CLIPPED VIDEO- राहुल गाँधी का बार्डर में सेना के बदले किसानों को तैनात करने वाला वायरल वीडियो क्लिपड है |

Missing Context Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

तमिलनाडु में एक जनसभा को संबोधि‍त करते हुए राहुल गांधी का एक २६ वीडियो का क्लिप सोशल मीडिया पर काफी तेजी से फ़ैल रहा है | इस वीडियो क्लिप के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने चीन सीमा पर भारतीय सेना की जगह मजदूरों और किसानों को तैनात करने का सुझाव दिया है |

२६ सेकेंड के इस वीडियो में राहुल गांधी को अंग्रेजी भाषा में कहते सुना जा सकता है, “आप चीन से भारत की रक्षा के लिए भारतीय सेना, भारतीय नौसेना, भारतीय वायु सेना का इस्तेमाल कर रहे हैं | अगर आप भारत के मजदूरों, भारत के किसानों, भारत के श्रमिकों का इस्तेमाल करते हैं तो आपको वहां पर सेना, नौसेना और वायु सेना तैनात करने की जरूरत नहीं होगी | चीन की घुसपैठ करने की हिम्मत नहीं होगी |”

अंग्रेजी में बयान “ “You are using the Indian Army, the Indian Navy, the Indian Air Force to protect India from China. If you use India’s labourers, India’s farmers, India’s workers, you will not need the Army, Navy and Air Force to be standing over there. China will not have the guts to come inside.”

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि 

“चूंकि राहुल गांधी को लगता है कि भारतीय सेना की जगह किसानों और मजदूरों को तैनात किया जा सकता है इसलिए हम नरेंद्रमोदी जी अमितशाह जी से अनुरोध करते हैं कि कृपया राहुलगांधी को दी गई वीआईपी सुरक्षा को हटा लें और इसकी जगह किसानों और मजदूरों को तैनात कर दें |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसन्धान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने पाया है कि राहुल गाँधी के बयान को एडिट कर गलत संदर्भ से फैलाया जा रहा है | राहुल गाँधी सेना की जगह मजदूरों और किसानों को तैनात करने की बात नहीं कर रहे थे, बल्कि चीनी घुसपैठ के लिए भारत की “कमजोर अर्थव्यवस्था” को जिम्मेदार ठहरा रहे थे |

जाँच की शुरुवात हमने यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च के माध्यम से इस वीडियो का मूल वीडियो ढूँढा जिसके परिणाम से हमें २४ जनवरी २०२१ को राहुल गांधी के ऑफिशि‍यल यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया गया वीडियो मिला | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “ओडानिलई, इरोड में बुनकर समुदाय के साथ बातचीत” |

अपने भाषण में राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर कुछ बड़े उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया |  उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने किसानों, बुनकरों और मजदूरों को मजबूत करके देश की अर्थव्यवस्था को आत्मनिर्भर बनाने पर ध्यान केंद्रित किया होता तो चीन भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करने का आत्मविश्वास नहीं जुटा पाता | मूल वीडियो में राहुल गांधी पावर लूम सेक्टर को विशेष सुरक्षा देने वाली नीतियों से जुड़ी बुनकरों की मांग का जवाब दे रहे थे |

वीडियो में राहुल गांधी को कहते हुए सुना जा सकता है कि

१-  “चीन ने देखा कि भारतीय अर्थव्यवस्था घुटनों पर है | चीन यह देख सकता है कि भारत सरकार का हर फैसला पांच या छह कारोबारियों को मजबूत करने और भारत की वास्तविक ताकत- मजदूरों, कामगारों और बुनकरों को कमजोर करने के लिए है | मैं आपको गारंटी दे सकता हूं कि अगर भारत के मजदूर, किसान और बुनकर मजबूत होते, उनकी रक्षा की गई होती और उन्हें अवसर दिए गए होते तो चीन कभी भी भारत के अंदर आने की हिम्मत नहीं करता |

मूल वीडियो में उन्होंने कहा कि “China has seen that the Indian economy is on its knees. China can see that every single action of the Indian government is designed to strengthen five or six business people and weaken India’s real strength the labourers, the workers, and the weavers. I can guarantee you that if India’s labourers, farmers and weavers were strong, were protected, and were given opportunities; China would never dare to come inside India,”

वीडियो में आगे वे कहते है कि 

२- मैं आपको गारंटी दे सकता हूं कि अगर भारत के किसान, मजदूर, छोटे और मझले उद्योगों को मजबूत किया जाए तो चीन के राष्ट्रपति मेड इन इंडिया शर्ट पहनेंगे | मैं आपको गारंटी दे सकता हूं कि चाइनीज लोग भारतीय कार ड्राइव करेंगे, चाइनीज लोग भारतीय एयरोप्लेन उड़ाएंगे, चाइनीज घरों में भारतीय कारपेट होंगे | ऐसा क्यों नहीं हो रहा है? क्योंकि हमारी सरकार भारत के पांच-छह सबसे अमीर व्यापारियों की मदद करने और भारत की असली ताकत को नष्ट करने पर जोर दे रही है |

मूल वीडियो में उन्होंने कहा कि “I can also guarantee you that if India’s farmers, labourers, small and medium businesses were strong, then the President of China would be wearing a shirt made in India. I can guarantee you that Chinese people would be driving Indian cars, that Chinese people would be flying Indian airplanes, that Chinese houses would have Indian carpets. Why is this not happening? Because our government is insisting on helping five to six of India’s rich business people and killing and destroying India’s true strength,”

इसके आगे मूल वीडियो में १७ मिनट १२ सेकेंड पर सुना जा सकता है की राहुल गाँधी कहते है कि ३आप चीन से भारत की रक्षा के लिए भारतीय सेना, भारतीय नौसेना, भारतीय वायु सेना का इस्तेमाल कर रहे हैं | अगर आप भारत के मजदूरों, भारत के किसानों, भारत के श्रमिकों का इस्तेमाल करें तो आपको वहां सेना, नौसेना और वायु सेना तैनात करने की जरूरत नहीं होगी | चीन की घुसपैठ करने की हिम्मत नहीं होगी |

मूल वीडियो में उन्होंने कहा कि “You are using the Indian Army, the Indian Navy, the Indian Air Force to protect India from China. If you use India’s labourers, India’s farmers, India’s workers, you will not need the Army, Navy and Air Force to be standing over there. China will not have the guts to come inside.”

निष्कर्ष: सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो को संदर्भ के बाहर फैलाया जा रहा है | राहुल गांधी भारत की अर्थव्यवस्था के बारे में बात कर रहे थे और उन्होंने भारतीय सेना की जगह बॉर्डरों पर मजदूरों या किसानों को तैनात करने का सुझाव नहीं दिया था | वीडियो को गलत संदर्भ के साथ फैलाया जा रहा है | राहुल गाँधी सेना की जगह मजदूरों और किसानों को तैनात करने की बात नहीं कर रहे थे, बल्कि वे सरकार से मजदूरों, किसानों व श्रमिकों को मजबूत कर, मजबूत भारतीय अर्थव्यवस्था से चीनी घुसपैठ को रोकने की बात कर रहे थे, उन्होंने मौजूदा चीनी घुसपैठ को भारत की “कमजोर अर्थव्यवस्था” के चलते जिम्मेदार ठहराया है |

Avatar

Title:CLIPPED VIDEO- राहुल गाँधी का बार्डर में सेना के बदले किसानों को तैनात करने वाला वायरल वीडियो क्लिपड है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: Missing Context


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •