वायरल तस्वीर में राहुल गांधी के साथ चीन के नये प्रिमियर ली क्विंग नहीं है।

False Political

इस तस्वीर में राहुल गांधी के साथ चीन के पूर्व प्रिमियर वेन जियाबाओ है।

हाल ही में चीन में ली क्विंग नये प्रिमियर बने है। इसको जोड़कर राहुल गांधी की एक तस्वीर वायरल हो रही है। उसके साथ दावा किया जा रहा है कि इस तस्वीर में राहुल गांधी के साथ ली क्विंग खड़े है। इसको शेयर कर यूज़र कह रहे है कि प्रिमियर (प्रधानमंत्री) बनने के बाद ली क्विंग ने कहा कि भारत से मोदी को हटाना है। और ऐसा उन्होंने इसलिये कहा क्योंकि वे राहुल गांधी के पुराने दोस्त है।

वायरल हो रहे पोस्ट के साथ यूज़र ने लिखा है,“जिनपिंग के नए प्रधानमंत्री ली क्विंग का सबसे पहला बयान : भारत से मोदी का हटना जरूरी है। वरना चीन कमजोर हो जायेगा। ये ली क्विंग इस पप्पू का पुराना यार है। इस खेल को समझो सनातनियो।“

फेसबुक | आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया। हमें यही तस्वीर गेट्टी इमेजेज के वेबसाइट पर प्रकाशित की हुई मिली। उसके साथ दी गयी जानकारी में बताया गया है कि यह तस्वीर 26 अक्टूबर 2007 की है जब राहुल गांधी उनकी मां सोनिया गांधी के साथ पाँच दिवसीय यात्रा पर चीन गये थे। तब वे चीन के प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ से बीजिंग के झोंगनहाई में मिले थे।

आर्काइव लिंक

इसी इवेंट की एक और तस्वीर हमें अलामी के वेबसाइट  पर प्रकाशित मिली । उसमें आप राहुल गांधी और वेन जियाबाओ के साथ सोनिया गांधी को भी देख सकते है। आप नीचे दी गयी तस्वीर में देख सकते है।

इसके बाद हमने वेन जियाबाओ और ली क्विंग की तस्वीरों का तुलनात्मक विश्लेषण भी किया। आप नीचे दी गयी तस्वीर में देख सकते है।

इसके बाद हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च किया और ये जानने की कोशिश की क्या ली क्विंग ने प्रधानमंत्री मोदी को भारत से हटाने जैसा कोई बयान दिया है। हमें इंटरनेट पर कही भी ली क्विंग ऐसा बयान देखने को नहीं मिला।

निष्कर्ष:

तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रही तस्वीर के साथ किया गया दावा गलत है। इस तस्वीर में राहुल गांधी के साथ चीन के पूर्व प्रिमियर वेन जियाबाओ है, नये प्रिमियर ली क्विंग नहीं।

Avatar

Title:वायरल तस्वीर में राहुल गांधी के साथ चीन के नये प्रिमियर ली क्विंग नहीं है।

Fact Check By: Samiksha Khandelwal 

Result: False