उत्तर प्रदेश के वीडियो को कांग्रेस शासित राजस्थान में महिलाओं पर अत्याचार का बता कर वायरल

False Political

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें सड़क पर गिरी एक महिला को एक आदमी मार रहा है। एक दूसरा आदमी महिला को डंडे से पीटते हुए देखा जा सकता है। वीडियो को राजस्थान का बता कर फैलाया जा रहा है। इसके साथ कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी पर तंज कसा जा रहा है कि कांग्रेस शासित प्रदेश में महिलाओं के साथ ऐसा अत्याचार हो रहा है।

बता दें कि हाल ही में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले प्रियंका गांधी ने महिलाओं के लिए एक नारा दिया था – लड़की हुं लड़ सकती हुं। जिसके बाद सोशल मीडिया पर मारपीट के इस वीडियो को शेयर किया जा रहा है। 

पोस्ट में कहा गया है कि प्रियंका गांधी यूपी की महिलाओं पर होने वाले अत्याचार के खिलाफ तो बोलती हैं, लेकिन कांग्रेस शासित राजस्थान में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार उन्हे नहीं देखाई देते।

क्या है वायरल पोस्ट?

18 नवम्बर को Mani Mohanty नाम के एक ट्विटर यूजर ने इस वीडियो को पोस्ट कर लिखा – “प्रियंका जी जनता जानना चाहती है कि। कांग्रेस शासित राज्य की लड़की कब लड़ सकेगी? @RahulGandhi इस घटना पर कब तक चुप्पी साधेंगे?”

 सच्चाई-

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि यह वायरल वीडियो असल में उत्तर प्रदेश के अमेठी का है। जहां जमीन विवाद को लेकर एक महिला और उसकी बेटी को बुरी तरह से पीटा गया था। मामले में तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है।

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पड़ताल की शुरुआत हम ने इनविड टूल की मदद से रिवर्स इमेज सर्च करने से की। हमें वायरल वीडियो की खबर Bharat AtoZ News यूट्यूब चैनल पर मिली, जो 17 नवंबर 2021 को प्रकाशित हुई थी।

खबर के मुताबिक यह घटना अमेठी के भटगवा गांव की है जहां जमीन हड़पने का विरोध करने पर दबंगों ने एक महिला और उसकी बेटी की बुरी तरह से पिटा था। हमले में दोनों गंभीर रूप घायल हो गए थे।  

18 नवंबर को अबुशहमा खान नाम के ट्विटर यूजर ने यही खबर ट्वीट की थी। ट्वीट में वीडियो के साथ लिखा था, “क्या इसी तरह से होगा महिलाओं का सम्मान, वीडियो #अमेठी जिले का है, जमीनी विवाद में दबंगों ने महिलाओं को पीटा।“

वहीं इस ट्वीट के जवाब में उत्तर प्रदेश पुलिस का एक रिप्लाई भी मिला जिसमें लिखा था- “प्रकरण दिनांक 15।11।2021 का है, जिसमें थाना गौरीगंज पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक विधिक कार्यवाही की जा रही है।” 

18 नवम्बर को यूपी कांग्रेस ने भी इस वीडियो को पोस्ट करते हुए सत्ताधारी योगी सरकार पर निशाना साधा था। पोस्ट में लिखा है कि “योगी राज में – ना किसान सुरक्षित है,ना जवान सुरक्षित है, ना महिलाओं का सम्मान सुरक्षित है,कितना शर्मनाक है कि स्मृति ईरानी अमेठी में हैं, और आज वहां ऐसी घटना हो रही है।”

बाद में अन्य एक ट्विटर पोस्ट मिला। जो की अमेठी के स्थानीय पत्रकार हैं। उन्होने ने भी वीडियो को अमेठी का बताकर साझा किया है। अमेठी, जमीनी बिवाद मे दबंगो ने महिला और उसकी बेटियो को जमकर पीटा। महिला व बेटी गंभीर रूप से हुई घायल। जमीन हड़पने का विरोध करने पर दबंगो ने पीटा। पिटाई का बीडियो शोशल मीडिया पर हुआ वायरल। गौरीगंज थाना क्षेत्र के भटगवा गाँव का मामला। 

हम ने खबर की पुष्टि के लिए गौरीगंज पुलिस स्टेशन में संपर्क किया। एसएचओ अजीत कुमार विद्यार्थी ने हमें बताया कि वायरल वीडियो उत्तर प्रदेश का नहीं बल्कि अमेठी राजस्थान का है। इस मामले में 3 आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

मामले की कार्यवाही की जा रही है। साथ ही उन्होंने इस प्रकार की झूठी खबरे न फैलाने की निवेदन किया है। इसके अलावा अमेठी के स्थानीय पत्रकार राजेश पाण्डेय  ने भी वीडियो को इसी जानकारी के साथ साझा किया है।

निष्कर्ष-

तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा  भ्रामक है। असल में यह वीडियो राजस्थान का नहीं, बल्कि उत्तर प्रदेश का है।

Avatar

Title:उत्तर प्रदेश के वीडियो को कांग्रेस शासित राजस्थान में महिलाओं पर अत्याचार का बता कर वायरल

Fact Check By: Saritadevi Samal 

Result: False

Leave a Reply