क्या भारत से करोना की वैक्सीन मिलने पर कनाडा में तिरंगा रैली निकाली गयी? जानिये सच…

Coronavirus Partly False
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

भारत में निर्मित लाखों करोना वैक्सीन को भारत दुनिया के विभिन्न देशों में सद्भावना के तौर पर करोना की रोकथाम के लिये  लिए भेजा जा रहा है जिनमें से एक देश कनाडा भी है। इसी के चलते सोशल मंचों पर एक वीडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि भारत द्वारा वैक्सीन मिलने पर कनाडा में लोगों द्वारा तिरंगा रैली निकल कर भारत का आभार व्यक्त किया गया। इस वीडियो में आप लोगों को भारत का ध्वज पकड़े हुए व भारत माता की जयजयकार करते हुये नज़र आयेंगे।

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है,

भारत से वैक्सीन दान में मिलने के सम्मान में कनाडा में तिरंगा कार रैली निकाली गई। खालिस्तानियों देख लो बड़ा फुदकते हो कनाडा के नाम पर।“

फेसबुक | आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि कनाडा में हुई इस तिरंगा रैली का भारत द्वारा भेजी गयी वैक्सीन से कोई संबद्ध नहीं है। भारत में गणतंत्र दिवस के दिन किसान आंदोलन के दौरान कथित तौर पर हुए तिरंगे के अपमान के खिलाफ ये रैली निकाली गयी थी। 

जाँच की शुरुवात हमने वायरल हो रहे वीडियो को ध्यान से देखकर की, वीडियो में अंग्रेज़ी में लिखा हुआ है कि, कनाडा में रहने वाले भारतीय लोगों ने दिल्ली में गणतंत्र दिवस के दिन तिरंगा का जो अपमान हुआ था, उसके खिलाफ तिरंगा रैली निकाली है। वीडियो के अंत में आप एक शख्स को कहते हुए सुन सकते है कि, जो भी लोग तिरंगा रैली में है वे इस बात से विचलित है कि तिरंगे का अपमान बार बार किया जा रहा है। वह यह भी कह रहा है कि उन्हें और किसी भी बात से परेशानी नहीं है, उन्हें सिर्फ तिरंगे के अपमान से परेशानी है।

वीडियो को देखने पर हमें उसमें हिंदुस्तान टाइम्स का चिन्ह देखने को मिला। इसके बाद हमने यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च किया को हमें यही वीडियो इस वर्ष 7 फरवरी को हिंदुस्तान टाइम्स द्वारा प्रसारित किया हुआ मिला। वीडियो के शीर्षक में लिखा है, “कनाडा: किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली हिंसा के खिलाफ ‘तिरंगा’ रैली,“ व वीडियो के नीचे दी गयी जानकारी में लिखा है, भारत की राष्ट्रीय राजधानी में हिंसा और बर्बरता के बाद प्रदर्शनकारियों द्वारा एक ट्रैक्टर रैली के बाद किसानों में खलबली मच गई, कनाडा में भारतीय प्रवासियों के सदस्यों ने एक प्रदर्शन किया। वैंकूवर की सड़कों पर तिरंगे से सजी कारों को रैली के लिए निकाला गया। प्रदर्शनकारियों ने ‘वंदे मातरम’ और ‘भारत माता की जय’ जैसे नारे भी लगाए। अधिक जानकारी के लिए पूरा वीडियो देखें।

आर्काइव लिंक

इस सन्दर्भ में गूगल पर और अधिक कीवर्ड सर्च करने पर हमें टाइम्स नाउ द्वारा इस वर्ष 8 फरवरी को प्रकाशित किया हुआ एक समाचार लेख मिला जिसमें लिखा है कि, कनाडा में भारतीय प्रवासियों ने किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान नई दिल्ली में लाल किले पर गणतंत्र दिवस के दिन हुई हिंसा के खिलाफ कनाडा के वैंकूवर में तिरंगा रैली की।

इन प्रदर्शनकारियों ने 26 जनवरी को लाल किले पर हुई बर्बरता और हिंसक विरोध प्रदर्शन के दौरान तिरंगे के प्रति अनादर होने पर अपनी निराशा व्यक्त की। उन्होंने किसानों के साथ-साथ भारत सरकार को भी अपना समर्थन दिया और मुद्दों के जल्द समाधान की उम्मीद की।

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि उपरोक्त दावा आंशिक रुप से गलत है| वायरल हो रहा वीडियो कनाडा में हुई तिरंगा रैली का ज़रूर है परंतु वह रैली भारत में गणतंत्र दिवस के दिन किसान आंदोलन के दौरान कथित तौर पर हुए तिरंगे के अपमान के खिलाफ निकाली गयी थी। इस रैली का भारत द्वारा भेजी गयी वैक्सीन से कोई संबन्ध नहीं है।

Avatar

Title:क्या भारत से कोरोना की वैक्सीन मिलने पर कनाडा में तिरंगा रैली निकाली गयी? जानिये सच…

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: Partly False

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

.शिवसेना के पोस्टर का रंग बदलकर उसे गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

२.क्या पंजाब में कृषि कानूनों के विरोध के साथ-साथ हिंदी भाषा का ​भी विरोध हो रहा है? जानिये सच

३. झारखण्ड में लड़की पर हमला करने के एक पुराने वीडियो को लव जिहाद के नाम से फैलाया जा रहा है |


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •