क्या प्रियंका गांधी ने वोडका के चार पेग लगाकर अपनी ही पार्टी के महिला कार्यकर्ता को कोहनी मारी ?

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२९ अप्रैल २०१९ को फेसबुक पर ‘Sukesh Shetty’ नामक यूजर ने एक पोस्ट साझा किया है | पोस्ट में एक विडियो दिया गया है | विडियो में दिखता है कि, प्रियंका गांधी लोगों की भीड़ से घिरी हुई है और काफी गुस्से में है | उन्हें भीड़ से बाहर निकालने का प्रयास हो रहा है | बाहर निकलते हुए प्रियंका गुस्से से किसी को कोहनी से धक्का मारती है | पोस्ट के विवरण में अंग्रेजी में जो लिखा है उसका सरल हिंदी भाषांतरण इस प्रकार है – ब्रेकिंग न्यूज़, वोडका के चार पेग लगाने के बाद प्रियंका वाड्रा बिलकुल ही आपे से बाहर हो गई, वह अपनी ही पार्टी के महिलाओं को (मैं) मार रही है । वाह रे कांग्रेस |

अंग्रेजी में विवरण इस प्रकार है –

Breaking News

*Priyanka Vadra* after 4 shots of *Vodka🥂* totally sloshed 
She is hitting her own party woman(me)
Wah re Congress😡

But No News Cover

So plz share it behalf of me

Regards
Rubina Malik
(Ex Congress Representative)

इस पोस्ट द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि प्रियंका गांधी ने शराब पीकर अपनी ही पार्टी की महिला को कोहनी से मारा | क्या सच में ऐसा कुछ हुआ था? आइये जानते है इस विडियो तथा पोस्ट के दावे की सच्चाई |

ARCHIVE POST

संशोधन से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले इस विडियो को वाच फ्रेम बाय फ्रेम में देखा तो पाया कि यह विडियो रात्रि के समय किये गए किसी आन्दोलन का है | कोई कार्यकर्ता एक बैनर पकडे हुए है, जिसपर लिखा है कि, बंद करो अत्याचार | इस आधार पर हमने priyanka gandhi participating in protest at night against harassment इन की वर्ड्स के साथ गूगल पर सर्च किया तो हमें जो परिणाम मिले, वह आप नीचे देख सकते है |

इस परिणाम से हमें कुछ विडियो के लिंक मिले | १३ अप्रैल को India Today द्वारा अपलोड विडियो आप नीचे देख सकते है |

https://www.indiatoday.in/india/video/midnight-candlelight-march-priyanka-gandhi-gets-furious-at-unruly-crowd-1211141-2018-04-13

ARCHIVE VIDEO

इस खबर में कहा गया है कि, कठुआ व उन्नाव बलात्कार प्रकरण का विरोध करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा दिल्ली के इंडिया गेट पर आधी रात को एक कैंडल मार्च का आयोजन किया गया था | इस मार्च में प्रियंका गांधी अपने बच्चों समेत शामिल हुई थी | इस दौरान अपने नेता के बगल में खड़े होने की होड़ में पार्टी कार्यकर्ताओं ने धक्कामुक्की करना शुरू कर दिया | सब तरफ अफरातफरी मच गई | नौबत यहाँ तक आ गई कि, प्रियंका और उनके बच्चों को वहां से निकलना तक मुश्किल हो गया | तब कुछ कार्यकर्ताओं ने उनको भीड़ से बाहर निकलने में मदद की | इस घटना से प्रियंका काफी गुस्से में आ गई, तथा कार्यकर्ताओं से कहा कि, धक्कामुक्की करनी हो तो यहाँ से निकल जाए |

इसके बाद हमें ANI का एक ट्वीट मिला, जो आप नीचे देख सकते है |

ARCHIVE TWEET

इस ट्वीट में भी प्रियंका का विडियो दिया है, जिसमे वह कार्यकर्ताओं से यह कहती है कि, जिसको धक्का मारना है यहाँ से चले जाए |

इसके अलावा हमें हिंदुस्तान टाइम्स की एक खबर भी मिली, जिसमे लिखा गया है कि, कार्यकर्ताओं द्वारा धक्कामुक्की किये जाने के बाद प्रियंका गांधी गुस्से में आ गई थी और उन्होंने कड़े शब्दों में लोगों से कहा था कि, धक्कामुक्की करनी है तो घर निकल जाए |

ARCHIVE HT

इसके बाद हमें फाइनेंसियल एक्सप्रेस ऑनलाइन द्वारा प्रसारित और एक खबर मिली, जिसमे प्रियंका द्वारा धक्कामुक्की की घटना पर रोष जताने की बात का जिक्र है |

ARCHIVE FE

इस संशोधन से यह पता चलता है कि, उपरोक्त पोस्ट में साझा किया गया विडियो प्रियंका द्वारा कठुआ व उन्नाव बलात्कार प्रकरण का विरोध करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा दिल्ली के इंडिया गेट पर आधी रात को आयोजित कैंडल मार्च में शामिल होने के वक्त का है | इस मार्च में उनको व उनके बच्चों को धक्कामुक्की का सामना करना पड़ा था |

जांच का परिणाम :  इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में किया गया दावा की, “वोडका के चार पेग लगाने के बाद प्रियंका वाड्रा बिलकुल ही आपे से बाहर हो गई, वह अपनी ही पार्टी के महिलाओं को (मैं) मार रही है।” सरासर गलत है | यह वायरल विडियो पिछले साल आधी रात को इंडिया गेट पर आयोजित कैंडल मार्च में हुई धक्कामुक्की का है |

Avatar

Title:क्या प्रियंका गांधी ने वोडका के चार पेग लगाकर अपनी ही पार्टी के महिला कार्यकर्ता को कोहनी मारी ?

Fact Check By: Rajesh Pillewar 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply