२०१८ के अलीगढ़ SSP कार्यालय के बाहर किये विरोध को वर्तमान में मुख्यमंत्री कमलनाथ के घर के बाहर किये विरोध का बताकर फैलाया जा रहा है |

False National Political Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१६ सितम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘Rikesh Kumar Sahu Ricky’ नामक फेसबुक यूजर ने एक वीडियो पोस्ट कर ये दावा किया कि, “भोपाल मुख्यमन्त्री कमल नाथ निवास के बहार धरना दे रहे बेरोज़गार युवकों को मिली सौग़ात !!! आज सुबह सभी बेरोज़गार युवकों को नौकरी का ज्वाइन लेटर हाथो हाथ दिया गया” इस पोस्ट के द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि ‘यह वीडियो वर्तमान में मुख्यमंत्री कमल नाथ के घर के बाहर बेरोजगार युवकों द्वारा किये गये धरने का है |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले InVidTool की मदद से इस वीडीयो का स्क्रीन शॉट लेकर यांडेक्स इमेज सर्च में ढूंढा, तो हमें १४ जून २०१८ को Third Eye Nation नामक एक YouTube यूजर द्वारा अपलोड किया गया वीडियो मिला | यह वीडियो उपरोक्त वीडियो से हुबहू मिलता जुलता है | इस वीडियो के शीर्षक और विवरण में यह बताया गया है कि यह वीडियो अलीगढ़ के SSP के कार्यालय का है | 


इसके बाद हमने इस सन्दर्भ में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए गूगल पर ‘Aligarh police lathicharge volunteers protesting at ssp office’ कीवर्ड्स से ढूंढा, तो हमें TOI की १२ जून २०१८ को प्रकाशित ख़बर मिली | इस ख़बर में उपरोक्त वीडियो से मिलती जुलती तस्वीर भी ख़बर के साथ छापी गयी थी |

ख़बर के अनुसार हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने अलीगढ़ के SSP के कार्यालय के सामने १२ जून २०१८ को विरोध प्रदर्शन किया था | इसके अलावा हमें इस बारे में और भी समाचार वेबसाइट पर यह ख़बर प्रकाशित मिली | इन ख़बरों को पूरा पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें | 

TOIPost | ArchivedLinkIndianexpressPost | ArchivedLinkIndiaPost | ArchivedLink

इसके अलावा हमने वर्तमान में इस दावे के बारे में अलग अलग कीवर्ड्स से ख़बर ढूंढी, मगर मध्यप्रदेश में इस प्रकार के विरोध की कोई भी ख़बर हमें वर्तमान में नहीं मिली |

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि उपरोक्त पोस्ट में साझा वीडियो वर्तमान में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ के निवास गृह के सामने का नहीं है | १२ जून २०१८ को उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में SSP के कार्यालय के सामने हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं द्वारा किये गए विरोध और उनपर पुलिस द्वारा किये गए लाठी चार्ज का है | वर्तमान से व मध्यप्रदेश से इस वीडियो का कोई भी संबंध नहीं है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा ‘यह वीडियो मुख्यमंत्री कमल नाथ के घर के बाहर बेरोजगार युवकों द्वारा किये गए धरने का है |’ ग़लत है |

Avatar

Title:२०१८ के अलीगढ़ SSP कार्यालय के बाहर किये विरोध को वर्तमान में मुख्यमंत्री कमलनाथ के घर के बाहर किये विरोध का बताकर फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •