रैप वीडियो में नज़र आ रहा लड़का पुणे कार हादसे का आरोपी नहीं है, दावा फर्जी….

False Social

सोशल मीडिया पर पुणे पोर्शे कार हादसे के 17 साल के आरोपी को जुवेनाइल सेंटर भेजे जाने के बाद एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक युवक रैप करता हुआ दिखाई दे रहा है। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि जमानत मिलने के बाद नाबालिग आरोपी ने न्यायपालिका का मजाक उड़ाते हुए रैप सॉन्ग बनाया है। 

वायरल वीडियो में लड़के को गाते सुना जा सकता हैं,’“कुछ सुनोगे, करके बैठा मैं नशे इन माय पोर्शे, सामने आया कपल मेरे अब वो है नीचे । साउंड सो क्लीशे, सॉरी गाड़ी चढ़ गई आप पे, 17 की उम्र पैसा खूब मेरे बाप पे, एक दिन में मिल गई मुझे बेल, फिर से दिखाऊंगा सड़क पर खेल।

वायरल वीडियो के साथ यूजर ने लिखा है– ये है पोर्श कार हिट एंड रन मामले का आरोपी वेदांत अग्रवाल इसको जमानत मिलने के बाद इसने रैप सॉन्ग बनाया। शास्त्रों में इसी को सिस्टम को चिढाना कहते हैं।

फेसबुकआर्काइव

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पड़ताल की शुरुआत में हमने वायरल वीडियो के बारे में जानने के लिए अलग अलग की-वर्ड का इस्तमाल किया। परिणाम में हमें वायरल वीडियो से जुड़ी एक पोस्ट मिली। एक फेसबुक (आर्काइव) यूजर ने पोस्ट को 23 मई 2024 को शेयर करते हुए मराठी में जानकारी दी गई है कि यह वीडियो इंस्टाग्राम इन्फ्लुएंसर आर्यन ऊर्फ लाइब्रानाइट एक्स क्रिंगिस्तान  का है।

मिली जानकारी की मदद लेते हुए आगे की जांच करने पर हमें लाइब्रानाइट एक्स क्रिंगिस्तान (Libranite X Cringistaan) के अकाउंट् मिला।  अकाउंट् को खंगालना शुरू किया। । इंस्टाग्राम पर यूजर ने अपना नाम आर्यन लिखा हुआ है। जानकारी के अनुसार ये लड़का दिल्ली का रहने वाला है और रैप करता है। रैप कर रहे लड़के की शक्ल और इंस्टा अकाउंट पर दिख रही लड़के की तस्वीर काफी ज्यादा मिलती है। निम्न में विश्लेषण देखें। 

आर्यन ने वायरल दावे का खंडन करते हुए एक पोस्ट डाला है। जिसमें उन्होंने बताया हुआ है कि यह वीडियो उनका है और वो पुणे के हिट एंड रन केस के नाबालिग आरोपी नहीं हैं।

 पोस्ट को शेयर करते हुए आर्यान ने लिखा है-  मुझ पर इंटरनेट पर दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया है। हर कोई ऐसा करता है, एक चेतावनी काफी होगी, मैं पुणे साइबर स्टेशन से मामला वापस लेने का अनुरोध करता हूं। मुझे और मेरे परिवार को जीने दो, मैं सिर्फ एक कंटेंट क्रिएटर हूं। 

वहीं फ्री प्रेस जर्नल  में 23 मई 2024 को प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, क्राइम ब्रांच के एसीपी सुनील तांबे ने कहा कि पोर्शे एक्सीडेंट में शामिल नाबालिग लड़के के नाम पर वायरल हो रहा वीडियो उसका नहीं है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो फर्जी है। निम्न में खबर देखें। 

बता दें कि इस मामले में पुलिस ने  नाबालिग आरोपी के दादा सुरेंद्र अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले कोर्ट ने मुख्य आरोपी विशाल अग्रवाल को 14 न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। 

वहीं रिपोर्ट के अनुसार, नाबालिग आरोपी को 5 जून को बाल सुधार केंद्र भेज दिया गया था ।  इस दावे की पुष्टि मराठी न्यूज आउटलेट साकाल द्वारा शेयर किए गए आरोपी की मां के एक वीडियो में भी की गई थी, जिसमें उन्होंने स्पष्ट किया था कि वायरल रैप वीडियो उनके बेटे ने नहीं बनाया है।

निष्कर्ष-

तथ्य-जांच के बाद हमने पाया कि, रैप वीडियो में नज़र आ रहा लड़का पुणे कार हादसे का 17 साल का आरोपी नहीं है। वायरल वीडियो दिल्ली में रहने वाले आर्यन का है। 

Avatar

Title:रैप वीडियो में नज़र आ रहा लड़का पुणे कार हादसे का आरोपी नहीं है, दावा फर्जी….

Fact Check By: Sarita Samal 

Result: False

Leave a Reply