केरल में भीड़ द्वारा तिरंगे का अपमान का दावा फर्जी, ये पाकिस्तान का पुराना वीडियो है…..

False Political

भारतीय झंडे के ऊपर से कुछ गाड़ियों के गुजरने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से शेयर किया जा रहा है। वीडियो को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि केरल में भीड़ ने तिरंगे का अपमान करते हुए पाकिस्तानी झंडे फहराए। इस वीडियो को शेयर करते हुए हालिया लोकसभा चुनाव से जोड़ा जा रहा है। 

वायरल वीडियो के साथ यूजर ने लिखा है- केरल के इस वीडियो को देखें और दुनिया भर में अभी फॉरवर्ड करें । 6 महीने बाद फॉरवर्ड करने का कोई लाभ नहीं है। 

फेसबुकआर्काइव 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पड़ताल की शुरुआत में वायरल वीडियो के कुछ तस्वीरों का रिवर्स इमेज सर्च करने पर वायरल वीडियो हमें इंडिया यूट्यूब चैनल पर मिला। यहां पर वीडियो 6 जून 2022 को पोस्ट किया गया है। चैनल के मुताबिक वीडियो पाकिस्तान का है, भारत का नहीं। 

जांच में आगे हमें एक ट्विटर अकाउंट (आर्काइव)  पर भी 10 मार्च 2020 को यहीं वीडियो पोस्ट किया हुआ मिला। यह वीडियो कम से कम 3 साल पुराना है। इससे ये स्पष्ट होता है वायरल वीडियो हालिया लोकसभा चुनाव के दौरान का नहीं है। 

वीडियो के 1 मिनट 30 सेकंड पर एक काले रंग की गाड़ी की नंबर प्लेट पर BFK- 625 लिखा हुआ देखा जा सकता है। हमने इस तरह के नंबर प्लेट को गूगल पर सर्च किया। परिणाम में हमने पाया कि ऐसी नंबर प्लेट पाकिस्तान में होती है। निम्न में विश्लेषण देखें। 

इसके अलावा हमें वीडियो में एक दुकान नजर आया जिस पर ‘सनम’ लिखा हुआ है। गूगल मैप पर सर्च करने पर करांची के तारिक रोड पर सनम नाम का यह दुकान मिला। 

इसके अलवा कराची स्ट्रीट व्यू – पाकिस्तान यूट्यूब चैनल के 15 मिनट 58 सेकंड पर वायरल वीडियो में नजर आ रही जगह को देखा जा सकता है।

वीडियो में दिख रहे ऑटो केरल के नहीं है। केरल ऑटो रिक्शा वायरल वीडियो में दिख रहे ऑटो रिक्शा से अलग है। निम्न में  विश्लेषण देखें।

निष्कर्ष- तथ्य-जांच के बाद हमने पाया कि, केरल में भीड़ द्वारा तिरंगे का अपमान करते हुए पाकिस्तानी झंडे फहराए जाने का दावा फर्जी है । वायरल वीडियो केरल का नहीं बल्कि पाकिस्तान के करांची का पुराना वीडियो है। 

Avatar

Title:केरल में भीड़ द्वारा तिरंगे का अपमान का दावा फर्जी, ये पाकिस्तान का पुराना वीडियो है…..

Fact Check By: Sarita Samal 

Result: False

Leave a Reply