क्या भारतीय सेना के जवानों ने जनता को बीजेपी के पक्ष में वोट देने के लिए मजबूर किया ? जानिये सच |

Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

फेसबुक पर वाइरल होती एक पोस्ट मे एक विडियो साझा हो रहा है जिसमे यह दावा किया गया है कि “भारतीय सेना के जवानों ने जनता को बीजेपी के पक्ष में वोट देने के लिए मजबूर किया |” कितनी सच्चाई है इस दावे में, आइये देखते हैं |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:  

FacebookPost | ArchivedLink

TwitterPost | ArchivedLink

तथ्यों की जांच:

हमने जांच की शुरुआत में उपरोक्त विडियो में ०१:४३ से ०१:४७ के बीच मे बोले गए वाक्य “केंटोनमेंट विधान सभा ६, बूथ क्रमांक १४६” को गूगल में ढूँढा तो हमें संशोधन में पता चला की यह जगह मध्य प्रदेश के जबलपुर में है |

हमने फिर गूगल मे उल्लेख किये गए दावे को संशोधन द्वारा मिली जगह के नाम से गूगल में ‘army forcing to vote for BJP in Jabalpur’ इन की वर्ड्स से ढूंढा, तो हमें ‘ANI’ द्वारा दी गयी ख़बर मिली |

इस ख़बर के मुताबिक आर्मी ऑफिसर ने रिपोर्ट दर्ज की है कि कुछ असामाजिक तत्वों ने आर्मी के लोगों को मतदान करने से रोका और हाथ से वोटर कार्ड भी छीना |

जब हमने ट्विटर मे ‘ANI’ के आधिकारिक अकाउंट मे खोज की तो हमें यह ख़बर १ मई २०१९ के ट्वीट मे मिली |

TwitterPost | ArchivedLink

सदर पुलिस स्टेशन, जबलपुर मे दर्ज किये गए इस शिकायत के मुताबिक :

-२९ अप्रैल २०१९ को जब आर्मी के कुछ ऑफिसर अपने परिवार के साथ मतदान करने जबलपुर के बूथ नंबर १४६ मे पहुंचे तो कुछ असामाजिक तत्वों ने उनके हाथों से वोटर कार्ड छीन लिया और अपराधिक बल दिखा के उन्हें मतदान करने से रोकने का प्रयास किया |

-जिस आर्मी ऑफिसर को विडियो मे दिखाया जा रहा है, वह अपना वोटर कार्ड इन असामाजिक तत्वों से वापिस लेकर जब अपने गाड़ी की तरफ जा रहे थे, तब इनका ऐसा विडियो लेकर भारतीय सेना के नाम पर कलंक लगाने का प्रयास किया |

ANI द्वारा इस ट्वीट के नीचे कमेंट में यशस्वी नामक एक महिला ने लिखा है कि आर्मी द्वारा इस शिकायत को दर्ज करने के बाद आम आदमी पार्टी की एक सदस्य द्वारा साझा किया गया यह विडियो निकाल दिया गया |

हमारे संशोधन से इस बात की पुष्टि होती है कि उपरोक्त पोस्ट में दर्शाए जाने वाला विडियो भ्रम पैदा करने के लिए साझा किया जा रहा है और भारतीय सेना ने असामाजिक तत्वों के इस अमानवीय व्यवहार पर शिकायत भी दर्ज की है |

निष्कर्ष : ग़लत

हमारे द्वारा तथ्यों की जांच से यह बात साफ़ होती है कि उपरोक्त पोस्ट मे दर्शाए जाने वाला विडियो भ्रम पैदा करने के लिए साझा किया जा रहा है और किया गया दावा “भारतीय सेना के जवान जनता को बीजेपी के पक्ष में वोट देने के लिए मजबूर किया |” ग़लत है | सदर पुलिस स्टेशन, जबलपुर में भारतीय सेना ने इस घटना की शिकायत भी दर्ज की है |

Avatar

Title:क्या भारतीय सेना के जवानों ने जनता को बीजेपी के पक्ष में वोट देने के लिए मजबूर किया ? जानिये सच |

Fact Check By: Nita Rao 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •