रुस में हुये एक मुस्लिम महिला पर हमले को वर्तमान फ्रांस में हुये आतंकी घटनाओं की प्रतिक्रिया बता वायरल किया जा रहा है।

Communal False
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कुछ दिनों पहले फ्रांस में एक मुस्लिम छात्र द्वारा उसकी अध्यापिका की हत्या व तद्पश्चात फ्रांस के राष्ट्रपति की टिप्पणी को लेकर फ्रांस के साथ- साथ दुनिया के अन्य कई देशों में मुस्लिम समुदाय विरोध कर रहे है, वहीं कई लोग फ्रांस के राष्ट्रपति की “फ्री स्पीच” को लेकर दी गई इस टिप्पणी की तरफदारी भी कर रहे है। इस पूरे मामले को लेकर सोशल मंचो पर कई गलत व भ्रामक खबरें आये दिन देखने को मिल रहीं हैं। फैक्ट क्रेसेंडो ने इस प्रकरण में कई ऐसे फेक वीडियो व तस्वीरों का अनुसंधान कर लोगों तक सच्चाई पहुँचायी है।

फ्रांस को लेकर एक ऐसा ही वीडियो इंटरनेट पर काफी चर्चा में है। \वीडियो में आपको एक हिजाब पहनी हुई महिला अपने बच्चों के साथ रास्ते पर चलते हुई नज़र आएगी और उसी दौरान उनके पीछे एक आदमी चलते हुए दिखेगा और फिर अचानक से वो महिला पर अपने पैर से हमला करता नज़र आता है। वीडियो के साथ जो दावा वायरल हो रहा है उसके मुताबिक वीडियो में दिख रही घटना फ्रांस की है और पिछले दिनों फ्रांस में हुआ हमला जिसको दुनिया में लोगों ने आतंकी हमला करार किया है, यह उसका बदला है।

वीडियो के शीर्षक में लिखा है, “आतंकी हमले के पश्चात् फ्रांस मे लोगों का रिएक्शन। आपको कैसा लगा ???”

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Russia woman Attack5.png

फेसबुक | आर्काइव लिंक

इस वीडियो को सोशल मंचों पर काफी तेजी से साझा किया जा रहा है।

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Russia woman Attack4.png

अनुसंधान से पता चलता है कि…


फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहे वीडियो में घट रही घटना इस वर्ष जुलाई की है, यह घटना रूस में स्थित रीपब्लिक ऑफ तातारस्तान से है। इस घटना का फ्रांस से कोई संबन्ध नहीं है। 

जाँच की शुरुवात हमने इनवीड वेरीफाई टूल के माध्यम से वीडियो को छोटे कीफ्रेम्स में काट कर गूगल रीवर्स इमेज सर्च के ज़रिये की, जिसके परिणाम में हमें इंटरनेट पर सी.जे. वर्लेमैन नामक उपभोक्ता द्वारा ८ जुलाई २०२० को किया गया एक ट्वीट मिला जिसमें उन्होंने लिखा है कि,

 “रीब्लिक ऑफ तातारस्तान के निज़नेकमस्क शहर में एक मुस्लिम माँ पर अपने बच्चों के सामने बेरहमी से हमला हुआ।“

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Russia woman Attack2.png

आर्काइव लिंक

उपरोक्त ट्वीट को अगर आप गौर से पढ़ेंगे तो वहाँ शीर्षक के बाद डी.ओ.ए.एम लिखा है तो हमने इसे ध्यान में रखकर कीवर्ड सर्च से आगे की जाँच की तो हमें डॉक्यूमेंटिंग ऑपरेशन अगेन्स्ट मुस्लिमस् (डी.ओ.ए.एम) संस्था का एक ट्वीट मिला जिसमें उन्होंने वायरल हो रहे इसी वीडियो को पोस्ट करते हुए जानकारी दी कि, 

रीब्लिक ऑफ तातारस्तान के निज़नेकमस्क शहर में एक आदमी ने मुस्लिम माँ पर उसके बच्चों के सामने बेरहमी से हमला किया। इस महिला के अलावा उसने शहर के सार्वजनिक पार्क में पाँच अन्य महिलाओं पर भी हमला किया जिनमें से एक महिला गर्भवती थी। इन हमलों के पश्चात पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। जब उस आदमी से उसकी इस करतूत का मकसद पूछा गया तो उसने कहा कि महिलाओं के लिए उसकी नफरत की वजह से उसने ऐसा किया।“

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Russia woman Attack.png

आर्काइव लिंक

उपरोक्त ट्वीट के साथ दूसरे ट्वीट में डी.ओ.ए.एम ने एक समाचार लेख भी उपलब्त कराया है।

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Russia woman Attack1.png

आर्काइव लिंक

उपरोक्त ट्वीट में टी.आर.टी टी.वी का समचार लेख पोस्ट किया गाय है। उस लेख में पूरी घटना की जानकारी देते हुए लिखा है कि, निज्नेकमस्क शहर के सेंट्रर पार्क में एक 34 वर्षीय आदमी ने कुछ महिलाओं पर हमला किया जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस लेख में इस घटना की कुछ तस्वीरें भी प्रकाशित की गयी है।

C:\Users\Lenovo\Desktop\FC\Russia woman Attack3.png

आर्काइव लिंक

स्लेडकॉम.रूआर्काइव लिंक
यौम7 .कॉंमआर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया है कि उपरोक्त दावा गलत है। वायरल हो रहे वीडियो में घट रही घटना इस वर्ष जुलाई की है। यह घटना रूस में स्थित रीपब्लिक ऑफ तातारस्तान से है। इस घटना का फ्रांस से या फिर किसी आतंकी हमले के बदले की प्रतिक्रिया से कोई संबद्ध नहीं है। 

Avatar

Title:रुस में हुये एक मुस्लिम महिला पर हमले को वर्तमान फ्रांस में हुये आतंकी घटनाओं की प्रतिक्रिया बता वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •