क्या शशि थरूर ने कहा – “नरेन्द्र मोदी को हटाने के लिए अगर शिवलिंग में भी चप्पल मारनी पड़ी तो मैं मारूँगा” ?

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२९ मार्च २०१९ को इन्स्टाग्राम पर ‘united hindu’ नामक यूजर ने एक पोस्ट साझा किया गया है | पोस्ट में एक फोटो साझा किया गया है जो आज तक समाचार चैनल का स्क्रीन शॉट है | इस फोटो में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर कहीं भाषण देते हुए नजर आ रहे है और बाजु में स्क्रीन पर लिखा आ रहा है- “नरेन्द्र मोदी को हटाने के लिए अगर शिवलिंग में भी चप्पल मारनी पड़ी तो मैं मारूँगा” |

पोस्ट के कैप्शन में लिखा है- मुल्ले का खुन होगा वही congress को वोट करेगा |

इस पोस्ट में किया गया दावा स्पष्ट है, जिसपर बिना सुबूत यकीन नहीं किया जा सकता | तो आइये जानते है इस पोस्ट की सच्चाई |

ARCHIVE POST

संशोधन से पता चलता है कि…

चूँकि पोस्ट के फोटो में आज तक की न्यूज़ का हवाला है, तो हमने सबसे पहले यू-ट्यूब पर shashi tharoor modi shivling chappal aaj tak इन की वर्ड्स के साथ सर्च किया तो हमें आज तक का इस खबर का विडियो मिला, जो आप नीचे देख सकते है | यह खबर २८ अक्तूबर २०१८ को चलाई गई थी |

ARCHIVE VIDEO

इस विडियो को ध्यान से सुनने से सारी सच्चाई अपने आप उजागर हो जाती है | न्यूज़ एंकर शुरुआत में ही यह कहती है कि ‘शशि थरूर ने एक पत्रकार का हवाला दिया है | इस पत्रकार के हवाले से उन्होंने आरएसएस के एक नेता के बयान का जिक्र किया है | थरूर की माने तो आरएसएस के एक नेता का कहना था कि मोदी शिवलिंग पर चिपके बिच्छू की तरह है, जिन्हें ना तो हटाया जा सकता है और ना तो मारा जा सकता है |’

इसके बाद शशि थरूर का वह बयान भी उन्हीं के शब्दों में सुनाया गया है | शशि थरूर अंग्रेजी में भाषण कर रहे है जिसका सरल हिंदी भाषांतरण इस प्रकार है – ‘आरएसएस के एक अनजान नेता ने द कारवां के पत्रकार विनोद जोस से कहा था की (जिसका मैंने उल्लेख किया है, और जो मोदी को रोकने में सक्षम ना होने के बारे में जिक्र करता है) मोदी शिवलिंग पर बैठे उस बिच्छू की तरह है, जिसे ना तो हाथ से हटाया जा सकता है और ना ही उसे चप्पल से मारा जा सकता है’

इस खबर से तीन बातें बिलकुल स्पष्ट हो जाती है- १. खुद एंकर ने बताया है कि यह बिच्छू और चप्पल से मारने की बात थरूर ने तो कही है मगर पत्रकार विनोद जोस का हवाल देकर कही है और यह वक्तव्य उनका नहीं बल्कि किसी आरएसएस नेता का है | इसका मतलब पोस्ट में किया गया दावा कि यह शशि थरूर का वक्तव्य है, गलत है |

२. जिस वक्तव्य का दावा पोस्ट के स्क्रीन शॉट में किया गया है, वह तो विडियो में कहीं भी नहीं है | “नरेन्द्र मोदी को हटाने के लिए अगर शिवलिंग में भी चप्पल मारनी पड़ी तो मैं मारूँगा” इन शब्दों का प्रयोग कहीं नहीं है | बल्कि शब्द यह इस्तेमाल किये गए है कि “मोदी शिवलिंग पर बैठे उस बिच्छू की तरह है, जिसे ना तो हाथ से हटाया जा सकता है और ना ही उसे चप्पल से मारा जा सकता है”

३. पोस्ट के फोटो में जो स्क्रीन शॉट दिया है वह भी फोटोशोप की चालाकी है, क्यूंकि पुरे  विडियो में स्क्रीन पर इस तरह का कोई वाक्य इस्तेमाल नहीं किया गया है | पूरे विडियो में जो वाक्यों का इस्तेमाल स्क्रीन पर किया गया है, वह आप नीचे की स्क्रीन शॉट्स पर देख सकते है |

जांच का परिणाम :  इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में किया गया दावा कि, शशि थरूर ने कहा – “नरेन्द्र मोदी को हटाने के लिए अगर शिवलिंग में भी चप्पल मारनी पड़ी तो मैं मारूँगा” सरासर गलत है | खबर के स्क्रीन शॉट को फोटोशोप कर भ्रामक तरीके से फैलाया जा रहा है |

Avatar

Title:क्या शशि थरूर ने कहा – “नरेन्द्र मोदी को हटाने के लिए अगर शिवलिंग में भी चप्पल मारनी पड़ी तो मैं मारूँगा” ?

Fact Check By: Rajesh Pillewar 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •