क्या इस्कॉन ने अपने अनुयायी बढ़ाने के लिए रूस की इस ट्रेन पर श्रीकृष्ण का चित्रण करवाया ? जानिये सच |

False International Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२४ जून २०१९ को फेसबुक पर ‘धर्म रक्षक संघ’ नामक एक पेज पर एक पोस्ट साझा किया है | पोस्ट मे एक ट्रेन की तस्वीर है जिसपर श्रीकृष्ण की तस्वीर पेंट की गई है | पोस्ट के विवरण में लिखा है – “ये रूस की एक ट्रेन है जहां पर इस्कॉन मंदिर वालो ने श्रीकृष्ण की चित्रण इंजन में करवाया ताकि दुनिया भर में इनके अनुयायी बढ़े | ये इंजन अगर भारत में होता तो संसद से लेकर पूरे देश में बवाल मच जाता |” 

इस पोस्ट द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि इस्कॉन मंदिर वालों ने रूस की ट्रेन पर श्रीकृष्ण की तस्वीर बनवाई |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

संशोधन से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले पोस्ट मे दी गयी तस्वीर को यांडेक्स रिवर्स इमेज सर्च में ढूंढा | हमें मिले परिणाम को आप नीचे देख सकतें है |

इस संशोधन मे हमें उपरोक्त दावे मे दर्शाये गए चित्र से मिलती-जुलती तस्वीर मिली | यह तस्वीर हमें SouthernStatesGroup की वेबसाइट पर ‘Gallery’ में मिली | यह कंपनी ऑस्ट्रेलिया में स्थित एक पेशेवर, गतिशील और अत्याधुनिक कंपनी है जो ट्रांसपोर्ट रेफ्रिजरेशन, एयर रेफ्रिजरेशन, रेल एयर कंडीशनिंग और टेल लिफ्ट इंडस्ट्रीज को प्रीमियम उत्पाद और सेवाएँ प्रदान करने के लिए समर्पित है |

SouthernStatesGroupPage

इस वेबसाइट के तस्वीरों में हमें उपरोक्त दावे मे दर्शाये गए चित्र से हुबहू मिलती तस्वीर मिली |

इससे यह साफ़ पता चलता है कि यह ट्रेन की तस्वीर ऑस्ट्रेलिया मे स्थित एक कंपनी के वेबसाइट से ली गयी है और रूस से इस तस्वीर का कोई लेना देना नहीं है | इसके अलावा, इस मेट्रो ट्रेन के इंजन पर इस्कॉन द्वारा किसी भी प्रकार की तस्वीर नहीं लगायी गयी है | आप दोनों तस्वीरों की तुलना नीचे देख सकते हैं |

इस संशोधन से हमें साफ़ पता चलता है की उपरोक्त पोस्ट में दी गयी तस्वीर फोटोशोप की मदद से बदलकर भ्रम पैदा करने के लिए साझा की जा रही है |

जांच का परिणाम : इस संशोधन से हम इस निष्कर्ष पर आते हैं कि उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा ‘इस्कॉन मंदिर वालों ने रूस की ट्रेन पर श्रीकृष्ण की तस्वीर बनवाई |’ ग़लत है | उपरोक्त पोस्ट में साझा तस्वीर रूस के ट्रेन की नहीं, बल्कि ऑस्ट्रेलिया के मेट्रो ट्रेन की है और फोटोशोप की मदद से बदली गयी है |

Avatar

Title:क्या इस्कॉन ने अपने अनुयायी बढ़ाने के लिए रूस की इस ट्रेन पर श्रीकृष्ण का चित्रण करवाया ? जानिये सच |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •