के.ई.एम अस्पताल के डॉ. कोठारी के नाम पर गलत दावा फैलाया जा रहा है |

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

११ अगस्त २०१९ को “Health Mantra” नामक एक फेसबुक यूजर ने एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “ये मुम्बई की K.E.M हॉस्पिटल के भूत पूर्व डीन डॉ कोठारी है।इनको सुने ये अद्भुत प्रयोग करे |” हम वीडियो में आहार और जीवन शैली में परिवर्तन के माध्यम से शरीर में कैल्शियम के स्तर को कैसे बढ़ा सकते हैं, इस विषय पर मार्गदर्शन करते हुए एक डॉक्टर को देख सकते हैं | इस वीडियो को सोशल मीडिया पर तेजी से साझा करते हुए दावा किया जा रहा है कि वीडियो में दिखाए गये डॉक्टर मुंबई के किंग एडवर्ड मेमोरियल हॉस्पिटल के पूर्व डीन डॉ. कोठारी है | फैक्ट चेक किये जाने तक यह वीडियो ४६५०० प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चूका था, साथ ही इस वीडियो को १५ लाख से ज्यादा व्यूज मिल चुके हैं|

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुआत हमने इस वीडियो को इनविड टूल का इस्तेमाल करते हुए छोटे की-फ्रेम्स में तोडा व गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया, जिसके परिणाम से हमें १७ जुलाई २०१६ को circ life द्वारा अपलोड किया गया  वीडियो मिला | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “केवल प्राकृतिक चिकित्सा द्वारा आहार के साथ जादुई इलाज- डॉ. पंकज धाबी |” 

वीडियो में दर्शाए गये व्यक्ति गुजरात में एक प्राकृतिक चिकित्सक पंकज धाबी हैं | उनके प्राकृतिक चिकित्सा क्लिनिक का नाम निसर्ग क्लिनिक है जो वड़ोदरा में स्थित है | Fact Crescendo ने उनके बेटे गुंजन धाबी से संपर्क किया, उन्होंने बताया कि “वीडियो में व्यक्ति मेरे पिता डॉ. पंकज धाबी हैं | यह ब्रह्मा कुमारी केंद्र में एक कार्यक्रम में बोलते हुए कुछ साल पहले का वीडियो है | उनका वीडियो KEM हॉस्पिटल एक डॉक्टर कोठारी के नाम पर फैलाया जा रहा हैं |” साथ ही उन्होंने हमें यह भी बताया कि डॉ. पंकज धाबी का २०१८ में निधन हो गया है |

डॉ. धाबी १९८७ तक प्राइवेट जॉब कर रहे थे | लेकिन बाद में उन्होंने एक जुनून के रूप में प्राकृतिक चिकित्सा का अभ्यास करना शुरू कर दिया | उन्होंने २००२ में राष्ट्रीय गांधी अकादमी से प्राकृतिक चिकित्सा और योग में डिप्लोमा प्राप्त किया | उनके बारे में अधिक जानकारी के लिए यहाँ पढ़ें |

केईएम अस्पताल मुंबई का एक प्रसिद्ध सरकारी अस्पताल है | अस्पताल की वेबसाइट पर खोज करने के बाद पता चला कि, डॉ. हेमंत देशमुख वर्तमान में हॉस्पिटल के डीन हैं |

इसके पश्चात हमने डॉक्टर मनु कोठारी के बारें में जानकारी प्राप्त की | डॉ. कोठारी का जन्म १९ नवंबर १९३५ को हुआ था | उन्होंने केईएम में चिकित्सा शिक्षा प्राप्त की, जहां वह १९६३ में एनाटॉमी विभाग में शामिल हुए | लगभग तीस वर्षों की सेवा के बाद वह १९९३ में सेवानिवृत्त हुए | उन्होंने The Other Face of Cancer, Living Dying: A New Perspective on the Phenomena of Life, Disease and Death जैसी कुछ किताबें लिखीं है | केईएम् हॉस्पिटल के मेडिकल ह्यूमैनिटीज विभाग का नाम डॉ. मनु कोठारी के नाम पर रखा गया है और डॉ. मनु वी. एल. कोठारी चेयर ऑफ़ मेडिकल ह्यूमैनिटीज  कहा जाता है | उनके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए यहाँ पढ़ें |

डॉ. कोठारी इनका १६ अक्टूबर २०१४ को निधन हो गया | उन्होंने २०१३ में TEDMED के कार्यक्रम में व्याख्यान दिया था | आप इसे नीचे देख सकते हैं |

डॉक्टर मनु कोठारी और डॉक्टर पंकज धाबी के तस्वीरों की तुलना नीचे दी गयी है, जिससे हम स्पष्ट हो सकते है की यह दोनों व्यक्ति अलग-अलग है | 

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | केईएम के डॉ. कोठारी के नाम पर प्रसारित किया जा रहा वीडियो गलत है | यह वीडियो गुजरात के एक प्राकृतिक चिकित्सक पंकज धाबी का है | यह कुछ साल पहले ब्रह्मकुमारी केंद्र के एक कार्यक्रम का वीडियो है | इसके अलावा डॉ. मनु कोठारी के.ई.एम के डीन नहीं थे, वह एनाटॉमी विभाग के प्रमुख थे |

Avatar

Title:के.ई.एम अस्पताल के डॉ. कोठारी के नाम पर गलत दावा फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •