क्या यह मुस्लिम स्थलांतरित इटली के मूर्ति को नष्ट कर रहा है?

False International Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

३ मई २०१९ को द हिन्दुस् ऑफ़ इंडिया नामक एक फेसबुक पेज ने एक विडियो पोस्ट साझा किया है | विडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “एक मुस्लिम स्थलांतरित व्यक्ति इटली में एक प्रतिमा को नष्ट कर रहा है क्योंकि उस प्रतिमा का शरीर का  हिस्सा नग्न दिख रहा है | यूरोप को नहीं पता कि अगले ५ से १५ सालों में उनका क्या हाल होने वाला है | वह मानवाधिकारों और अल्पसंख्यक सम्मान पर भारत को सीख देते रहते है, अब उन्हें पता चलेगा कि मुसलमान कैसे व्यवहार करेंगे |”

इस विडियो में हम एक आदमी को एक प्रतिमा हथौड़ा और छेनी की मदद से तोड़ते हुए देख सकते है | इस प्रतिमा के आस पास खड़े लोग इस तोड़फोड़ को रोकने के लिए इस आदमी को पत्थर मारते हुए नज़र आ रहे है | तीन पुलिस अधिकारी उस आदमी को रोकने की कोशिश करते हैं तो वह उन्हें अपने हथौड़े से धमकाता है | इस विडियो के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि यह विडियो इटली का है और यह आदमी इस मूर्ति को निर्वस्त्र होने के कारण उसे तोड़ रहा है | फैक्ट चेक किये जाने तक यह विडियो २७० से ज्यादा प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चुकी थी व लगभग ७७०० व्यूज मिल चुकी थी |

आर्काइव लिंक

यह विडियो फेसबुक पर काफ़ी चर्चा में है व तेजी से साझा किया जा रहा है |

विडियो को ध्यान से सुनने पर हमें विडियो द्वारा किये गए दावों पर संदेह आता है क्योंकि विडियो में बोली गयी भाषा इटली की नहीं लगती | क्या वाकई में विडियो में दिखाई गयी घटना इटली में हुई? जानिए सच |

संशोधन से पता चला है कि…

जांच की शुरुआत हमने इस विडियो को watchframebyframe पर बारीकी से जांचने से की | फ्रेम का स्क्रीनशॉट लेकर गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें परिणाम से कुछ खबर के लिंक मिले |

डेली मेल के द्वारा २० दिसंबर २०१७ को प्रकाशित खबर के अनुसार यह विडियो अल्जीरिया में घटित घटना की है | खबर के शीर्षक में लिखा गया है कि “अल्जीरिया में एक आदमी निर्वस्त्र महिला की मूर्ति को तोड़फोड़ करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया |” खबर के अनुसार अल्जीरिया के सेटिफ़ शेहर में प्रसिद्ध ऐन एल फौरा फव्वारे के साथ जुड़े हुए मूर्ति को एक व्यक्ति ने हथौडे और छन्नी का इस्तेमाल करके तोड़फोड़ किया | ऐन एल फुआरा प्रतिमा अल्जीरिया में एक प्रसिद्ध स्मारक है | खबर में यह भी लिखा गया है कि विडियो में दिखाया गया आदमी एक मानसिक रोगी है | खबर में उन्होंने गेटी इमेज का उल्लेख भी किया है | गेटी इमेज में हम पहले की मूर्ति और तोड़फोड़ होने की बाद की तुलना भी देख सकते है |

आर्काइव लिंक

१९ दिसंबर २०१७ को फ्रांस२४ द्वारा प्रकाशित खबर के अनुसार “अल्जीरिया में उत्तरी अल्जीरियाई शहर सेटीफ में मूर्ति पर चढ़कर हथौड़े और छन्नी से लैस एक मुस्लिम व्यक्ति ने मूर्ति पर हमला किया |”

आर्काइव लिंक

२२ दिसंबर २०१७ को इंटरनेशनल बिज़नस टाइम्स ने भी इस खबर को प्रकाशित किया | खबर में लिखा गया है कि “ऐन एल फौरा फाउंटेन में स्थित प्रसिद्ध निर्वस्त्र प्रतिमा पर हाल ही में हमला किया गया था |”

आर्काइव लिंक

१८ दिसंबर २०१७ को वलीद अल-हुसैनी नामक एक ट्विटर यूजर ने एक ट्वीट किया | वलीद अल-हुसैनी एक फिलिस्तीनी, निबंधकार, लेखक और ब्लॉगर हैं | ट्वीट में उन्होंने फ्रेंच भाषा का इस्तेमाल करके लिखा है कि “संस्कृति के दुश्मन, कला के दुश्मन, सुंदरता के दुश्मन | खासकर महिला के दुश्मन। प्रतिमा भी उन्हें उत्तेजित करती है ! ऐन एल फौरा का फव्वारा, सेटिफ़ शहर का प्रतीक स्मारक है | गरीब # अल्जीरिया |” इस ट्वीट के साथ साझा किया गया विडियो भी संलग्न है |

आर्काइव लिंक

ऐन एल फौरा का फव्वारे को हमने ट्रिप एडवाइजर पर ढूँढा | परिणाम से हमें इस फव्वारे की कई तस्वीरें मिली | वेबसाइट पर लिखा गया है कि यह फव्वारा और मूर्ति अफ्रीका में स्थित एक देश अल्जीरिया में है जिसके सेटिफ़ नामक शहर की तस्वीरें दिखाई गयी है |

इसके पश्चात गूगल मैप्स का उपयोग करते हुए फ्रांसीसी मूर्तिकार फ्रांसिस डी सेंट-विडाल द्वारा फव्वारे के स्थान की पुष्टि करने की कोशिश की | हमने अल्जीरिया में स्थित ऐन एल फौरा के साथ संलग्न मूर्ति को गूगल मैप पर ढूँढा | गूगल स्ट्रीट व्यू के माध्यम से हमने इस मूर्ति को देखा तो पाया कि यह वायरल विडियो में दिखाई गयी मूर्ति से मेल खाती है | उस हादसे के बाद यह मूर्ति वास्तव में अभी भी वैसी ही स्थिति में है |

निष्कर्ष: तथ्यों की जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया | पोस्ट के दावें के अनुसार यह विडियो इटली की नहीं बल्कि अल्जीरिया की है | यह घटना दो साल पुरानी है और अल्जीरिया के सेटीफ शेहर में घटित हुई थी |

Avatar

Title:क्या यह मुस्लिम स्थलांतरित इटली के मूर्ति को नष्ट कर रहा है?

Fact Check By: Drabanti Ghosh 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •