नासा के अपोलो १६ की थर्मल इमेज, विक्रम लैंडर की थर्मल इमेज के नाम से फैलाई जा रही है |

False National SCIENCE
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

९ सितम्बर २०१९ को फेसबुक के ‘Anand Negi’ नामक एक यूजर द्वारा एक पोस्ट साझा किया गया है जिसमें एक तस्वीर दी है | तस्वीर किसी ग्रह की जमीन की जान पड़ती है |     

पोस्ट के विवरण में लिखा गया है कि, 

मित्रों …. अच्छी और शानदार ख़बर …. चन्द्रयान-२ के लैंडर Vikram का पता चल गया है … वो Lunar surface यानी चन्द्रमा के सतह पर सुरक्षित है … उतरने के निर्धारित जगह से 500 मीटर दूर सुरक्षित लैंड हो गया है ….. Orbitar ने उसका थर्मल Image भेजा है … अभी Ground से Vikram का communication नहीं हुआ है … कोशिश जारी है ….
धैर्य बनाए रखें …. हमने इतिहास रच दिया है ….
रंजय त्रिपाठी
[First THERMAL Image Of #Vikramlander] ॥ॐ॥

इस पोस्ट व्दारा किया यह दावा किया जा रहा है कि, विक्रम लैंडर चन्द्रमा की भूमि पर उतर गया है और चन्द्रमा की परिक्रमा करनेवाले ऑर्बिटर ने विक्रम की थर्मल इमेज इसरो को भेजी है | तो आइये जानते है इस तस्वीर व दावे की सच्चाई |

मूल पोस्ट यहाँ देखें – ‘Anand Negi’ | ARCHIVE POST 

इस दावे जब हमने ट्वीटर पर देखा, तो हमने यह तस्वीर इसी दावे के साथ वायरल होती हुई पायी |

ARCHIVE TWEET

कुछ और ट्वीटर यूजर द्वारा यही तस्वीर ट्वीट की गई है – Arun Tomar, P D Suthar, S M Kalaria

अनुसन्धान से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने साझा तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च किया तो हमें गूगल सर्च परिणाम से NASA की वेबसाइट का एक लिंक मिला | इस लिंक में १८ जून २०१९ को प्रसारित एक लेख है, जो नासा की चन्द्रमा मुहीम का हिस्सा Lunar Reconnaissance Orbiter या LRO के बारे में जानकारी देता है | इस लेख में जो तस्वीर दी गई है, वह हुबहू पोस्ट की साझा तस्वीर से मेल खाती है | कैप्शन में लिखा है कि, यह अपोलो १६ के चन्द्रमा पर लैंड होने की तस्वीर है, जो LRO ने भेजी है |

पूरा लेख यहाँ पढ़ें – NASA | ARCHIVE ARTICLE

दोनों तस्वीरों की तुलना आप नीचे देख सकते है |

‘यांडेक्स’ सर्च परिणाम से हमें ‘यू-ट्यूब’ का एक लिंक मिला | ‘The World On The Palm’ नामक यूजर द्वारा ४ दिसम्बर २०१९ को अपलोड इस वीडियो के विवरण में लिखा है कि, अपोलो १६ के चन्द्रमा की धरती पर उतरने के पश्चात् छूटे निशान इस तस्वीर में दिखाई देते है | यह विडियो आप नीचे देख सकते है |

इसके अलावा ‘TinEye’ सर्च परिणाम से हमें ‘विकिमीडिया’ का एक लिंक मिला | इस लिंक के पेज पर यही तस्वीर है, जिसके विवरण में लिखा है कि, यह तस्वीर चन्द्रमा पर लैंड हुए अपोलो १६ के निशान की है |

पेज यहाँ देखें – ‘विकिमीडिया’ | ARCHIVE PAGE

हमने ट्वीटर और फेसबुक पर इस बात की खोज की, क्या ‘इसरो’ने ऑर्बिटर द्वारा भेजे गए विक्रम लैंडर की थर्मल इमेज जारी की है, तो हमें इस सन्दर्भ में कोई ट्वीट नहीं मिला | लेकिन हमें समाचार संस्था ANI का एक ट्वीट मिला | इस ट्वीट में इसरो प्रमुख के. सीवन द्वारा दी गई जानकारी साझा की गई है | इस ट्वीट के अनुसार, के. सीवन ने यह तो कहा है कि, ऑर्बिटर ने विक्रम लैंडर की थर्मल इमेज खिंची है, लेकिन यह नहीं कहा कि, इसरो को वह तस्वीर मिली है | आप यह ट्वीट नीचे देख सकते है |

ARCHIVE TWEET

हमने ‘इसरो’ की आधिकारिक वेबसाइट पर भी जाकर देखा, लेकिन थर्मल इमेज के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली | अगर यह इमेज इसरो के पास आयी होती, तो जरुर प्रकाशित की जाती | 

इससे यह बात स्पष्ट होती है की, पब्लिक डोमेन में मौजूद जानकारी के अनुसार, यह वायरल तस्वीर ऑर्बिटर द्वारा खिंची गई विक्रम लैंडर की थर्मल इमेज नहीं है, बल्कि नासा के अपोलो १६ यान के लैंडिंग की थर्मल इमेज है |

जांच का परिणाम :  इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में साझा तस्वीर के साथ किया गया दावा कि, “यह ऑर्बिटर द्वारा भेजी गई विक्रम लैंडर की थर्मल तस्वीर है |” सरासर गलत है | यह तस्वीर नासा के अपोलो १६ यान के लैंडिंग की थर्मल इमेज है |

Avatar

Title:नासा के अपोलो १६ की थर्मल इमेज, विक्रम लैंडर की थर्मल इमेज के नाम से फैलाई जा रही है |

Fact Check By: R Pillai 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply