बैंगलोर में हुई एक पुरानी रैली के विडियो को वर्तमान में कश्मीरीयों द्वारा “भारत माता की जय” के नारे लगाने का वीडीयो बता फैलाया जा रहा है |

False National
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

९ अगस्त २०१९ को संस्कारित भारत बुलंद भारत फेसबुक यूजर ने एक विडियो पोस्ट किया, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “जम्मू और कश्मीर: एक खूबसूरत दृश्य। भरत माता की जय” | इस विडियो में मुस्लिम समुदाय के लोगों के एक समूह को “भारत माता की जय” के नारें लगाते हुए गलियों में रैली निकालते हुए देख सकते है | सोशल मीडिया पर इस को साझा करते हुए यह दावा किया जा रहा है कि यह मार्च कश्मीर में निकाला गया है | ५ अगस्त २०१९ को जम्मू एंड कश्मीर से सेक्शन ३७० रद्द कर दी गई थी, जिसके पश्चात सोशल मीडिया पर कई ऐसे विडियो साझा किये जा रहे हैं, इस विडियो को देखकर ऐसा प्रतीत होता है की यह विडियो इसी जश्न का एक हस्सा है |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव विडियो 

संशोधन से पता चलता है कि…

जांच की शुरुआत हमने इस विडियो को इनविड टूल का इस्तेमाल करते हुए छोटे कीफ्रेम्स में तोडा व मैग्निफाईयर से देखा तो हमने पाया कि विडियो के १३ सेकंड में हमें एक बिल्डिंग का नाम दिखाई देता है, बिल्डिंग के ऊपर “BURHANI FLORA” लिखा गया है |

इसके पश्चात हमने “BURHANI FLORA” इस शब्द को गूगल पर ढूँढा तो पाया की यह बिल्डिंग कर्नाटक के बैंगलोर में स्थित है | इससे हमें पता चलता है की यह विडियो बैंगलोर का है | 

इनविड टूल द्वारा दिये गये कीफ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने पर परिणाम से हमें getlink द्वारा प्रकाशित एक विडियो मिला, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “बैंगलोर में बन्नेरघट्टा रोड इलाके के पास बोहरा मुसलमानों ने शहीद सीआरपीएफ जवानों की याद में रैली निकली” | इस विडियो को यूट्यूब पर २६ फरवरी २०१९ को अपलोड किया गया था | इस विडियो में भारत समर्थक नारों के अलावा लोगों को “शहीद जवान अमर रहे” कहते हुए भी सुना जा सकता है, इससे हमें यह पता चलता है कि वास्तव में यह रैली बैंगलोर में शहीद सैनिकों के समर्थन में निकाली गई थी |

आर्काइव लिंक 

हमें २२ फरवरी २०१९ को सुब्बा राव द्वारा किया गया एक ट्वीट मिला जिसमे इस विडियो को साझा करते हुए लिखा गया है कि “बेंगलुरु में बन्नेरघट्टा रोड इलाके के पास बोहरा मुस्लिमों ने शहीद सीआरपीएफ जवानों की याद में रैली निकाली | वंदे मातरम, जय हिंद !” 

आर्काइव लिंक

यह भी स्पष्ट रहे कि ऐतिहात के चलते घाटी में CRPC की धारा १५५ लगायी गयी है, ANI ने एक ट्वीट के हवाले से ये ख़बर दी थी कि ५ अगस्त २०१९ की आधी रात से ही श्रीनगर में धारा १४४ लागू दी गयी है, जिसकी वजह से वहां ऐसे किसी भी रैली की संभावना नहीं है | धारा १४४ लागू करने का अर्थ है कि किसी क्षेत्र में चार या अधिक लोगों की सभा को प्रतिबंधित करने का आदेश जारी करना | 

आर्काइव लिंक 

निष्कर्ष: तथ्यों के जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया, यह विडियो बैंगलोर का है जब बोहरा मुसलमान समुदाय के लोगों ने पुलवामा हमले के पश्चात शहीद जवानो के समर्थन में नारे लगाते हुए रैली निकाली थी | इस विडियो को गलत तरीके में कश्मीर के नाम से फैलाया जा रहा है |

Avatar

Title:बैंगलोर में हुई एक पुरानी रैली के विडियो को वर्तमान में कश्मीरीयों द्वारा “भारत माता की जय” के नारे लगाने का वीडीयो बता फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •