क्या बाहर के बढ़ते तापमान से बिजली के मीटर के रीडिंग में फर्क पडता है ? जानिये सच |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२२ मई २०१९ को फेसबुक के ‘Adv Rahul Brahmanwas नामक एक पेज पर एक पोस्ट साझा किया गया है | पोस्ट मे विद्युत विभाग द्वारा लगाये गए बिजली के मीटर की तस्वीर साझा की जा रही है | पोस्ट का विवरण इस प्रकार है – ये जो लाल घेरे मे आप देख रहे है ये है विद्युत विभाग के मीटर की सच्चाई की 27‘C मे मीटर सही काम करेगा फिर भी विद्युत विभाग ने इन मीटरों को घरों के बाहर लगाया है, जितना बाहर का तापमान बढेगा यह मीटर उतना तेज़ भागेगा | आइये हम अपने घरों के बाहर लगें मीटर को घरो के अंदर लगाये और इस आंदोलन का हिस्सा बने | धन्यवाद (हेल्प लाईन नंबर – 9589131119, 9589134448 |

इस पोस्ट द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि “बाहर के तापमान के बढ़ने पर बिजली का मीटर ज़्यादा तेज़ घूमता है |” क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:  

FacebookPost | ARCHIVED LINK

संशोधन से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले उपरोक्त पोस्ट के दावे के बारे मे गूगल मे ‘electricity meter’ की वर्ड्स देकर ढूंढा, तो हमें जो परिणाम मिले वह आप नीचे देख सकते है |

विकिपीडिया के इस पेज पर बिजली के बिल के बारे मे जानकारी दी गयी है | इस जानकारी के मुताबिक, इलेक्ट्रोनिक मीटर को इस कदर बनाया गया है जिससे बाहरी प्रभावित करने वाले चीज़ें रिडींग मे बदलाव ना लाये |

WikipediaPost | ArchivedLink

इसके बाद हमने इस बात की पुष्टि करने के लिए एक निवृत्त चीफ इंजिनियर व प्लांट हेड ए. व्ही. राजा राव से इस बारे मे बात की, तो उन्होंने कहा कि, “एक बिजली का मीटर प्रमुख रूप से कितने एम्प का करंट उपभुक्त हो रहा है, उस पर चलता है | हालांकि तापमान के कम-ज़्यादा होने का असर पड सकता है, इसीलिए बिजली के मीटर की बनावट (मेकनिज्म) इस प्रकार होता है जिससे इन बाहरी प्रभावित करने वाली चीजों का असर मीटर पर ना पडे | भारत मे हर जगह बिजली के मीटर बाहर लगे हुए होते हैं | तो बाहर रखा गया मीटर आसानी से बदलते तापमान की वजह से प्रभावित हो सकता है | इसी कारण इस मीटर की बनावट मे इस बात का खास ध्यान रखा जाता है | मगर यह कहना की बाहरी तापमान बढ़ने पर मीटर तेज़ी से घूमेगा, यह फालतू बात है |”

हमने फिर उपरोक्त पोस्ट मे दी गयी हेल्प लाइन नंबर पर कॉल लगाया | पहले नंबर पर कॉल करने पर किसीने उठाया नहीं और दूसरे नंबर पर जब हमने पुछा तो फ़ोन उठाने वाले ने कहा कि, “9589134448 कांग्रेस का हेल्पलाइन नंबर है |”

इन संशोधन से इस बात की पुष्टि होती है कि बिजली का मीटर जितना एम्प बिजली उपभुक्त हो रहा है, वाही आंकड़े दिखाता है | बाहरी तापमान का मीटर के तेज़ या धीरे चलने पर कोई असर नहीं करता है |

जांच का परिणाम : इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में किया गया दावा की, “बाहर के तापमान बढ़ने पर बिजली का मीटर ज़्यादा तेज़ घूमता है |” ग़लत है | बिजली के मीटर से बाहरी तापमान का कोई संबंध नहीं है, बल्कि कितना एम्प बिजली उपभुक्त हो रहा है उस पर रीडिंग निर्भर होती है |

Avatar

Title:क्या बाहर के बढ़ते तापमान से बिजली के मीटर के रीडिंग में फर्क पडता है ? जानिये सच |

Fact Check By: Nita Rao 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •