कश्मीर विश्वविद्यालय की प्रोफेसर के विडियो को महाराजा हरि सिंह की पोती के नाम से फैलाया जा रहा है |

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१३ अगस्त २०१९ को “Hailey Tvनामक एक फेसबुक पेज ने एक विडियो पोस्ट किया, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “जम्मू और कश्मीर के अंतिम डोगरा शासक, महाराजा हरि सिंह की पोती” | विडियो में हम एक महिला को कश्मीर पर बात करते हुए देख सकते है, इस विडियो को सोशल मीडिया पर साझा करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह महिला महाराजा हरि सिंह की पोती है, जो जम्मू-कश्मीर राज्य के अंतिम शासक थे | वीडियो में दिख रही महिला, जिसे सोशल मीडिया यूजर ने हरि सिंह की पोती बताया है, भारत में तत्कालीन रियासत जम्मू-कश्मीर द्वारा दिए गए इंस्ट्रूमेंट ऑफ़ एक्सेसन के बारे में बात करते हुए दिख रही है | बता दें कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार ने अनुच्छेद ३७० को हाल ही में रद्द कर दिया जिसमें जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा दिया गया था | फैक्ट चेक किये जाने तक यह पोस्ट २५०० प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चुकी थी |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव विडियो 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुआत में हमने इस विडियो को इन्विड टूल का इस्तेमाल करते हुए यांडेक्स रिवर्स इमेज सर्च किया जिसके परिणाम से हमें सेवेनवप.नेट के वेबसाइट पर एक विडियो मिला | इस विडियो को ११ जुलाई २०१८ को अपलोड किया गया था और उसके शीर्षक में लिखा गया है कि “कश्मीर मुद्दा: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हमीदा नईम भाषण देते हुए” | इस विडियो को आप यू-ट्यूब पर भी देख सकते है |

आर्काइव लिंक

लगभग १८ मिनट पर, AMUSU के सदस्यों को देखा जा सकता है, तत्कालीन एएमयूएसयू के अध्यक्ष मसकूर अहमद उस्मानी ने भी अपने फेसबुक पेज पर इस घटना से संबंधित पोस्ट और तस्वीरें साझा की थीं |

आर्काइव लिंक 

हमने इस विडियो को यू-ट्यूब पर AMUSU के चैनल पर भी ढूँढा, जिसके परिणाम से हमें २३ जून २०१८ को AMUSU II के चैनल पर यह विडियो मिला | प्रोफेसर हमीदा नईम ने  २०१८ में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय छात्र संघ द्वारा आयोजित सम्मेलन में भाषण दिया था |

गूगल सर्च के हमें हमीदा नईम का लिंक्डइन प्रोफाइल मिला जिसके मुताबिक वे कश्मीर के विश्वविद्यालय के प्रोफेसर है |

इस विडियो को ३१ अक्टूबर २०१८ को कश्मिरिअत व्लोग द्वारा अपलोड किया गया है, जिसके विवरण में लिखा गया है कि “हमीदा नईम, कश्मीर विश्वविद्यालय की प्रोफेसर और सामाजिक कार्यकर्ता, अलीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्रों को संबोधित करते हुए |

गूगल सर्च से हमें पता चला कि डॉ. ज्योत्सना सिंह जम्मू-कश्मीर के अंतिम शासक महाराजा हरी सिंह की पोती हैं | इंडियन राजपूत के वेबसाइट से हमें डॉ. ज्योत्सना सिंह की तस्वीर भी मिली |

इसके बाद हमें महाराजा के पोते और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता विक्रमादित्य सिंह द्वारा किया गया एक ट्वीट मिला, इस ट्वीट के माध्यम से उन्होंने सोशल मीडिया पर किए गए दावों का खंडन किया |

ट्वीट में लिखा गया है कि “जम्मू-कश्मीर के महाराजा हरि सिंह जी की पोती, मेरी बहन डॉ. ज्योत्सना सिंह हैं | यह वह नहीं है | कृपया इस नकली / दुर्भावनापूर्ण वीडियो को अनदेखा करें”

आर्काइव लिंक 

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | विडियो में दर्शायी गयी महिला महाराजा हरी सिंह की पोती नही है, बल्कि उनका नाम हमीदा नईम है और वह कश्मीर विश्वविद्यालय की प्रोफेसर है |

Avatar

Title:कश्मीर विश्वविद्यालय की प्रोफेसर के विडियो को महाराजा हरि सिंह की पोती के नाम से फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply