किसानों को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह की पुरानी क्लिप को वर्तमान किसान आंदोलन से जोड़कर फैलाया जा रहा है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर वर्तमान में चल रहे किसान आंदोलनों को लेकर कई अफवाएं फैलाई जा रही है | कई पुराने व असंबंधित तस्वीरों और वीडियों को सोशल मीडिया पर किसान आंदोलनों से जोड़कर फैलाया जा रहा है | फैक्ट क्रेसेंडो ने पूर्व में भी ऐसे कई भ्रामक पोस्ट का फैक्ट चेक कर हमारे पाठकों के सामने सच्चाई पहुंचाई है | वर्तमान में राजनाथ सिंह की एक छोटी क्लिप सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ वायरल हो रही है कि यह रक्षा मंत्री का ये वीडियो हालिया है जिसमें वे दिल्ली में किसानों को संबोधित करते हुए नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे है |

वीडियो में राजनाथ सिंह को यह कहते हुए सुना जाता है कि वे आंदोलनरत किसानों के साथ राजनीतिक संबद्धता के बावजूद खड़े होंगे, और वे किसानों की स्थिति को न समझने के लिए प्रधानमंत्री की आलोचना भी करते हैं |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि 

“राजनाथ सिंह की ये वीडियो नरेंद्र मोदी और भाजपा पर भारी पड़ने वाली है! #BharatBandh मैं भी इस आंदोलन का समर्थन करता हूँ और इसमें सभी विपक्ष के नेताओं को शामिल होकर किसानों का साथ दें, इस समय राजनीति नही साथ देना चाहिये। #WeSupport8DecBharatBand जय जवान जय किसान |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसन्धान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रैसेन्डो ने पाया कि राजनाथ सिंह का ये वीडियो 2013 का है जब यूपीए शासन के दौरान दिल्ली के जंतर मंतर पर उन्होंने तत्कालीन किसान प्रदर्शन को संबोधित किया था।

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को यूट्यूब पर कीवर्ड के माध्यम से ढूँढने से की, जिसके परिणाम से हमें भाजपा के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर वायरल वीडियो का लम्बा वर्शन मिला | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “श्री राजनाथ सिंह एड्रेसिंग फार्मर्स स्टेजिंग धरना इन जंतर मंतर, नई दिल्ली: २० मार्च २०१३ |” यह वीडियो ८ मिनट ४० सेकंड का है | इस वीडियो को राजनाथ सिंह की आधिकारिक वेबसाइट पर भी उपरोक्त शीर्षक के कैप्शन के साथ अपलोड किया गया था |

तद्पश्चात हमने गूगल पर कीवर्डस के माध्यम से २०१३ में राजनाथ सिंह द्वारा दिए गये भाषण से सम्बंधित खबर को ढूँढा | द हिन्दू द्वारा प्रकाशित खबर के अनुसार किसानों की न्यूनतम आय की गारंटी देने के लिए एक कमीशन सहित कई मांगों को लेकर भारत भर से हजारों किसान राजधानी पहुंचे थे | 

आर्काइव लिंक 

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त वीडियो के साथ वायरल हो रहे दावों को गलत पाया है | मूल रूप से वायरल वीडियो २०१३ से है जब भाजपा विपक्ष में थी और राजनाथ सिंह ने उस वक़्त दिल्ली के जंतर मंतर पर हो रहे किसान प्रदर्शन को संबोधित किया था | इस वीडियो का वर्तमान में चल रहे किसान आंदोलनों और भारत बंद के साथ कोई संबंध नही है |

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किसान आंदोलनों से सम्बंधित अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. २०१३ की लंदन में ली गई एक तस्वीर को वर्तमान किसान आंदोलन का बता फैलाया जा रहा है |

२. 2019 में हुये वर्ल्ड कप के दौरान पाकिस्तान और खालिस्तान के लिए लगे नारों के वीडियो को वर्तमान किसान आंदोलन का बता वायरल किया जा रहा है।

३. अमेरिका में २०१८ को हुए प्रो-खालिस्तान रैली का वीडियो वर्तमान भारत में हो रहे किसान आंदोलनों का बता वायरल किया जा रहा है|

Avatar

Title:किसानों को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह की पुरानी क्लिप को वर्तमान किसान आंदोलन से जोड़कर फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •