इस तस्वीर में कथित तौर पर मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी के जाली हस्ताक्षर किये गए है |

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२२ जुलाई २०१९ को Ramakrishnan Iyengar नामक एक फेसबुक यूजर ने एक तस्वीर पोस्ट की, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “कर्नाटका के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने मीडिया को दिया अपना त्याग पत्र | कर्नाटका के लोगों के लिए छुटकारा | विधान सौदा में उनके द्वारा चलाए जा रहे एक अपमानजनक विश्वास मत को खोने में सबसे अवांछनीय सीएम इस्तीफा देते हैं” |

तस्वीर में हम कर्नाटका के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी द्वारा हस्ताक्षरित किये गए इस्तीफा पत्र देख सकते है | कर्नाटका के राज्यपाल, वजुभाई वाला को संबोधित करते हुए कर्नाटका के मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी द्वारा इस्तीफा दस्तावेज लिखित और हस्ताक्षरित किया गया है, और इसे सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से साझा किया जा रहा है | पत्र को कर्नाटका सरकार के आधिकारिक विधायकी लैटर हेड पर प्रिंट किया गया है और इसमें कथित तौर पर कर्नाटका के तत्कालीन मुख्यमंत्री के हस्ताक्षर है, पत्र को ‘कर्नाटका के राज्यपाल महामहिम वजुभाई वाला’ को संबोधित किया गया है | साथ ही इस्तीफा पत्र में लिखा गया है कि “मेरे व्यक्तिगत कारणों के कारण, मैं कर्नाटका  के मुख्यमंत्री के पद से अपना त्याग पत्र दे रहा हूं | कृपया मेरा इस्तीफा स्वीकार करें और २२/०७/२०१९ को मेरे द्वारा नियुक्त कर्नाटका मंत्री की परिषद को राहत दें” | उनके इस इस्तीफे की तस्वीर को सोशल मंचों पर काफ़ी तेजी से फैलाया जा रहा है | 

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव पोस्ट 

संशोधन से पता चलता है कि…

 जब हमने इस खबर को गूगल पर ढूँढा तो परिणाम स्वरुप हमें कई प्रतिशित मीडिया संगठन द्वारा इस विषय पर प्रकाशित ख़बरें मिली, जिनमे स्पष्ट रूप से इस इस्तीफे को फेक बताया गया है | इसके पश्चात हमें एएनआई का ट्वीट मिला जिसमे लिखा गया है कि “कर्नाटका : विधानसभा में सीएम एच.डी. कुमारस्वामी की टेबल पर रखा गया एक पत्र, जो उनका त्याग पत्र है | मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) का कहना है कि पत्र फर्जी है | (वीडियो स्रोत: कर्नाटका  विधानसभा उत्पादन)” | इस ट्वीट के साथ एक विडियो भी संग्लित की गई है जिसमे हम कर्नाटका के मुख्यमंत्री को कन्नड़ भाषा में सोशल मीडिया पर वायरल हो रही यह इस्तीफा पत्र को फर्जी कहते हुए सुन सकते है |

आर्काइव लिंक

पत्र को सोशल मीडिया पर वायरल होते हुए देख कुछ ही मिनटों बाद, कुमारस्वामी ने सदन को संबोधित किया और इस तरह के त्याग पत्र को जारी करने या लिखे जाने से इनकार किया | हमें एएनआई का एक और ट्वीट मिला जिसमे लिखा गया है कि “कर्नाटका के सीएम एच.डी. कुमारस्वामी, विधान सभा में कहा: मुझे जानकारी मिली कि मैंने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है | मुझे नहीं पता कि सीएम बनने का इंतजार कौन कर रहा है | किसी ने मेरे हस्ताक्षर जाली करते हुए  सोशल मीडिया पर उसी का प्रसार किया है | मैं प्रचार के सस्ते स्तर पर हैरान हूं” |

आर्काइव लिंक

२२ जुलाई २०१९ को द न्यूज़ मिनट द्वारा प्रकाशित खबर के अनुसार सीएम ने देर रात सदन में हुये डिबेट के दौरान स्पीकर को सूचित करते हुए कहा “वे जिस तरह की राजनीति कर रहे हैं, उसे देखिए | उन्होंने एक फर्जी त्याग पत्र बनाया है और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया इसे दिखा रहा है | यह सोशल मीडिया पर उपलब्ध है ” | 

आर्काइव लिंक 

कई मीडिया संगठनों ने इस खबर को प्रकाशित करते हुए लिखा है कि कुमारस्वामी ने स्पीकर को एक ’फर्जी इस्तीफा पत्र दिखाया और उन्हें बताया कि सोशल मीडिया में यह पत्र काफ़ी चर्चा में है | साथ ही सीएम ने कहा कि राज्यपाल को संबोधित पत्र को प्रसारित किया जा रहा था जब वह विधान सभा में खुद मौजूद थे” | नीचे सारी खबरों की लिंक दी गयी है |

न्यूज़ 18 आर्काइव लिंक 
क्विंट आर्काइव लिंक 
इंटरनेशनल बिज़नस टाइम्स आर्काइव लिंक 
इंडिया टुडे आर्काइव लिंक 

निष्कर्ष: तथ्यों के जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | कर्नाटका  के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने उनके इस्तीफा पत्र को फर्जी बताया और कहा कि उनके हस्ताक्षर जाली थे |

Avatar

Title:इस तस्वीर में कथित तौर पर मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी के जाली हस्ताक्षर किये गए है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •