2018 का यह वीडियो भारत का है, पाकिस्तान का नहीं |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

वर्तमान पाकिस्तान में हिन्दुओं पर हो रहे अत्याचारों को लेकर भारतीय मीडिया में काफी ख़बरें छायी हुईं  हैं, सोशल मंचो पर इन अत्याचारों से सम्बंधित ऐसे कई दावे किये जा रहे हैं, ऐसा ही एक वीडियो जिसमे एक व्यक्ति दो महिलाओं को डंडे से मारते हुए दिख रहा है को पाकिस्तान में हिन्दू औरतों पर वर्तमान में हुये अत्याचार का बता साझा किया जा रहा है  | आइये देखते हैं इस वीडियो की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने वाईरल वीडियो को  InVidTool की मदद से की-फ्रेम्स कर यांडेक्स रिव्हर्स इमेज सर्च में ढूँढा परिणामस्वरूप हमें यह वीडियो YouTube पर 22 जुलाई 2018 को अपलोड किया गया मिला ,इसके अलावा पंजाब केसरी की वेबसाइट पर हमें 21 जून 2018 को प्रकाशित एक ख़बर मिली, जिसमे उपरोक्त वीडियो की एक तस्वीर प्रकाशित की गयी थी और इस घटना को जम्मू के रजौरी जिले का बताया गया था | 

पिजाब केसरी आर्काइव 

इस घटना पर अधिक जानकारी ढूँढने पर हमें जम्मू पुलिस मीडिया सेंटरडेली हंट नामक वेबसाइट पर अधिक जानकारी प्राप्त हुई | महिलाओं को पीटने वाले व्यक्ति का नाम पवन कुमार बताया गया है और वीडियो में दिखने वाली महिलाऐं सकीना बेगम (45) और उनकी बेटी अबिदा कौसर (20) है | दोनों पड़ोसियों में आपसी विवाद पर पवन ने इन दोनों महिलाओं के बाल काटे और फिर डंडे से पीटा | इस वीडियो के वाइरल होने पर, पुलिस ने पवन के खिलाफ प्राथमिकी (प्राथमिकी क्र. 307/2018) दर्ज कर भा.द.वि 13/06/2018U/S452/354/325/323/34/RPC के अंतर्गत पवन को कथुआ से गिरफ़्तार किया था |

जांच का परिणाम : 

उपरोक्त अनुसंधान से यह स्पष्ट होता है कि उपरोक्त पोस्ट में साझा वीडियो भारत से है | पवन कुमार ने अपने पड़ोसी सकीना बेगम और अबिदा कौसर पर आपसी विवाद के चलते मार-पीट की थी | यह घटना 2018 को जम्मू के राजौरी जिले में घटी थी और पाकिस्तान से इस वीडियो का कोई संबंध नहीं है | ना मारने वाला मुसलमान है और ना पीड़िता हिंदू है | उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा ग़लत है |

Avatar

Title:2018 का यह वीडियो भारत का है, पाकिस्तान का नहीं |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •