2016 में केलिफोर्निया के टर्लोक सीटी के एक गुरुद्वारे में हुई झडप को कनाडा व भारत से जोड़ वायरल किया जा रहा है।

False International Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे वर्तमान किसान आंदोलनों के चलते दुनिया भर से कुछ नेताओं, कार्यकर्ताओं व मशहूर हस्तियों ने किसानों का समर्थन किया है, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने भी किसानो के आंदोलन को ले कर एक टिप्पणी की थी जहाँ उन्होंने मौजूदा हालत पर चिंता व्यक्त की थी, उनकी इस टिप्पणी के बाद से ही सोशल मंचों पर एक वीडियो वायरल होता चला आ रहा है। उस वीडियो में आपको बहुत सारे सिख समुदाय के लोग नज़र आएंगे जिनके बीच झड़प हो रही है। इस वीडियो के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो कनाडा के एक गुरुद्वारा का है, व इस वीडियो को आधार बना सोशल मंचों पर उपभोक्ताओं द्वारा कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो पर तंज कसा जा रहा है।

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है, 

कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो भारत में खालिस्तानियों को समर्थन दे रहा है। अब कनाडा में ही गुरुद्वारों की सत्ता के लिये सिखों में आपस में संघर्ष शुरू हो गए हैं। जल्दी ही ये सारे कनाडा में दिखेगा। जो दूसरों के लिये गड्ढा खोदता है।”

आर्काइव लिंक

इस वीडियो को फेसबुक पर भी काफी तेजी से वायरल किया जा रहा है।

C:\Users\Fact3\Desktop\FC\Sikhs fighting in Gurudwara in California3.jpg

फेसबुक | आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहा वीडियो 2016 का अमेरिका से है, जहाँ एक गुरुद्वारे में सिख समुदाय के लोगों के बीच झड़प हुई थी।

जाँच की शुरुवात हमने यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च के ज़रिये की, परिणाम में हमें एक वीडियो मिला जो इंडिया टी.वी ने अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर प्रसारित किया हुआ है। इस वीडियो में हम वायरल हो रहे वीडियो को देख सकते हैं, वीडियो के शीर्षक में लिखा है, अमेरिका: कैलिफोर्निया के टर्लोक सीटी में गुरुद्वारा के अंदर की हिंसात्मक लड़ाई और इसके साथ दी गयी जानकारी में लिखा है, अमेरिका: गुरुद्वारे में लड़ाई का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। विवाद ग्रन्थि सिंह पर था। इस मुद्दे के बाद, एक नई समिति ने गुरुद्वारा साहिब का प्रबंधन संभाल लिया है।

आर्काइव लिंक

इसके पश्चात उपरोक्त जानकारी को ध्यान में रखते हुए हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च किया तो हमें 13 जनवरी 2016 में इंडिया टूडे द्वारा प्रकाशित किया गया एक समाचार लेख मिला। उस लेख में लिखा है,

 “10 जनवरी 2016 को कैलिफोर्निया के टर्लोक गुरुद्वारा के अंदर दो गुटों के बीच झडप हुई, एक के बाद एक लोगों द्वारा तलवारें और किरपाण इस्तेमाल कर हिंसा हुई व कई लोग घायल हो गए थे। लेख में यह भी लिखा है कि, मुख्य रूप से गुरूद्वारे के प्रबंधन को लेकर विवाद हुआ था। दोनों प्रतिद्वंद्वी दलों ने चंदा एकत्र करने और रसीदें जारी करने पर अपने अधिकार का दावा करने की कोशिश की थी।

C:\Users\Fact3\Desktop\FC\Sikhs fighting in Gurudwara in California4.jpg

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया है कि उपरोक्त दावा गलत है। वायरल हो रहा वीडियो 2016 में केलिफोर्निया के टर्लोक सीटी में एक गुरुद्वारे में सिख लोगों के बीच हुई झड़प से है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

.शिवसेना के पोस्टर का रंग बदलकर उसे गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

२.क्या पंजाब में कृषि कानूनों के विरोध के साथ-साथ हिंदी भाषा का ​भी विरोध हो रहा है? जानिये सच

३. झारखण्ड में लड़की पर हमला करने के एक पुराने वीडियो को लव जिहाद के नाम से फैलाया जा रहा है |

Avatar

Title:2016 में केलिफोर्निया के टर्लोक सीटी के एक गुरुद्वारे में हुई झडप को कनाडा व भारत से जोड़ वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply