बंगाल में आंसू गैस के डिब्बे को भाजपा कार्यकर्ता द्वारा लात मारने का वीडियो फर्जी है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में राज्य सचिवालय नोबन्नो में एक मार्च के दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) व अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं और पुलिस के साथ ८ अक्तूबर को एक हिंसक झड़प हुई थी, इसी बीच वर्तमान में सोशल मंचों एक वीडियो जिसमें एक व्यक्ति पुलिस द्वारा फेंके गए आंसू गैस के डिब्बे पर लात मरता हुआ दिखता है, को ये बता वायरल किया जा रहा है कि ये वीडियो बंगाल में भाजपा और पुलिस के बीच में हुई झड़प से है जहाँ भाजपा का एक दिलेर कार्यकर्ता इस आंसू गैस के डिब्बे पर लात मार रहा है| 

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि

पश्चिम बंगाल में भाजपा के कार्यकर्ताओं को सलाम ! यह ऐसा है जैसे वे सशस्त्र दुश्मनों के साथ सीमा में लड़ रहे हैं! बीजेपी युवा केरकार्ता ने स्मोक बोब को पवेलियन में लाथ मारा |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

यह वीडियो इंडोनेशिया से है, इसका भारत से व भाजपा से कोई सम्बन्ध नहीं है |

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड वी वेरीफाई टूल की मदद से छोटे कीफ्रेम्स में तोड़कर व फिर इन की फ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम से हमें रेडफिश नामक एक फेसबुक पेज द्वारा ८ अक्टूबर २०२० को प्रसारित वीडियो मिला जिसके अनुसार एक इंडोनेशियाई प्रदर्शनकारी पानी की तोपों से बचते हुए एक आंसू गैस के कनस्तर को वापस लात मार रहा है |

फेसबुक पोस्ट

आर्काइव लिंक

तद्पश्चात हमें यह वीडियो यूट्यूब पर ८ अक्टूबर २०२० को अपलोड किया मिला, वीडियो के शीर्षक में इंडोनेशियी भाषा में लिखा गया है कि “‘#Viral #beritahariini ताज़ा ख़बर – Jebreeettttt…। छात्र आंसू गैस को लात मारते हुए प्रदर्शन करते हैं |”

उपरोक्त दोनों वीडियो की क्वालिटी वायरल वीडियो से काफी ज्यादा स्पष्ट और कुछ सेकंड लंबी है जिसको ध्यान से देखने पर हमें एक ट्रक नज़र आता है जिसमे अंग्रेजी में “पोलिसी” लिखा हुआ नज़र आया | तद्पश्चात गूगल पर इंडोनेशिया के पुलिस ट्रक कीवर्ड को सर्च करने पर हमें वीडियो में दिख रहे ट्रक जैसी तस्वीरें नज़र आयीं | 

नीचे आप वीडियो में दिख रहे ट्रक और इंडोनेशियी पुलिस ट्रक की तस्वीरों का तुलनात्मक विश्लेषण देख सकते है |

गूगल पर कीवर्ड सर्च करने पर हमने अलजजीरा द्वारा प्रकाशित खबर से पता चला कि इंडोनेशिया में ८ अक्टूबर, गुरुवार को लगातार तीसरे दिन एक नए रोजगार कानून के खिलाफ देशव्यापी विरोध प्रदर्शन हुए थे |

UPDATE (14th October)- 

इस जगह की लोकेशन को ढूँढने के लिए फैक्ट क्रेसेंडो ने इंडोनेशियन फैक्ट चेकिंग कंपनी मसियाराकट एंटी फित्नाह इंडोनेशिया (मफिन्डो) के अरिबोवो सस्मितो से संपर्क किया, उनके द्वारा हमें इस घटनास्थल के स्थान के बारे में बताया गया| उन्होंने हमें इस जगह का लोकेशन और संबंधित ख़बरें भेजीं |

रीड.आईडी नामक एक वेबसाइट के अनुसार इंडोनेशिया भाषा में लिखा गया है कि यह वीडियो ओमनीबस लॉ के खिलाफ गोरोंटालो में हुए प्रदर्शन का है, जिसे आप नीचे देख सकते है |

आर्काइव लिंक 

नीचे आप वीडियो में गोरोंटालो में हुए प्रदर्शन के स्थान को गूगल स्ट्रीट व्यू के माध्यम से देख सकते है | यह प्रदर्शन गोरोंटालो शहर के तुगु पेर्लिमान नामक क्षेत्र में हुआ था |

स्ट्रीट व्यू में दिख रहे पीले और नीले रंग की दीवार वायरल वीडियो में दिख रहे दीवार से मिलता है | नीचे आप दोनों तस्वीरों का तुलनात्मक विश्लेषण देख सकते हैं |

उपरोक्त तथ्यों से हम स्पष्ट हो सकते है कि वायरल वीडियो पश्चिम बंगाल से नहीं है बल्कि इंडोनेशिया के गोरोंटालो नामक एक जगह से है जहाँ ओमनीबस लॉ के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहा था |

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात् हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो भारत के पश्चिम बंगाल से नही है बल्कि इंडोनेशिया से है | वीडियो में दिख रहा व्यक्ति भाजपा कार्यकर्ता नही है बल्कि इंडोनेशिया से प्रदर्शनकारी है |

Avatar

Title:बंगाल में आंसू गैस के डिब्बे को भाजपा कार्यकर्ता द्वारा लात मारने का वीडियो फर्जी है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply