क्या मेहनताने के भुगतान की मांग करने पर पुलिसकर्मी ने इस रिक्शावाले को पीटा?

False National
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२० नवंबर २०१९ को “VAN News” नामक फेसबुक पेज ने एक वीडियो पोस्ट किया, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “पुलिस वाला गरीब को मारता रहा और कुछ हिजड़े पास खड़े हो कर देखते रहे इसका कसूर बस इतना था कि इसने पुलिस वाले से किराया मांग लिया Reporter Rajeev mehta |”

कई सोशल मीडिया उपयोगकर्ता इस वीडियो को साझा कर रहे हैं, जहाँ वर्दी में एक पुलिसकर्मी को ई-रिक्शा चालक की पिटाई करते हुए देखा जा सकता है | इस वीडियो को साझा करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह पुलिसकर्मी इस रिक्शा वालें को इस वजह से पीट रहे है क्योंकि रिक्शावाले ने पुलिस वाले को रिक्शे का किराया भुगतान करने के लिए कहा |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव वीडियो 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुआत हमने इस वीडियो को इन्विड टूल का इस्तेमाल करते हुए यांडेक्स रिवर्स इमेज सर्च किया, जिसके परिणाम में हमें २८ अगस्त २०१८ को NEWS18 द्वारा प्रकाशित खबर मिली जिसके अनुसार यह घटना बिहार में नवादा नामक एक शहर से है | खबर में इसी वीडियो को संग्लित करते हुए लिखा गया है कि यह घटना बिहार के नवादा शहर के कलाली रोड की है | पुलिसकर्मी ने ई-रिक्शा चलाने वाले को एक तरफा सड़क पर घुसने के लिए गालियां दीं और मारपीट की, न कि इस वजह से कि उसने पुलिस वाले से अपने मेहनताने के भुगतान करने को कहा |

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि ई-रिक्शा चालक एकतरफा रस्ते में गलत दिशा से जा रहा था और पुलिसकर्मी के रोकने पर उसने अपने वाहन को मोड़ने की कोशिश की जिसके चलते गलती से, ई-रिक्शा का एक पहिया पुलिसकर्मी के पैर पर लग गया और बाद में पुलिसकर्मी आग बबूला हो गया | पुलिसकर्मी ने चालक की बेरहमी से पीटा और उसके साथ दुर्व्यवहार किया | यह वीडियो २०१८ में भी काफी वायरल हुआ था | 

इस रिपोर्ट के अनुसार नवादा के एस.पी हरी प्रसाद ने वीडियो में देखे गये पुलिसकर्मी जिनका नाम विश्वजीत है को निलंबित कर दिया था | 

इसके पश्चात हमें उत्तर प्रदेश फैक्ट चेक के अधिकारिक ट्विटर अकाउंट द्वारा किया गया ट्वीट मिला | इस वीडियो का उल्लेख करते हुए ट्वीट में लिखा गया है कि “उक्त वीडियो में दिखाई जा रही घटना वर्ष 2018 की है जो नवादा, बिहार से संबंधित है |” साथ ही न्यूज़१८ द्वारा प्रकाशित खबर भी संग्लित की गई  है | 

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | इस वीडियो में पुलिसकर्मी इ-रिक्शावाले को रिक्शा एक तरफ़ा रस्ते में गलत दिशा से लाने व रिक्शे का पहिया उसके पैर पर चढाने की वजह से पीट रहा है | वीडियो में दिखाए गये पुलिसकर्मी को विभागीय कार्यवाही के चलते नवादा के एस.पी द्वारा निलंबित कर दिया गया था |  

Avatar

Title:क्या मेहनताने के भुगतान की मांग करने पर पुलिसकर्मी ने इस रिक्शावाले को पीटा?

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply