सादे कपड़ों में पुलिसकर्मियों द्वारा एक हथियारबंद आरोपी और उसके साथियों को पकड़ने वाले के एक वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल करते हुये दावा किया जा रहा है कि गुजरात पुलिस दिल्ली दंगों के लिए जिम्मेदार सिराज मोहम्मद अनवर नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर रही है |

वायरल वीडियो में सादे कपड़ों में पुलिस कर्मियों को एक भोजनालय की मेज पर तलाश करने का नाटक करते हुए दिखाया गया है और फिर एक मेज पर बैठे चार आरोपियों को पकड़ते हुए दिखाया गया है |

इस वीडियो को सोशल मीडिया पर दो दावे से साथ फैलाया जा रहा है |

पहले कैप्शन में लिखा गया है कि 

“दिल्ली से डकैतों को गिरफ्तार करने वाली भरूच क्राइम ब्रांच का लाइव ऑपरेशन, सिराज मोहम्मद अनवर नाम का लड़का जो #दिल्ली दंगों में शामिल था। भरूच क्राइम ब्रांच ने उसे एक गुप्त सूचना पर पकड़ा” 

इस पोस्ट के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि भरूच पुलिस ने सिराज मोहम्मद अनवर नाम के एक आरोपी को गिरफ्तार किया और आगे दावा किया कि वह दिल्ली दंगों में शामिल था |

दुसरे पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि 

“लाइव फुटेज, दिल्ली दंगे में आरोपी सिराज मोहम्मद अनवर को क्राइम ब्रांच ने गुजरात से दबोचा |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने पाया कि वायरल वीडियो अहमदाबाद पुलिस को एक हिस्ट्रीशीटर और उसके सहयोगियों को एक स्थानीय भोजनालय से गिरफ्तार करने का है |

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को गूगल पर कीवर्ड सर्च कर इस वीडियो से संबंधित ख़बरों को ढूँढकर किया जिसके परिणाम से हमने पाया है कि यह वीडियो २७ जून को पाटन जिले से था, जहां अहमदाबाद क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने हिस्ट्रीशीटर किशोर पांचाल उर्फ किशोर लोहार और उसके साथियों को एक स्थानीय भोजनालय से गिरफ्तार किया था | इंडियन एक्सप्रेस और टाइम्स ऑफ इंडिया ने वायरल वीडियो के स्क्रीनशॉट के साथ इसी घटना की विस्तृत रिपोर्ट प्रकाशित की थी |

इसके बाद, फैक्ट क्रेसेंडो ने अहमदाबाद अपराध शाखा के सहायक पुलिस आयुक्त डीपी चुडासमा से संपर्क किया, जिन्होंने कहा कि वायरल वीडियो में देखे गए आरोपियों का दिल्ली दंगों के मामले से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि आरोपी हिस्ट्रीशीटर थे जो पूरे गुजरात में कई अपराधों के लिए वांछित थे |

आगे उन्होंने कहा, “मुख्य आरोपी किशोर पांचाल- वाहन चोरी, मारपीट, घर में सेंधमारी और अवैध हथियार रखने में शामिल था। वे बलात्कार और जबरन वसूली के मामलों में आरोपी हैं।”

उन्होंने आगे कहा कि वीडियो में गिरफ्तार किसी भी आरोपी का नाम सिराज मोहम्मद अनवर नहीं था। “आरोपी के अन्य राज्यों या दिल्ली दंगों में मामलों में शामिल होने का ऐसा कोई दावा अब तक हमारी जांच में नहीं आया है।”

तद्पश्चात हमने वायरल दावे में उल्लिखित आरोपी ‘सिराज मोहम्मद अनवर’ के नाम की खोज की जिसके परिणाम से हमें इंडियन एक्सप्रेस द्वारा प्रकाशित एक खबर मिली जिसमें भरूच पुलिस द्वारा हथियारों के अवैध कब्जे के लिए एक छोटे हथियार डीलर को गिरफ्तार किया था |

फैक्ट क्रेसेंडो ने भरूच स्थानीय अपराध शाखा के पुलिस निरीक्षक जे.एन जाला से संपर्क किया, जिन्होंने हमें बताया कि अनवर को २९ जून को हथियारों के साथ गिरफ्तार किया गया था | हमें इस आदमी के बारे में एक गुप्त सूचना ऑफ मिली थी, उन्होंने हमें आगे बताया कि, “हालाँकि आरोपी मूल रूप से दिल्ली का रहने वाला है, लेकिन कई सालों से गुजरात के भरूच का रह रहा है | हमारी अब तक की जांच में इस व्यक्ति के बारे में पहले किसी आपराधिक इतिहास का खुलासा नहीं हुआ है |”

आगे उन्होंने वायरल दावे को खारिज करते हुए कहा, “हमारी अब तक की पड़ताल में ये स्पष्ट है कि गिरफ्तार आरोपी का दिल्ली दंगों के मामलों से कोई संबंध नहीं है |” 

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट के साथ हो रहे दावों को गलत पाया है | अहमदाबाद अपराध शाखा के अधिकारियों और भरूच अपराध शाखा के अधिकारियों दोनों ने इस बात से इनकार किया कि दोनों मामलों के आरोपियों का दिल्ली दंगों के मामले से संबंध हैं | सोशल मीडिया पर वीडियो के माध्यम से किये गये दावे गलत है | अहमदाबाद में एक हथियारबंद आरोपी और उसके साथियों को पकड़ने वाले एक पुलिसकर्मी का वीडियो गलत दावे के साथ वायरल हो रहा है |

हमारे द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:-

1. सिलीगुड़ी में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा उनके भाषण में कहे “चोरी सम्बंधित” वक्तव्य को सन्दर्भ से बाहर फैलाया जा रहा है |

2. श्रीनगर में डल झील के किनारे अतिक्रमण हटाने के वीडियो को रोहिंग्याओं मुस्लिमों की अवैध बस्तियों को ध्वस्त करने का बता फैलाया जा रहा है|

3. 

Avatar

Title:अहमदाबाद पुलिस के अपराधियों को पकड़ने के एक वीडियो को दिल्ली दंगों के आरोपियों की गिरफ्तारी का बता साझा किया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply