ब्राजील में हुये आपसी विवाद के एक वीडियो को फ्रांस में मुस्लिम व्यक्ति पर हमले के रूप में फैलाया जा रहा है|

False International
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पैगंबर मोहम्मद के एक स्केच को लेकर फ्रांस में हुई एक शिक्षक की हत्या व तदनंतर फ्रांस के राष्ट्रपति की “फ्री स्पीच” की टिप्पणी के पश्चात फ्रांस के साथ साथ कई अन्य देशों में मुस्लिम समुदाय द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है, इन प्रदर्शनों के चलते सोशल मीडिया पर फ्रांस से संबंधित कई गलत तस्वीरें और वीडियो फैलाये जा रहें है, फैक्ट क्रेसेंडो ने पूर्व में भी इस प्रकरण से सम्बंधित कई फेक वीडियो व तस्वीरों का अनुसंधान कर लोगों तक सच्चाई पहुँचायी है, इसी श्रृंखला में सोशल मीडिया पर वर्तमान में एक सी.सी.टी.वी फुटेज के वीडियो को साझा करते हुए दावा किया जा रहा है की वीडियो में दो फ्रांसीसी नागरिक एक मुसलमान व्यक्ति पर हमला करते हुए दिख रहे है | वायरल वीडियो में काली स्लीवलेस बनियान में दो दिख रहे दो पुरुषों के साथ ग्रे हुड स्वेटशर्ट में एक आदमी को देखा जा सकता है। इनके बीच हुये विवाद के बाद, ग्रे हूडि में दिख रहा आदमी अन्य दो पुरुषों को पछाड़ देता है, जिससे वे फर्श पर गिर जाते है | वीडियो के माध्यम से कहा जा रहा है कि पहले हमला करने वाले व्यक्ति फ़्रांस के नागरिक है और जिस पर हमला किया गया है वो व्यक्ति मुस्लमान धर्म से है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि 

#फ्रांस न्यूज़ | दो फ्रेंच ने फ्रांस में एक मुसलमान पर हमला किया यह सोच कर कि अकेला है कुछ नहीं कर पाएगा लेकिन मुसलमान ने कैसे हो ठुकाई की वीडियो देखिए_ मालूम हुआ कि मुसलमान को हज़रत मोहम्मद सल्लल्लाहु अलेही वसल्लम कि नामूस और इस्लाम की खा़तिर सिर्फ़ चिंगारी की ज़रूरत होती है #Boycott_French_Products |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

यह वीडियो फेसबुक पर काफी तेजी से फैलाया जा रहा है | 

अनुसन्धान से पता चलता है कि…

वीडियो फ्रांस का नहीं है बल्कि एक आपसी लड़ाई का है जो 12 अक्टूबर 2020 को ब्राजील के एक रेस्तरां में हुई थी |

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड वी वेरीफाई टूल की मदद से गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम से हमें ब्राज़ील से कई न्यूज़ रिपोर्ट मिले जिसके अनुसार यह वीडियो १२ अक्टूबर, २०२० को ब्राजील के मिनस गेरैस राज्य के मध्य क्षेत्र में ओरो ब्रांको नामक एक रेस्तरां में हुई घटना का है |

आर्काइव लिंक

इन न्यूज़ रिपोर्ट्स में दी गई जानकारी से सम्बंधित कीवर्ड्स को यूट्यूब पर सर्च करने से हमें वायरल वीडियो का लंबा वर्शन मिला | इस वीडियो को UOL नामक एक आधिकारिक यूट्यूब चैनल द्वारा प्रसारित किया गया है जिसके शीर्षक व विवरण के अनुसार यह वीडियो ब्राजील के मिनस गेरैस राज्य से है |

G1 नामक एक न्यूज़ रिपोर्ट जिसे २३ अक्तूबर को प्रकाशित किया गया था, के अनुसार रेस्टोरेंट में सुरक्षा कैमरों ने एक मोटरसाइकिल कोरियर मैन जिसने ग्रे स्वेटशर्ट पहनी हुई थी को रिकॉर्ड किया था, इस व्यक्ति ने वीडियो में राफेल जूनियर दा कोस्टा विएरा जो कि एक स्थानीय अपराधी है व एक अन्य व्यक्ति जिसने काले रंग की स्लीवलेस टॉप पहनी हुई थी पर आपसी बहस के बाद हाथापाई की थी। क्लिप में, चैन जगह में प्रवेश करता है और मोटरसाइकिल कूरियर मैन के साथ बहस करता है जिसके बाद उसके बीच मारपीट होती है |

G1 द्वारा २७ अक्टूबर को प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार इस मामले के जांच अधिकारी, मार्सेलो फोंसेका प्राडो के हवाले से कहा गया है कि राफेल से शहर में सब डरते है | अधिकारी के अनुसार, वह लड़ाई की रात नशे के अवस्था में था |

अधिकारी ने आगे कहा कि सीसीटीवी फुटेज में राफेल और उसके दोस्त को राफेल की प्रेमिका से दूर रहने के लिए कूरियर लड़के को चेतावनी देते हुए दिखाया गया है। पुलिस ने यह भी कहा कि कूरियर बॉय ने राफेल को पहले से जानने से इनकार कर दिया और कहा कि वह पहले से शादीशुदा है |

आर्काइव लिंक | आर्काइव लिंक 

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सी.सी.टी.वी फुटेज १२ अक्टूबर से है, जिससे यहे स्पष्ट है की यह घटना १६ अक्टूबर को पेरिस में शिक्षक के साथ हुए घटना के सन्दर्भ में नहीं हो सकती है | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो ब्राज़ील से है | वीडियो १२ अक्टूबर,२०२० को ब्राजील के एक रेस्तरां से है।

Avatar

Title:ब्राजील में हुये आपसी विवाद के एक वीडियो को फ्रांस में मुस्लिम व्यक्ति पर हमले के रूप में फैलाया जा रहा है|

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •