इस मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति का विडियो बच्चा चोर के नाम से सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा है |

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

८ अगस्त २०१९ को “JK MEENA SARAYनामक एक फेसबुक पेज पर एक विडियो पोस्ट किया, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि सिकराय गनीपुर रोड़ पंचमुखी मंदिर के पास पकड़ा गया एक ओर गिरोह का सदस्य आदमीयो को देख कर खेत मे भाग गया मोके पे पुलिस बुला कर पकड़ाया” | इस विडियो में एक व्यक्ति को लोगों ने रस्सी से बांधकर रखा है व वे उससे कुछ  पूछताछ कर रहे हैं | भीड़ में से एक व्यक्ति को हम इस आदमी को “कितने बच्चे चोरी किये” यह सवाल करते हुए भी सुन सकते है | इस विडियो को सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि विडियो में दर्शाया गया व्यक्ति असल में एक बच्चा चोर है जिसने बाद में भागने की कोशिश भी की | पूरे वीडियो में, आदमी अपनी प्रतिक्रियाएं बदलता रहा जो कभी-कभी सवाल से भी संबंधित नहीं थीं | फैक्ट चेक किये जाने तक यह पोस्ट १६०० प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चुकी थी |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव विडियो 

संशोधन से पता चलता है कि…

जांच की शुरुआत हमने इस घटना के बारें में मीडिया रिपोर्ट ढूँढने से की, परंतु परिणाम से हमें कुछ भी नही मिला | इसके पश्चात हमने राजस्थान में स्थित सिकराय गाँव के आसपास के पुलिस थाने में संपर्क किया, जिसके चलते हमें मंदार पुलिस से इस घटना के बारें में जानकारी मिली | मंदार पुलिस स्टेशन के कांस्टेबल सुरेश चाँद ने हमें बताया कि “यह घटना ७ अगस्त २०१९ को घटित हुई थी, विडियो में दर्शाया गया व्यक्ति मानसिक रूप से अस्थिर है, अर्थात  मंदबुद्धि है | उसने पुलिस द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब भी नही दिया, उसका नाम तक उसको याद नही है | इस आदमी को बाद में भरतपुर स्थित ‘अपना घर’ नामक एक एनजीओ में भेज दिया गया, जो मानसिक रूप से विकलांग लोगों की देखभाल करता है” |

इसके पश्चात हमने राजस्थान में स्थित भरतपुर में अपना घर नामक एनजीओ से संपर्क किया, अपना घर का संस्थापक डॉ बी एम् भारद्वाज ने हमें बताया कि “विडियो में दर्शाया गया व्यक्ति मानसिक रूप से अस्वस्थ है और लोग ऐसे असहाय लोगों को परेशान करते हुए ऐसे विडियो बनाकर सोशल मीडिया पर फैलाते रहते है |

उन्होंने हमें बताया कि इस व्यक्ति को मंदार पुलिस द्वारा एक पत्र के साथ ‘अपना घर’ भेजा गया था | इस पत्र को आप नीचे देख सकते है | पत्र में लिखा गया है कि “निवेदन है कि एक विक्षिप्त पुरुष दौराने गस्त सिकराय से गनीपुर जाने वाले पक्‍की सड़क पर बने मंदिर बालाजी पर ग्रामवासियों से संदीग्ध हालत में एक विक्षिप्त पुरुष को पकड़ा है जिसको एचसी देशराज नंबर १९ को वास्ते करवाने दाखिल व इलाज हैतु अपना घर भरतपुर रवाना किया जा रहा है | अतः विक्षिप्त को दाखिल अपना घर कर प्राप्त रशीद देने का श्रम करे” |

साथ ही उन्होंने हमने इस व्यक्ति का हाल ही में ली गयी तस्वीरें भी भेजी, जिससे हम यह स्थापित कर सकते है कि वह मंदबुद्धि होने के कारण वास्तव में ‘अपना घर’ नामक एनजीओ में रहते है |

निष्कर्ष: तथ्यों के जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है, एक मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति का विडियो बच्चे चोर के नाम से फैलाया जा रहा है, जो की एक बहुत ही शर्मनाक हरकत है |

Avatar

Title:इस मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति का विडियो बच्चा चोर के नाम से सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •