ज्योतिरादित्य सिंधिया के दो वर्ष पुराने वीडियो को वर्तमान में हुये केंद्रीय मंत्रालय फेरबदल से जोड़ वायरल किया जा रहा है।

False Political

हालही में हुये केंद्रीय मंत्रालय के फेरबदल के चलते सोशल मंचों पर कई गलत व भ्रामक खबरें साझा की जी रही है। फैक्ट क्रेसेंडो ने ऐसी खबरों का अनुसंधान कर उनकी प्रमाणिता अपने पाठकों तक पहुंचाई है। इसी से सम्बन्धित एक वीडियो इंटरनेट पर काफी तेज़ी से वायरल होता दिख रहा है, उस वीडियो में आप भा.ज.पा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को भाषण देते हुये देख सकते है। इस भाषण को सुनते ही आपको पता चलेगा कि सिंधिया मोदी सरकार पर तंज कस रहें हैं व उनकी निंदा कर रहे हैं।

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है, 

मंत्री बनते ही सिंधिया ने मोदी शाह को उखाड़ फेंका विद्रोह पर उतारू हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया।”

फेसबुक | आर्काइव लिंक

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चला कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहा वीडियो वर्ष 2019 का है जब ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस के नेता थे व वे लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस नेता राज बब्बर के लिये प्रचार करने उत्तर प्रदेश गये थे। वर्तमान में ज्योतिरादित्य सिंधिया भा.ज.पा के नेता है व इस वीडियो का वर्तमान से कोई सम्बन्ध नहीं है।

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे वीडियो को देख यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च किया, परिणाम में हमें यही वीडियो 15 अप्रैल 2019 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर प्रसारित किया हुआ मिला। इस वीडियो के शीर्षक में लिखा है, “उत्तर प्रदेश के फतेहपुर सीकरी में जनसभा को संबोधित करते ज्योतिरादित्य सिंधिया।“

वायरल हो रहे वीडियो में ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा कहीं गयी बातों को आप मूल वीडियो में 2.10 से लेकर 3.43 मिनट तक देख सकते है।

आर्काइव लिंक

इसके बाद हमने अधिक जानकारी पाने के लिये गूगल पर इस सम्बन्ध में और जाँच की, नतीजतन हमें दैनिक जागरण द्वारा 15 अप्रैल 2019 को प्रकाशित किया हुआ एक लेख मिला। लेख के मुताबिक वायरल हो रहा वीडियो तब का है जब वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश के फतेहपुर सीकरी में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी तथा ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस नेता राज बब्बर के लिये प्रचार करने गये थे।

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। यह वीडियो वर्ष 2019 का है जब ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस के नेता थे व वे लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस नेता राज बब्बर के लिये प्रचार करने गये थे। वर्तमान में ज्योतिरादित्य सिंधिया भा.ज.पा के नेता है व इस वीडियो का वर्तमान से कोई सम्बन्ध नहीं है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. ज़ी न्यूज़ द्वारा २०१७ म्यांमार सामूहिक हत्याओं पर की गई एक पुरानी रिपोर्ट को पश्चिम बंगाल में रोहिंग्या मुसलमानों द्वारा हिन्दुओं की हत्याओं का बता फैलाया जा रहा है|

२. क्या मेनका गांधी और वरुण गांधी को कैबिनेट मंत्रालय न मिलने पर वे भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुये? जानिये सच…

३. नाटक में अभिनय के अंतर्गत एक लड़की द्वारा दुकानदार के साथ की गयी बद्तमीजी के वीडियो को CCTV फुटेज का बताया जा रहा है।

Avatar

Title:ज्योतिरादित्य सिंधिया के दो वर्ष पुराने वीडियो को वर्तमान में हुये केंद्रीय मंत्रालय फेरबदल से जोड़ वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False