राजनाथ सिंह के एक पुराने वीडियो को वर्तमान का नए कृषि कानूनों के विरोध का बता फैलाया जा रहा है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

वर्तमान में दिल्ली की राज्य सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलनों के चलते सोशल मंचों पर कई भ्रामक वीडियो साझा किये जा रहे है। ऐसे कई वीडियो और तस्वीरों का सत्यापन आपको फैक्ट क्रेसेंडो की वैबसाइट पर भी देखने को मिलेंगे | कृषि कानूनों व किसानों के संबद्ध में केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को लेकर एक वीडियो सोशल मंचों पर चर्चा का विषय बना हुआ है, वीडियो में हम रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को किसानों के समर्थन में अपना बयान देते हुए सुन सकते है | इस वीडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि राजनाथ सिंह भाजपा नेता होने के बावजूद किसान बिल जो की २०२० में पारित किया गया है, का विरोध करते हुए किसानों का समर्थन कर रहे है | 

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि 

राजनाथ सिंह उतरे कृषि बिलो के विरोध में किसानों के सम्मान में |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्टक्रेसेंडो द्वारा शोध में पाया गया कि वायरल वीडियो ६ अक्टूबर २०१५ से है, जब राजनाथ सिंह किसान नेता महेंद्र सिंह टिकैत की जयंती पर समल्लित हुये थे |

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड वी वेरीफाई टूल की मदद से वीडियो को छोटे कीफ्रेम में तोड़कर व गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम से यह वीडियो ६ अक्टूबर २०१५ को भाजपा के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध मिला | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “६ अक्टूबर २०१५ को श्री राजनाथ सिंह ने मावलंकर हॉल में महेंद्र सिंह टिकैत की जयंती के एक समारोह के अवसर पर संबोधित किया”| सोशल मंचों पर वायरल हो रही क्लिप को हम मूल वीडियो में ५ मिनट ४५ सेकंड के टाइम स्टैम्प से देख सकते है | मूल वीडियो में हम राजनाथ सिंह को स्वर्गीय चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत के सम्बन्ध में बात करते हुए सुन सकते है | वीडियो में कहीं भी उनके द्वारा किसान बिल के बारे में कोई बात नहीं कही गयी थी |

महेंद्र सिंह टिकैत भारत के एक प्रसिद्ध किसान प्रमुख थे जिन्होंने किसानों के अधिकारों के लिए कई आंदोलनों को अंजाम दिया था, जो प्रमुख रूप से उत्तरी भारत में थे | महेंद्र सिंह टिकैत का जन्म ६ अक्टूबर १९३५ को हुआ था व उनकी मृत्यु १५ मई २०११ को हुई थी | किसान बिल  भारतीय सरकार द्वारा २०२० में पारित किया गया है | इसीलिए यह कहना कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के किसान बिल के विरोध व किसानों के समर्थन में कहा गया है सरासर गलत है | वीडियो में वे किसानों के समर्थन में बात ज़रूर कर रहे है परन्तु इसका वर्तमान में किसानों व कृषि कानूनों से कोई सम्बन्ध नहीं है | वायरल वीडियो लगभग ६ साल पुराना है |

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने वायरल वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है| वीडियो में, राजनाथ सिंह किसानों से एकजुट होने का आग्रह करते हैं, लेकिन वीडियो का कृषि बिल से कोई लेना-देना नहीं है | वीडियो ६ अक्टूबर २०१५ से है जब वे किसान नेता महेंद्र सिंह टिकैत की जयंती पर सम्मिलित हुये थे |

Avatar

Title:राजनाथ सिंह के एक पुराने वीडियो को वर्तमान का नए कृषि कानूनों के विरोध का बता फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •