बेगुसराय में स्थित बरौनी रिफाइनरी में वर्ष २०१८ में लगी आग के वीडियो को वर्तमान की घटना का बता साझा किया जा रहा है।

Missing Context Social

हालही में बिहार के बेगुसराय में स्थित बरौनी रिफाइनरी में विस्फोट हुआ था। इसको लेकर सोशल मंचों पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। उसमें आप आग लगी हुई देख सकते है। इसके साथ दावा किया जा रहा है कि यह वर्तमान में बरौनी रिफाइनरी में हुये विस्फोट का वीडियो है।

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है, 

बरौनी रिफाइनरी में बहुत बड़ा हादसा हुआ, टैंक फटने से बहुत लोगों के जलने की ख़बर है घायल का इलाज अस्पताल में हो रहा है।“

(शब्दशः)

फेसबुक 

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहा वीडियो वर्ष 2018 का है। उस वक्त भी बिहार के बेगुसराय में स्थित बरौनी रिफाइनरी में आग लगी थी। इस वीडियो का वर्तमान में हुये विस्फोट से कोई संबद्ध नहीं है।

सबसे पहले हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च किया, नतीजतन हमें कई समाचार लेख मिले जो हालही में बरौनी रिफाइनरी में हुये विस्फोट की खबर दे रहे थे। इसके बाद हमने सोशल मंचों पर इस विस्फोट के सन्दर्भ में वायरल हो रहे इस वीडियो को ध्यान से देखा, हमें इसमें एक चिन्ह दिखा जिसमें NEWSCODE लिखा हुआ था। इसके बाद हमने यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च किया व हमें न्यूज़कोड झारखंड नाम का एक चैनल मिला। हमने इस चैनल को खंगाला व हमें यही वीडियो 28 अप्रैल 2018 को प्रसारित किया हुआ मिला। इसके शीर्षक में लिखा है, “बिहार : बरौनी रिफाइनरी में लगी भीषण आग।”शीर्षक के नीचे दी गयी जानकारी में लिखा है, “बिहार : बरौनी रिफाइनरी में लगी भीषण आग, कर्मचारियों की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा।”

आर्काइव लिंक

यही वीडियो पंजाब केसरी बिहार ने भी 29 अप्रैल 2018 को प्रसारित किया था। उसके शीर्षक में लिखा है, “बरौनी रिफाइनरी में लगी भीषण आग, आग पर पाया काबू।”

आर्काइव लिंक

इस हादसे के बारे में अधिक जानने के लिये आप इंडिया टी.वी द्वारा प्रसारित वीडियो भी देख सकते है।

आर्काइव लिंक

इसके बाद हमने बेगुसराय में स्थित रिफाइनरी पुलिस थाने के एस.एच.ओ मोहम्मद आयवली से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि “वायरल हो रहा वीडियो तीन साल पुराने हादसे का है। अभी जो विस्फोट हुआ है उसमें आग नहीं लगी थी। वह एक छोटा हादसा था। इसमें किसी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है परंतु कुछ लोग घायल है।

आपको बता दें कि टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक इस वर्ष 16 सितंबर को बरौनी रिफाइनरी में विस्फोट हो गया था। पंद्रह दिनों से अधिक समय तक बंद रहने के बाद यूनिट को फिर से शुरू करने के दौरान वायुमंडलीय वैक्यूम यूनिट (एवीयू) -1 की भट्टी में विस्फोट हुआ। इसकी वजह से लगभग 19 लोग घायल हुये। उन्हें इलाज के लिये बरौनी रिफाइनरी के अस्पताल व पास के एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था।

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किये गये दावे को संदर्भ से बाहर पाया है। वीडियो वर्ष 2018 का है। उस वक्त भी बिहार के बेगुसराय में स्थित बरौनी रिफाइनरी में आग लगी थी। इस वीडियो का वर्तमान में हुये विस्फोट से कोई संबद्ध नहीं है।

तालिबान के अफ़ग़ानिस्तान पर कब्ज़े से संबंधित अन्य फैक्ट चेक को आप नीचे पढ़ सकते है|

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. आतंकियों द्वारा हिंसा के दो अलग-अलग पुराने वीडियो को वर्तमान में अफगानिस्तान में हो रहे अत्याचारों का बता वायरल किया जा रहा है।

२. एटा में किसी दलित बच्ची के साथ दुष्कर्म का प्रयास नहीं हुआ है, वायरल पोस्ट फर्जी व मनगढ़ंत हैं|

३. फैक्ट चेक- उर्फी जावेद लेखक जावेद अख्तर की पोती नहीं है|

Avatar

Title:बेगुसराय में स्थित बरौनी रिफाइनरी में वर्ष २०१८ में लगी आग के वीडियो को वर्तमान की घटना का बता साझा किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: Missing Context

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •