बीजेपी को वोट न देने के लिए शपथ दिलाने वाला वायरल वीडियो 6 साल पुराना है।

Misleading Political

वायरल वीडियो हालिया नहीं, बल्कि साल 2018 का मध्य प्रदेश के इटारसी का है। जब इटारसी के एक संस्‍थान ने अपने छात्रों को भाजपा के खिलाफ वोट न देने की शपथ दिलाई थी। इसका देश में अभी चल रहे लोकसभा चुनाव से कोई संबंध नहीं  है।

लोकसभा चुनाव 2024 के लिए पहले चरण का मतदान संपन्न हुआ। पहले चरण में 21 राज्यों की 102 सीटों पर औसतन करीब 60 प्रतिशत की वोटिंग हुई है। इस बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें कुछ युवक और युवतियों को बीजेपी के खिलाफ वोट न देने की शपथ लेते हुए दिखाया गया है। यूज़र इस वीडियो को प्रचारित करते हुए दावा कर रहे हैं, कि भाजपा सरकार से नाराज छात्रों ने भाजपा को वोट नहीं देने की शपथ ले ली है। हमें वायरल वीडियो फेसबुक रील के रूप में प्राप्त हुआ है , जिसे इस टेक्स्ट से शेयर किया जा रहा है…

वेकेंसी ना देने के कारण सरकार से नाराज़ छात्रों ने BJP को वोट ना देने का शपथ लिया। 

फेसबुक पोस्टआर्काइव पोस्ट

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने वीडियो की खोज के लिए गूगल पर सम्बंधित कीवर्ड्स टाइप किये। हमें परिणाम में विऑन न्यूज़ के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर वायरल वहीं वीडियो अपलोड मिला। 29 जनवरी 2018 को अपलोड हुए वीडियो के साथ बताया गया है कि ये वीडियो मध्य प्रदेश के इटारसी का है, जहां विजयलक्ष्मी इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट में छात्रों ने बीजेपी के खिलाफ वोट ने देने की शपथ ली थी। 

आर्काइव

इससे हम ये समझ गए कि वीडियो अभी का या हाल का बिल्कुल भी नहीं है।

29 जनवरी 2018 को इंडिया टीवी की वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है, कि मध्य प्रदेश के इटारसी में 26 जनवरी को स्टूडेंट्स ने BJP को वोट न देने की शपथ ली थी।  

आर्काइव

इस खबर को ज़ी न्यूज़ की वेबसाइट पर भी देखा जा सकता है। जिसमें बताया गया है, कि शिक्षकों के मन में ऑनलाइन परीक्षा को लेकर काफी आक्रोश है। जिसके कारण इटारसी के विजयलक्ष्मी इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट में शिक्षकों ने गणतंत्र दिवस के मौके पर छात्रों को बीजेपी को वोट न देने की अनोखी शपथ दिलाई।

आर्काइव

 साथ ही वायरल वीडियो हमें एएनआई के ट्विटर हैंडल पर भी मिला। इसे 28 जनवरी 2018 को ट्वीट किया गया था। ये वायरल वीडियो का पूरा मूल वर्जन है, जिसमें हम साफ- साफ छात्रों को टीचर द्वारा ऑनलाइन परीक्षा के विरोध में बीजेपी को वोट न देने की शपथ लेते हुए देख सकते हैं।

आर्काइव

इस प्रकार हम कह सकते हैं कि 2018 के इटारसी के वीडियो को अब लोकसभा के हालिया चुनाव से जोड़ा जा रहा है। 

निष्कर्ष-

तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने यह पाया कि वायरल वीडियो 2018 का है, जब ऑनलाइन भर्ती परीक्षा के विरोध में इटारसी के एक संस्‍थान ने अपने छात्रों को भाजपा के खिलाफ शपथ दिलाई थी। उसी वीडियो को अभी लोकसभा चुनाव से जोड़ कर शेयर किया जा रहा है। 

Avatar

Title:बीजेपी को वोट न देने के लिए शपथ दिलाने वाला वायरल वीडियो 6 साल पुराना है।

Fact Check By: Priyanka Sinha 

Result: Misleading

Leave a Reply