कर्नाटका स्थित श्री योगलक्ष्मी नरसिम्हा स्वामी मंदिर प्रांगण में बंदर द्वारा मंदिर में घंटी बजाने के वीडियो को अयोध्या में निर्माणाधीन राम मंदिर से जोड़ फैलाया जा रहा है |

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर अयोध्या व वहां बन रहे श्री राम मंदिर को लेकर अकसर इन्टरनेट पर तरह-तरह के पोस्ट डाले जाते हैं, इन पोस्टों में किये दावों में कभी अयोध्या जी में बन रहे नए रेल स्टेशन, यहाँ के मंदिरों या फिर यहाँ स्थित मस्जिदों से सम्बंधित ख़बरें फैलाई जाती रही है जिनकी सत्यता फैक्ट क्रेसेंडो ने हर बार अपने पाठकों तक पहुंचाई है | इसी क्रम में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल होता दिख रहा है, जिसमें कुछ बंदरों को एक खम्भे पर बैठे देखा जा सकता है और उस खम्भे में बंधे घंटों को आपने हाथों के हिलाते व बजाते हुये दिखाया गया है |  इस वीडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि यह दृश्य अयोध्या राम मंदिर का है जहाँ हर सुबह इस तरह से बंदरों को घंटी बजाते हुए देखा जा सकता है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि 

अयोध्या राम मंदिर का खूबसूरत नजारा..श्री राम जी की आरती के समय ये बानर कैसे घंटियां बजाता हैं देखिए..राम भक्त हनुमान जी के दर्शन |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने पाया है कि वायरल वीडियो में दिखाए गये अद्भुत दृश्य कर्नाटक स्थित श्री योग लक्ष्मी नरसिम्हा स्वामी मंदिर से है |

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड वी वेरीफाई टूल की मदद से गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने के किया, जिसके परिणाम से हमें ये वीडियो १४ जनवरी २०१९ को यूट्यूब पर अपलोड किया हुआ मिला | यूट्यूब पर वंडर वीडियो नामक एक चैनल ने इस वीडियो को साझा करते हुए लिखा गया है कि “मंदिर में बंदरों को घंटा बजाते हुए देखा जा रहा है |” इस वीडियो के शीर्षक या विवरण में इस वीडियो की लोकेशन के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है | इस वीडियो के विवरण में लिखा गया है कि ‘मंदिर में बंदरों को मंदिर की घंटी बजाने का अद्भुत दृश्य ने भक्तों को चौंका दिया क्योंकि बंदरों को हनुमान जी का रूप माना जाता है’ |

आगे इस वीडियो के नीचे दिए गये कमेंट को पढ़ने पर हमें एक व्यूअर (अदिगा मंजुनाथ) द्वारा दिया गया कमेंट नज़र आया | इस कमेंट में उन्होंने लिखा है कि यह वीडियो कर्नाटका से है | आगे उन्होंने स्पष्ट करते हुए लिखा है कि यह वीडियो कर्नाटका के देवारयानादुर्गा नरसिम्हा स्वामी मंदिर से है |

इस कमेंट से संकेत लेते हुए हमने गूगल पर एक कीवर्ड सर्च किया जिसके परिणाम से हमने पाया कि कर्नाटका में वास्तव में श्री योग लक्ष्मी देवारयानादुर्गा नरसिम्हा स्वामी मंदिर स्थित है |

आगे हमने इस मंदिर की तस्वीरों को गूगल मैप्स पर ढूँढा जिसके परिणाम से हमें कर्नाटका स्थित श्री योग लक्ष्मी देवारयानादुर्गा नरसिम्हा स्वामी मंदिर के स्ट्रीट व्यू वाले तस्वीरें मिलीं | इन तस्वीरों में हमें वह स्तम्भ नज़र आया जिसपर कई घंटियाँ लटकाई गयी है और जिनपर बंदरों को बैठे हुए दिखाया गया था |

Google Maps

नीचे आप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही वीडियो और गूगल मैप्स पर उपलब्ध तस्वीरों के स्क्रीनशॉट का तुलनात्मक विश्लेषण देख सकते है | इससे यह स्पष्ट है कि वायरल वीडियो कर्नाटका स्थित श्री योग लक्ष्मी देवारयानादुर्गा नरसिम्हा स्वामी मंदिर से है ना कि अयोध्या के श्री राम मंदिर से  |

आगे फैक्ट क्रेसेंडो ने श्री योग लक्ष्मी देवारयानादुर्गा नरसिम्हा स्वामी मंदिर के एडमिनिस्ट्रेशन ऑफिस में संपर्क साधा जहाँ से हमें बताया गया है कि “सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो योग लक्ष्मी नरसिम्हा स्वामी मंदिर का है | इस क्षेत्र में कई बंदर घूमते रहते है और यह नज़ारा अकसर देखने को मिलता है |” 

जाँच में आगे बढ़ते हुए हमने अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के ट्विटर अकाउंट को खंगाला जिसके परिणाम से हमें श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट द्वारा अपलोड की गई तस्वीरें मिली | ५ अगस्त २०२१ को किये गये ट्वीट में लिखा गया है कि “श्री राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण कार्य तीव्र गति से चल रहा है। शीघ्र ही प्रभु रामचन्द्र जी का भव्य मंदिर निर्माण संपन्न होगा और हम सभी भक्तों को उनके दर्शन प्राप्त करने का सौभाग्य मिलेगा। प्रभु का आशीर्वाद आप सभी पर सदा बना रहे। जय श्री राम! |”

आर्काइव लिंक

इससे यह स्पष्ट है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो कर्नाटका से है ना कि अयोध्या स्थित श्री राम मंदिर से क्योंकि अयोध्या जी में वर्तमान में श्री राम मंदिर के भव्य मंदिर का निर्माण कार्य तीव्र गति से चल रह है व इस निर्माण को संपन्न होने में अभी कुछ और समय लगेगा|


निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने वायरल हो रहे वीडियो के माध्यम से किये गये दावे को गलत पाया है | वीडियो कर्नाटका स्थित श्री योगलक्ष्मी नरसिम्हा स्वामी मंदिर से है जिसे सोशल मीडिया पर अयोध्या के श्री राम मंदिर में देखे गए अद्भुत दृश्य के नाम से फैलाया जा रहा है | 


फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. महिलाओं द्वारा फिल्म डायरेक्टर की पीटाई के वीडियो को भा.ज.पा से जोड़ गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

२. मेक्सिको में मगरमच्छ के महिला पर हमला करने के वीडियो को भारत का बताकर फैलाया जा रहा है |

३. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा राम मंदिर पर किया कथित विवादित ट्वीट का स्क्रीनशॉट ट्वीट फर्ज़ी है।

Avatar

Title:कर्नाटका स्थित श्री योगलक्ष्मी नरसिम्हा स्वामी मंदिर प्रांगण में बंदर द्वारा मंदिर में घंटी बजाने के वीडियो को अयोध्या में निर्माणाधीन राम मंदिर से जोड़ फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •