क्या यह विडियो पश्चिम बंगाल में डॉक्टर के साथ हुई मारपीट का है?

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१८ जून २०१९ को जय श्री राम नामक एक फेसबुक पेज पर एक विडियो पोस्ट किया है | विडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “यही कारण है कि पश्चिम बंगाल में डॉक्टर सुरक्षा मांग रहे हैं | देखें पश्चिम बंगाल पुलिस की भूमिका…स्पष्ट सीसीटीवी फुटेज होने के बावजूद, कोई कार्रवाई नहीं की जाती है |”

विडियो एक सीसीटीवी कैमरे में रेकॉर्ड किया गया दृश्य दर्शाता है | विडियो में देखा जा सकता है कि एक डॉक्टर के चैम्बर के अंदर कुछ लोग ज़बरदस्ती घुस आते है और डॉक्टर को पीटने लगते है | इस मारपीट के दौरान हम एक पुलिस अफसर को चैम्बर के अंदर आते हुए देख सकते है परंतु वह इस मारपीट को रोकने की कोशिश नहीं करते | इस विडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि यह विडियो बंगाल का है और पिटाई कर रहे लोगों को ना तो रोका गया ना ही गिरफ्तार किया गया | इस विडियो को सोशल मीडिया पर काफ़ी तेजी से साझा किया जा रहा है |

आर्काइव लिंक

सोशल मीडिया पर इसी विडियो को साझा करते हुए यह भी दावा किया गया है कि “यह CCTV फुटेज देखिए किस तरह #मुसलमानों की भारी भीड़ डॉक्टरों को मारती है और पुलिस चुपचाप बैठकर तमाशा देख रही है. CCTV फुटेज के बाद भी एक भी गुनाहगार को सिर्फ इसलिए नहीं पकड़ा गया क्योंकि वह मुस्लिम है, ओर जिसको पीटा गया वो डॉक्टर हिन्दू है क्या ये मोब लिंचिंग नही है? #SAVEDOCTORS |”

आर्काइव लिंक

क्या वास्तव में यह विडियो दावें अनुसार पश्चिम बंगाल में डॉक्टर के साथ हुए मारपीट का है? हमने इस विडियो की सच्चाई जानने की कोशिश की |

संशोधन से पता चलता है कि..

जांच की शुरुआत में हमने इस विडियो को बारीकी से देखा | यह विडियो एक सीसीटीवी कैमरा का रिकॉर्डिंग है | इनविड टूल के मग्निफ़ाइएर टूल के माध्यम से इस विडियो की रिकॉर्डिंग समय और तारीख को हमने देखा | हमें कैमरा के रिकॉर्डिंग पर इस रिकॉर्डिंग की तारीख दिखी | विडियो के ऊपर लिखा गया है कि यह विडियो २४ अक्तूबर २०१८ का है | साथ ही लिखा गया है कि दिन- बुधवार था और समय ११ बजकर ३९ मिनट देखा जा सकता है |

हमने २४ अक्टूबर- २६ अक्टूबर २०१८ के समय सीमा के भीतर कीवर्ड्स “डॉक्टर सीसीटीवी, पीटा गया” के साथ गूगल सर्च किया | परिणाम से हमें यू-ट्यूब का एक लिंक मिला |

इस सर्च से हमें एक विडियो मिला, जो आईबीसी २४ द्वारा २५ अक्टूबर २०१८ को प्रसारित किया गया है | विडियो के शीर्षक  में लिखा गया है “IBC24, जिला अस्पताल में डॉक्टर से मारपीट, CCTV में कैद हुई मारपीट की पूरी घटना, Bhind Latest News MP” इस खबर से हमें पता चलता है कि यह घटना मध्य प्रदेश में भिंड नामक एक शहर की है और २०१८ में घटित हुई थी | कहा गया है कि इलाज के दौरान मरीज की मौत होने के कारण उनके परिजनों ने डॉक्टर को पीटा |

२६ अक्टूबर २०१८ को दैनिक भास्कर ने इस घटना की खबर प्रकाशित की | खबर के अनुसार यह घटना मध्य प्रदेश में भिंड शहर की है | जिला अस्पताल में एक महिला ने ईलाज के दौरान दम तोड़ दिया, जिसके पश्चात डॉक्टर को महिला के परिवार के सदस्यों ने पीटा था | उसे इमरजेंसी में अत्यधिक कम हीमोग्लोबिन के कारण लाया गया और दुर्भाग्य से बचाया नहीं जा सका |

इसके अलावा लिखा गया है कि मरीज का नाम सुषमा भदौरिया था | इससे यह बात स्पष्ट है कि, वह मुसलमान नहीं थी |खबर के अनुसार डॉक्टर का नाम डॉक्टर अग्रवाल है |

आर्काइव लिंक

इस घटना के जुडी खबर को पंजाब केसरी ने भी प्रकाशित किया है | खबर में लिखा गया है कि डॉक्टर आर. के. अग्रवाल ने इस मामले की शिकायत सिटी कोतवाली थाने में की थी | शिकायत के बाद पुलिस महिला के परिजनों पर आगे की कार्रवाई कर रही थी |

आर्काइव लिंक

फेसबुक पर न्यूज़१८ मध्य प्रदेश  ने भी इस विडियो को प्रसारित किया था |

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों के जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह विडियो पश्चिम बंगाल का नहीं, बल्कि मध्य प्रदेश में घटित घटना का है | साथ ही यह विडियो २०१८ का है | मृत महिला का नाम सुषमा भदौरिया थी जिसका यह मतलब है कि वह मुसलमान परिवार की सदस्य नहीं हो सकती |

Avatar

Title:क्या यह विडियो पश्चिम बंगाल में डॉक्टर के साथ हुई मारपीट का है?

Fact Check By: Drabanti ghosh 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •