CLIPPED VIDEO: तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार कौशानी मुख़र्जी के वीडियो को सन्दर्भ से बाहर फैलाया जा रहा है |

Missing Context Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


सोशल मीडिया पर पश्चिम बंगाल में चल रहे विधान सभा चुनावों को लेकर आये दिन कई अफवाएं फैलाई जा रही है जिनकी प्रमाणिकता फैक्ट क्रेसेंडो हिंदीफैक्ट क्रेसेंडो बंगला अपने पाठकों तक पहुँचाता रहा है | गत दिनों सोशल मंचों पर भाजपा पश्चिम बंगाल द्वारा अभिनेता और तृणमूल कांग्रेस की उम्मीदवार कौशानी मुखर्जी के वीडियो को ट्वीट किया है, जहां उन्हें यह कहते हुए सुना जा सकता है, “हर किसी के घर पर मां और बहनें हैं, वोट देने से पहले सोचें |” 

इस वीडियो को कैप्शन के साथ साझा किया जा रहा है,

“घर पर सभी की माताएं और बहनें हैं, वोट देने से पहले सोचें “- कृष्णानगर नॉर्थ से टीएमसी उम्मीदवार कौशानी मुखर्जी | इसी तरह उन्होंने बंगाल की महिलाओं को धमकी दी, यह पिशी की संस्कृति है।” बंगाल की महिलाएं निश्चित रूप से पीशी शासन के तहत सुरक्षित नहीं हैं।“

कैप्शन संकेत करता है कि कौसानी मुखर्जी ने लोगों को धमकी दी है कि अगर वे टीएमसी को वोट नहीं देते हैं तो उनकी मां और बहनों के साथ बुरा व्यवहार किया जाएगा | इस वीडियो को फेसबुक पर भी काफी तेजी से फैलाया जा रहा है |

आर्काइव लिंक

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने पाया कि वायरल वीडियो उनके द्वारा कही जा रही बात को क्लिप कर बनाया गया है और इस वीडियो को सन्दर्भ के बाहर फैलाया जा रहा है |

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को फेसबुक पर कीवर्ड सर्च कर ढूँढने से की, जिसके परिणाम से हमें कौशानी मुख़र्जी के आधिकारिक फेसबुक अकाउंट पर वायरल हो रहे वीडियो का लंबा वर्शन उपलब्ध मिला | पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “कल मेरा एक वीडियो विपक्षी पार्टी के कुछ दोस्तों द्वारा सोशल मीडिया में प्रसारित किया गया था, मूल रूप से मैंने कहा था “आप किसे वोट दें रहे है यह सोच समझ कर दे, घर में सभी की माँ-बहन हैं, वास्तव में महिला सुरक्षा के लिए, तीसरी बार फिर से दीदी को चुने | मूल वीडियो आपके लिए नीचे दिया है | जय बंगला |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक

नीचे आप सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो क्लिप और मूल वीडियो क्लिप का तुलनात्मक विश्लेषण देख सकते हैं | इस विश्लेषण से ये स्पष्ट होता है कि तृणमूल कांग्रेस की प्रत्याशी कौशानी मुख़र्जी लोगों को धमकी नही दे रही है | मूल वीडियो में वे कहती है कि  “अरे देखो इन युवा लड़कों को, इधर आओ, तुम लोग भाजपा के लोग हो ? सबके घर में माँ बहन है, वोट सोच समझ के देना, माँ बहनों की सुरक्षा के बारें में सोचके वोट देना, दीदी (ममता बनर्जी) नहीं रहेगी तो कोई उनके सुरक्षा के बारें में नही सोचेगा |” 

इसके आलावा कौशानी मुख़र्जी ने इस वीडियो के बारें में स्पष्टीकरण एक फेसबुक लाइव कर भी दिया है जहाँ वे स्पष्ट रूप से कहती है कि भाजपा आई.टी सेल द्वारा इस वीडियो को भ्रामक तरीके से फैलाया जा रहा है | साथ ही उन्होंने महिला सुरक्षा पर पार्टी के ख़ास ध्यान रखने की बात भी की जिस वजह से उन्होंने वीडियो में वायरल वाक्य को कहा |

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को भ्रामक पाया है जिसे संदर्भ से बहार फैलाया जा रहा है | वायरल वीडियो को इस तरह से फैलाया जा रहा है कि जिससे ऐसा लगे कि कौशानी मुख़र्जी लोगों को धमकी दे रहीं है | मूल वीडियो में कौशानी मुख़र्जी किसी को धमकी नही दे रही थी बल्कि लोगों को सोच समझकर वोट देने की बात कर रही थी क्योंकि उनके अनुसार भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं की सुरक्षा का कोई प्रबंध नही है | 

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

1. गुजरात के दाहोद रेलवे स्टेशन पर हुये मॉक ड्रिल के वीडियो को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

2. गुजरात के सूरत में स्थित एक श्मशान घाट में अंतिम संस्कार के लिए लाइन में लगे शवों के वीडियो को महाराष्ट्र के जलगांव का बता वायरल किया जा रहा है।

3. दिलीप घोष द्वारा भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी नड्डा को लिखा गया यह पत्र फर्जी है |

Avatar

Title:तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार कौशानी मुख़र्जी के वीडियो को सन्दर्भ से बाहर फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: Missing Context


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •