जी नहीं, ज़ी न्यूज़ के ऑफिस में तोड़फोड़ दिल्लीवासियों द्वारा नहीं की गई हैं |

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर दो तस्वीरों को साझा करते हुए दावा किया जा रहा है कि ज़ी न्यूज़ के ऑफिस पर लोगों ने हमला किया है | तस्वीरों में हम ज़ी न्यूज़ के एडिटर सुधीर चौधरी को घायल अवस्था में देख सकते है | साथ ही एक तस्वीर में हम तोड़फोड़ किये गये ऑफिस को देख सकते है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “दिल्ली के लोगों को मुफ्तखोर और गद्दार कहने पर भड़की
दिल्ली की जनता… ज़ी न्यूज़ के ऑफिस पर लोगो का हमला बधाई हो
|”

सुधीर चौधरी ने अपने प्राइम टाइम शो डीएनए में एग्जिट पोल के नतीजों में आम आदमी पार्टी को स्पष्ट बहुमत मिलने की भविष्यवाणी की जिसके पश्चात उन्होंने दिल्ली के मतदाताओं की आलोचना की, उन्होंने मतदाताओं को आम आदमी पार्टी को वोट देने के लिये मुफ्तखोर कहा- यह पोस्ट उसके बाद से सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से फ़ैल रही है |

फेसबुक पोस्ट 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने दोनों तस्वीरों का स्क्रीनशॉट लेकर गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम में हमें पता चला कि दोनों चित्र पुराने हैं और हाल ही में ज़ी न्यूज़ के कार्यालय पर कोई हमला नहीं हुआ है | 

Image 1- 

इस तस्वीर का रिवर्स इमेज सर्च हमें मुंबईलाइव में प्रकाशित दो साल पुरानी रिपोर्ट पर ले गया। रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि यह घटना मुंबई में हुई थी, जिसमें महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के सदस्यों ने मुंबई कांग्रेस के कार्यालय में तोड़फोड़ की थी | इस घटना के कारण महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना नेता संदीप देशपांडे की गिरफ्तारी हुई | 

आर्काइव लिंक

द ट्रिब्यून द्वारा १ दिसंबर,२०१७ को प्रकाशित एक समाचार रिपोर्ट में भी यही तस्वीर साझा की गई थी | ट्रिब्यून की रिपोर्ट ने तस्वीर के लिए एएनआई को श्रेय दिया गया है |

आर्काइव लिंक

Image 2- 

रिवर्स इमेज सर्च ने जुलाई २०१९ से परिणाम निकाला जिसमें नाक की चोट के साथ सुधीर चौधरी की तस्वीरें दिखाई गईं है | १३ जुलाई, २०१९ के एक यूट्यूब वीडियो के अनुसार पत्रकार सुधीर चौधरी के साथ मुंबई की यात्रा के दौरान एक दुर्घटना हुई थी जिसके चलते उन्हें उनके नाक में चोट लगी थी |

हमें एक वीडियो भी मिला, जिसे सुधीर चौधरी ने अपने फेसबुक पेज पर शेयर किया था जहां उन्होंने अपनी चोट के बारे में बात करते हुए देखा जा सकता है | 

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर असंबंधित और पुरानी है | हाल ही में जी न्यूज़ के ऑफिस में कोई तोड़फोड़ नही हुई है |

Avatar

Title:जी नहीं, ज़ी न्यूज़ के ऑफिस में तोड़फोड़ दिल्लीवासियों द्वारा नहीं की गई हैं |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply