इंटरनेट पर संघीय सरकार द्वारा प्रदान किये जाने वाले कोविड-19 रिलीफ फंड के लिये आवेदन हेतु दिया गया लिंक फर्जी है।

Coronavirus False
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इन दिनों इंटरनेट पर एक मैसेज काफी तेज़ी से वायरल हो रहा है, उस मैसेज में एक वेबसाइट का लिंक संग्लित है और मैसेज के मुतबिक उसमें दिये गये लिंक पर क्लिक करने से कोविड-19 रिलीफ फंड के लिये आवेदन कर सकते है। 

वायरल हो रहे मैसेज में लिखा है, 

संघीय सरकार द्वारा प्रदान किए गए कोविड-19 राहत कोष के लिए आवेदन करें। जल्दी करें, आवेदन करने में कुछ सेकंड लगते हैं। इस अवसर को न चूकें। यहां आवेदन करें, https://bit.ly/COVID-19_SUPPORT_FUND.”

फेसबुक | आर्काइव लिंक

इस मैसेज को इंटरनेट पर काफी तेज़ी से साझा किया जा रहा है व सोशल मंच उपभोक्ता इस मैसेज की प्रमाणिकता पर संशय कर कई सवाल उठा रहे हैं।

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहा मैसेज फेक है, व एक क्लिक बैट है जो कि लोगों की निजी जानकारी जमा करता है। 

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे मैसेज में दिये गये लिंक पर क्लिक कर के की, लिंक पर क्लिक करने के बाद एक पेज खुला जहाँ हमें लिखा हुआ दिखा ग्लोबल रिलिफ इनिशियेटिव फॉर द कोविड-19 पैंडेमिक, इसके नीचे हमें कुछ सवाल दिखे जिनके हमें जवाब देने थे।

उसके बाद एक डायलोग बोक्स आया जो हमें उपरोक्त मैसेज को वॉट्सऐप पर शेयर करने की सलाह दे रहा था व उसमें ऐसा लिखा है कि वॉट्सऐप पर शेयर करने पर ही सहायता राशि प्राप्त होगी।

इसको देख कर हमें इस मैसेज पर संदेह हुआ, इसलिये हमने एस.एन.एफ संस्था के आधिकारिक वैबसाइट को खंगाला तो वहाँ हमने पाया कि,  “कोविड-19 द्वारा दुनिया भर में उत्पन्न गंभीर और अभूतपूर्व चुनौतियों का जवाब देते हुए, Stavros Niarchos Foundation (SNF) द्वारा $ 100 मिलियन की वैश्विक पहल का उद्देश्य महामारी के प्रभावों को दूर करने में मदद करना है।

पहल के हिस्से के रूप में दिए गए अनुदान अनुसंधान, भोजन और अन्य आवश्यकताओं तक पहुंच, शिक्षा, विशेष रूप से प्रभावित आबादी के लिए मानसिक स्वास्थ्य सहायता, कलाकारों के लिए आपातकालीन राहत, फ्रंटलाइन कर्मचारियों के लिए समर्थन, और बहुत कुछ पर ध्यान केंद्रित करते हैं। वे मौजूदा अनुदान-साझेदारों, पहली बार अनुदान पाने वाले संगठनों, सहयोगी आपातकालीन निधियों और सीधे ग्रीस के अस्पताल के कोरोना से लड़ रहे कर्मचारियों के लिए हैं।“

आर्काइव लिंक

तदनंतर फैक्ट क्रेसेंडो ने ट्वीटर के माध्यम से एस.एन.एफ संस्था से संपर्क किया व उनसे वायरल हो रहे मैसेज की पुष्टि की, “उन्होंने हमें बताया कि वायरल हो रही खबर सरासर गलत है। ऐसे किसी भी मैसेज से हमारा कोई सम्बंध नहीं है।

आपको बता दें कि फैक्ट क्रेसेंडो को एस.एन.एफ संस्था द्वारा फेसबुक पर भी यही जवाब मिला है।

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहा मैसेज फर्जी है व दिए हुये लिंक पर क्लिक करने किसी भी राहत अनुदान हेतु आवेदन नहीं होता है। 

Avatar

Title:इंटरनेट पर संघीय सरकार द्वारा प्रदान किये जाने वाले कोविड-19 रिलीफ फंड के लिये आवेदन हेतु दिया गया लिंक फर्जी है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •