क्या पश्चिम बंगाल में योगी आदित्यनाथ की रैली में भीड़ जुटाने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं ने पैसे बांटे?

False Politics
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने २ मार्च २०२१ को पश्चिम बंगाल के मालदा में चुनावी रैली की थी, उनकी इसी रैली को लेकर सोशल मीडिया पर एक वीडियो को फैलाते हुए दावा किया जा रहा है कि पश्चिम बंगाल में योगी आदित्यनाथ की रैली में भीड़ जुटाने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा आमजन को पैसे बाँटें गये है | वीडियो में हम मोटरसाईकिलों पर कुछ लोगों को कतारबद्ध होकर निकलते हुये देख सकते हैं, और इन लोगों  को वहां मौजूद कुछ आदमी एक लिफाफा देते नजर आ रहे हैं | वीडियो में हम कुछ लोगों को भाजपा का झंडा पकड़ें हुए खड़े देख सकते है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि

“पश्चिम बंगाल में योगी की रैली में भीड़ जुटाने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं ने देर रात बाटें पैसे असली चेहरा भाजपा का बंगाल की जनता देख रही है!! बंगाल में भाजपा का सूपड़ा साफ होगा |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्टक्रेसेंडो ने पाया कि यह वीडियो २०१९ का झारखण्ड के धनबाद में भाजपा की एक रैली से है, इसका मौजूदा पश्चिम बंगाल चुनावों या फिर हाल ही में हुई योगी आदित्यनाथ की रैली से कोई सम्बन्ध नहीं है|

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को बारीकी से देखने से की, जिसके परिणाम से हमें लोगों की शर्ट पर “अबकी बार 65 पार” लिखा नजर आया | इस नारे को गूगल पर ढूँढने से पता चला कि २०१९ में हुए झारखंड विधानसभा चुनाव के दौरान ये नारा भाजपा द्वारा दिया गया था | 

झारखण्ड चुनाव २०१९ से सम्बंधित कुछ कीवर्ड्स सर्च करने पर हमें सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो “न्यूज़विंग” नामक एक यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध मिला, ये वीडियो १७ अक्टूबर २०१९ को अपलोड किया गया था | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि #Dhanbad​: CM Raghubar Das की सभा में भीड़ जुटाने के लिए बांटे गये दो-दो सौ रुपये, वीडियो वायरल |” 

इस वीडियो को १९ अक्टूबर २०१९ को रांची लाइव नामक एक फेसबुक पेज पर भी अपलोड किया गया है | इस वीडियो के शीर्षक में  लिखा गया है कि सीएम रघुवर दास की सभा में भीड़ जुटाने के लिए लोगो को दो दो सौ रूपये बांटने का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है | वीडियो झारखंड के धनबाद के सिंदरी या गोविंदपुर विधानसभा का बताया जा रहा है |

आर्काइव लिंक

न्यूज़विंग द्वारा १७ अक्टूबर २०१९ को प्रकाशित खबर के अनुसार कुछ लोगों ने उनकी टीम को यह जानकारी दी थी कि उन्हें इस रैली में शामिल होने के लिए लोगों को दो सौ रुपये दिए गए हैं | 

तद्पश्चात फैक्ट क्रेसेंडो ने न्यूज़विंग के रिपोर्टर सच्चि‍दानंद से संपर्क किया जिन्होंने हमें बताया कि  “सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो बंगाल से नहीं बल्कि झारखण्ड से है | वीडियो रैली खत्म होने के बाद का था,  जब इस रैली में शामिल हुए लोगों को कथित रूप से पैसे दिए थे | यह वीडियो यूट्यूब पर २०१९ से उपलब्ध है जिसका मतलब साफ़ है कि वायरल वीडियो बंगाल में योगी आदित्यनाथ की रैली से नही है |” 

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात् हमने उपरोक्त वीडियो के साथ हो रहे दावे को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो बंगाल में योगी आदित्यनाथ की रैली से नहीं है बल्कि २०१९ का झारखण्ड के धनबाद में भाजपा की रैली से सम्बंधित है |

Avatar

Title:क्या पश्चिम बंगाल में योगी आदित्यनाथ की रैली में भीड़ जुटाने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं ने पैसे बांटे?

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •