सड़क पर बैठे तेंदुए का ये वीडियो यूपी के कैराना का नहीं बल्कि कर्नाटक का पुराना वीडियो है…

False Social

सड़क पर बैठे तेंदुए का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से शेयर किया जा रहा है । वायरल वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि रोड के किनारे बैठे तेंदुए का यह वीडियो उत्तर प्रदेश के शामली के कैराना का है। 

वायरल वीडियो के साथ यूजर ने लिखा है- शामली- कैराना में हाईवे पर बैठे तेंदुए का वीडियो आया सामने ,पिछले दिनों तेंदुए ने 4 साल की बच्ची को मारा था हाईवे पर दहाड़ते हुए देखा गया, तेंदुआ कैराना बाईपास रोड का बताया जा रहा वायरल वीडियो

फेसबुकआर्काइव

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पड़ताल की शुरुआत में हमने वायरल वीडियो के कुछ तस्वीरों का रिवर्स इमेज सर्च किया। परिणाम में वायरल वीडियो की खबर हमें एशियानेट सुवर्णा न्यूज यूट्यूब चैनल पर प्रसारित  मिली। ये खबर 17 अप्रैल 2023 की है। इससे ये स्पष्ट होता है कि वायरल वीडियो हाल का नहीं है। 

वीडियो में दिए गए कैप्शन के अनुसार ये वीडियो गदग में बिंकादकट्टी के पास गदग-हुबली रोड का है। निम्न में पूरी खबर देखें।

जांच में आगे हमें गदग डिविजन के फॉरेस्ट ऑफिसर, डिप्यूटी कंजर्वेटर ऑफ फॉरेस्ट दीपिका गोयल बाजपेयी का एक ट्वीट मिला। 17 अप्रैल 2023 को किए गए ट्वीट में उन्होंने बताया था कि तेंदुए की तलाश जारी है। 

इसके अलावा हमें डिप्टी कंजरवेटर ऑफ फॉरेस्ट गदग अकाउंट से किया गया एक ट्वीट (आर्काइव) मिला। इसमें बताया गया था कि वीडियो में दिख रहा तेंदुआ जंगल से आया होगा। तेंदुए की तलाश जारी है। 

हमें NewsFirst Kannada के यूट्यूब चैनल पर भी वायरल वीडियो की रिपोर्ट मिली, जिसे 18 अप्रैल 2023 को अपलोड किया गया था। साथ दी गई जानकारी के अनुसार वीडियो कर्नाटक के गदग जिले का है। इसके अलवा इस खबर को यहां,यहां और यहां पर भी देखा जा सकता है। जिनसे यह स्पष्ट होता है कि सड़क पर बैठे तेंदुए का वीडियो कर्नाटक का है। 

निष्कर्ष- तथ्य-जांच के बाद हमने पाया कि, सड़क पर बैठे तेंदुए का वायरल वीडियो उत्तर प्रदेश के शामली के कैराना का नहीं  बल्कि कर्नाटक के गदग जिले का पुराना वीडियो है। वायरल वीडियो का कैराना और लखनऊ से कोई संबंध नहीं है।

Avatar

Title:सड़क पर बैठे तेंदुए का ये वीडियो यूपी के कैराना का नहीं बल्कि कर्नाटक का पुराना वीडियो है…

Fact Check By: Sarita Samal 

Result: False

Leave a Reply