२०१३ की एक पुरानी तस्वीर को कश्मीर में वर्तमान स्थिति के नाम से फैलाया जा रहा है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

३ सितम्बर २०१९ को “Taysal Khan” नामक एक फेसबुक यूजर ने एक तस्वीर पोस्ट की थी , जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “देख लो कश्मीर में कितनी #शान्ति है #SaveKashmiri | इस तस्वीर में हम कश्मीरी पुलिस को रास्ते से खून साफ़ करते हुए देख सकते है | इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर साझा करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह तस्वीर कश्मीर की वर्तमान स्थिति को दर्शाती है | फैक्ट चेक किये जाने तक इस तस्वीर को १२० प्रतिक्रियाएं मिल चुकी थी | 

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

यह तस्वीर ट्विटर पर भी उपलब्ध है,जिसके माध्यम से दावा किया गया है कि भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद ३७० के प्रमुख प्रावधानों को रद्द कर दिये जाने के पश्चात यह कश्मीर की स्थिति को दर्शाता है |

आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुआत हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, परिणाम से हमें १४ अक्टूबर २०१३ को इंडियन एक्सप्रेस द्वारा प्रकाशित खबर मिली | इस खबर के शीर्षक में लिखा गया है कि “CISF जवान श्रीनगर में एक आतंकवादी हमले में शहीद हो गए” | 

आर्काइव लिंक 

इसके पश्चात हमें यह तस्वीर इंडियन एक्सप्रेस के आर्काइव में भी उपलब्ध मिला | इस तस्वीर के शीर्षक में लिखा गया है कि “पुलिस ने कहा कि इकबाल पार्क के पास हमला सुबह १०:२५ बजे हुआ जब CISF के दो जवान पार्क के पास व्यस्त बाजार में खरीदारी कर रहे थे | घटनास्थल पर खून के धब्बे धोते पुलिस कर्मी |” साथ ही लिखा गया है कि यह तस्वीर पीटीआई द्वारा खिची गयी है |

आर्काइव लिंक 

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | वह तस्वीर पुरानी है, यह सितंबर २०१३ श्रीनगर में हुए आतंकी हमले से सम्बंधित है|

Avatar

Title:२०१३ की एक पुरानी तस्वीर को कश्मीर में वर्तमान स्थिति के नाम से फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •