क्या लाडली फाउंडेशन ट्रस्ट ने गरीब परिवार के बेटियों की शादी का पूरा खर्चा उठाने का वादा किया है ? जानिये सच |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१४ मई २०१९ को फेसबुक पर ‘Hindi Jokes’ नामक एक यूजर द्वारा एक पोस्ट साझा किया गया है | पोस्ट में एक चित्र दिया गया है | पोस्ट का विवरण इस प्रकार है – ऐसे परिवार जो अपनी बेटी की शादी का खर्च उठाने में असमर्थ हैं वे अपनी मर्ज़ी से अपनी बेटी का रिश्ता तय करने के बाद नीचे दिए नंबर पर संपर्क करें | शादी का पूरा खर्च लाड़ली फाउंडेशन द्वारा किया जायेगा व हर लाड़ली बेटी को नया जीवन शुरू करने के लिए संस्था की तरफ से 1 लाख रुपये मूल्य का घरेलु सामान उपहार स्वरुप दिया जायेगा |

लाड़ली फाउंडेशन 9871727415, 9873182468, 9717231663, 7726022070 इस | मैसेज को अधिक से अधिक शेयर करें ताकि किसी ज़रूरतमंद की मदद हो सके | आप सबसे निवेदन है की चुटकुले भेजने की बजाय यह सन्देश सबको भेजे ताकि लोग जान सके |

इस पोस्ट द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि जिन परिवार मे आर्थिक क्षमता नहीं है अपनी बेटी की शादी कराने का, लाडली फाउंडेशन द्वारा ऐसे शादियों का पूरा खर्चा उठाया जायेगा और शादी के बाद संस्था की तरफ से 1 लाख रुपये मूल्य का घरेलु सामान उपहार स्वरुप दिया जायेगा | क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:  

ARCHIVED POST

संशोधन से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले इस मे दिए नंबरों पर कॉल करने की कोशिश की तो हमें यह नंबर इनवैलिड होने का टोन सुनाई दिया |

जब हम कोई भी नंबर में संपर्क नहीं साध पाए तो हमने गूगल मे ‘ladli foundation trust’ की वर्ड्स से ढूंढा, तो हमें जो परिणाम मिले वह आप नीचे देख सकते है |

लाडली फाउंडेशन के फेसबुक पेज पर हमें किये गए पोस्ट्स में से कई नंबर मिले, मगर एक ही नंबर से संपर्क हो सका | हमारी बात ‘तान्या चड्ढा – प्रमुख समन्वयक – लाडली फाउंडेशन ट्रस्ट’ से हुई | जब हमने उनसे उपरोक्त दावे के बारे मे पुछा तो उन्होंने कहा कि,

“Firstly, we conduct only mass weddings. We do not sponsor individual weddings. In weddings, we provide them gifts to start their new life. We are also trying to give them some health insurance, so that when the girl gets married and enters a new home and she falls sick; she should not hear the common taunts that she has brought ill health with her and can take care of her medical expenses. There is a myth that we are fighting against by providing them health insurance and gifts to start a new life, but we do not give any cash or anything else. The girls that we help get married through mass weddings belong to very poor sector of the country. Either they sell themselves or their parents sell them off for money, if they do not get married. For their society, marriage is the only issue and because of this issue, their life is becoming hell day-by-day.

So far, we have got approximately 1700 beneficiaries married in around 10 mass marriages. Our foundation runs a self-contributed cause and we have not taken a single rupee donation from any donor or any government body.”

सरल हिंदी मे भाषांतरण इस प्रकार है, “सबसे पहले, हम केवल सामूहिक विवाह आयोजित करते हैं | हम व्यक्तिगत शादियों को प्रायोजित नहीं करते हैं | शादियों में, हम उन्हें अपना नया जीवन शुरू करने के लिए उपहार प्रदान करते हैं | हम उन्हें कुछ स्वास्थ्य बीमा देने की कोशिश कर रहे हैं, ताकि जब लड़की की शादी हो जाए और एक नए घर में प्रवेश करे और वह बीमार पड़ जाए; उसे आम ताने नहीं सुनने चाहिए कि वह अपने साथ बीमार स्वास्थ्य लेकर आई है और अपने चिकित्सा खर्चों का ध्यान रख सकती है | हम उन्हें एक नया जीवन शुरू करने के लिए स्वास्थ्य बीमा और नए संसार के लिए उपहार प्रदान करके समाज से लड़ रहे हैं, लेकिन हम कोई नकद या कुछ और नहीं देते हैं | सामूहिक विवाह के माध्यम से जिन लड़कियों की हम शादी करने में मदद करते हैं, वे देश के बहुत गरीब क्षेत्र की हैं | या तो वे खुद को बेच देते हैं या उनके माता-पिता उन्हें पैसे के लिए बेच देते हैं, अगर उनकी शादी नहीं होती हैं | उनके समाज के लिए, विवाह एकमात्र मुद्दा है और इस मुद्दे के कारण, उनका जीवन दिन-प्रतिदिन नरक बन रहा है |

अब तक हम लगभग 10 सामूहिक विवाह में तकरीबन 1700 लाभार्थी विवाह करवा चुके हैं | हमारी नींव एक स्व-योगदान करती है और हमने किसी भी दाता या किसी सरकारी संस्था से एक रुपये का दान नहीं लिया है |”

तान्या के साथ हुई इस बातचीत से यह स्पष्ट होता है कि उपरोक्त पोस्ट के अनुसार लाडली फाउंडेशन सिर्फ़ समाज के पिछड़े और गरीब क्षेत्र के लड़कियों के विवाह के लिए सामूहिक विवाह का आयोजन करती है |

फिर हमने उपरोक्त पोस्ट मे दर्शाए गए पोस्ट करने वाले का नाम ‘Akash BJP’ को फेसबुक मे ढूंढा, तो हमें उपरोक्त पोस्ट का असली साझा किया गया पोस्ट मिला |

यह पोस्ट ३० मार्च २०१७ को की गयी थी, जिसके साथ पोस्ट करने वाले ने ‘comments’ मे लिखा भी है कि “आप सभी को सूचित कर्ता हूँ की ये योजना पिछले साल की है | अब आप इसका लाभ नहीं उठा सकतें है | अतह आप इसका अन्यथा न लें | धन्यवाद |”

इस बात की पुष्टि करने के लिए हमने गूगल मे “samuhik vivah 2016 ladli foundation” की वर्ड्स से ढूंढा, तो हमें जो परिणाम मिले वह आप नीचे देख सकते है |

फेसबुक के पहले लिंक को क्लिक करते ही हम लाडली फाउंडेशन द्वारा दी गयी 3 दिसम्बर २०१५ की एक पोस्ट मे पहुंचे जिसमे उपरोक्त दावे को ख़ारिज करते हुए लाडली फाउंडेशन के अध्यक्ष ने लिखा है –

“लाड़ली फाउंडेशन से सम्बंधित सन्देश के बारे में सभी को सूचित करना चाहता हूँ कि किसी WhatsApp ग्रुप द्वारा हमारे सन्देश को गलत Edit करके पूरे देश भर में लाखों की संख्या में भेजा गया है जिसके कारण हमें देश भर से भारी मात्रा में कॉल प्राप्त हो रहे है जोकि सभी कॉल का जवाब देना संभव नहीं हो पा रहा है ।इसलिए उन नम्बरो को बंद कर दिया गया है। तथा हजारो की संख्या में देश भर से लोग कॉल करके परेशान हो रहे हैं।

आपको बताना चाहता हूँ की लाड़ली फाउंडेशन द्वारा 29 नवम्बर 2015 को दिल्ली के छत्तरपुर मंदिर मैदान में 51 असमर्थ कन्याओं का सामूहिक विवाह आयोजित किया जा चुका है ।जिसमे हिन्दू।मुस्लिम व अन्य सभी धर्मो की गरीब कन्याओं का विवाह बड़े ही धूमधाम से कराया गया है। जिसमे प्रत्येक बेटी को लगभग घर का पूरा सामान उपहार स्वरुप दिया गया।

लाड़ली फाउंडेशन सिर्फ अपने सामूहिक विवाह कार्यक्रम में गरीब बेटियों को घरेलु सामान व अन्य मदद करती है इसके अलावा कोई और मदद नहीं करती।

संस्था के अगले कार्यक्रम की सूचना संस्था के फेसबुक पर पोस्ट कर दी जायेगी। सभी से निवेदन है की लाड़ली संस्था से सम्बंधित किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए संस्था के फेसबुक पेज पर जुड़ सकते हैं।

देवेन्द्र गुप्ता
राष्ट्रीय युवा पुरस्कार धारक 
अध्यक्ष, लाड़ली फाउंडेशन
9871727415, 9873182468

इस सन्देश को पिछले सन्देश की तरह अधिक से अधिक शेयर करके ताकि जरूरतमंद गरीब लोगों को सही व पूरी जानकारी मिल सके और वो कॉल करके परेशान न हों । पुनः अपना स्नेह प्रदान करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगो को सही जानकारी मिल सके ।

लाड़ली फाउंडेशन द्वारा किये गए कार्यो को जानने व फोटो और वीडियो देखने के लिए निचे दिए लिंक पर क्लिक करके लाड़ली फाउंडेशन के फेसबुक पेज को देखे व लिखे करें।

https://m.facebook.com/Laadlifoundation

Archived Link

इन संशोधन से हमें पता चलता है कि, उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा २०१५ का था और २०१७ मे की गयी यह पोस्ट उस बात को ख़ारिज करती है | यह पोस्ट २०१९ मे सिर्फ़ भ्रम पैदा करने के लिए साझा की जा रही है |

जांच का परिणाम : इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में किया गया दावा की, “जिन परिवार मे आर्थिक क्षमता नहीं है अपनी बेटी की शादी कराने का, लाडली फाउंडेशन द्वारा ऐसे शादियों का पूरा खर्चा उठाया जायेगा और शादी के बाद संस्था की तरफ से 1 लाख रुपये मूल्य का घरेलु सामान उपहार स्वरुप दिया जायेगा | ग़लत है | उपरोक्त पोस्ट मे दर्शाया गया चित्र व उसमे किया गया दावा २९ नवम्बर २०१५ को दिल्ली के छत्तरपुर मंदिर मैदान में ५१ असमर्थ कन्याओं के सामूहिक विवाह के उपलक्ष मे भ्रम पैदा करने के लिए साझा किया गया था और इस पोस्ट का २०१९ मे कोई संबंध नहीं है |

Avatar

Title:क्या लाडली फाउंडेशन ट्रस्ट ने गरीब परिवार के बेटियों की शादी का पूरा खर्चा उठाने का वादा किया है ? जानिये सच |

Fact Check By: Nita Rao 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •