महाराष्ट्र के अमरावती में लगे लॉक़डाउन के पुराने वीडियो को वर्तमान का बता वायरल किया जा रहा है।

Coronavirus False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते कई शहरों में प्रशासन ने कुछ दिनों के लिए लॉकडाउन घोषित किया है। इन शहरों में से एक शहर अमरावती भी है। इसी बीच सोशल मंचों पर एक वीडियो को वर्तमान में अमरावती का बताकर वायरल किया जा रहा है। उस वीडियो में आप पुलिस को लोगों को डंडे से पीटते हुए देख सकते है।

वीडियो के शीर्षक में लिखा है,

महाराष्ट्र के अमरावती से नए लॉक डाउन के साथ नए रुझान आना शुरू हो गए हैं। महा प्रसाद लंगर शुरू हो गया है। सोच समझ कर बाहर निकलें। कोई बहाना नहीं चलेगा।“

C:\Users\levovo\Desktop\FC\Amravati Lockdown police beating3.jpg

फेसबुक | आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहा वीडियो पुराना है। वर्ष 2020 में लगे लॉकडाउन के वीडियो को वर्तमान का बताया जा रहा है। 

सबसे पहले हमने यूट्यूब पर मराठी भाषा में कीवर्ड सर्च किया तो हमें नेशन नेकस्ट नामक एक आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर वायरल हो रहा यही वीडियो प्रसारित किया हुआ मिला। “अमरावती पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर लाठीचार्ज किया व उन्हें घर पर रहने के लिए कहा।“

यह वीडियो 28 मार्च 2020 को प्रसारित किया गया था।

आर्काइव लिंक

इसके पश्चात हमने अमरावती के डेप्यूटी कमिश्नर शशिकांत सातव से संपर्क किया तो उन्होंने इस वीडियो को पुराना बताते हुए कहा कि, 

वायरल हो रहा वीडियो मार्च 2020 का है। इस वर्ष जो लॉकडाउन लगा है, उसके नियम पुराने लॉकडाउन से अलग है। इस लॉकडाउन में मेडिकल, किराना, दूध की दूकाने, (15% क्षमता की अनुमति) दफ्तर, माल परिवहन, पर कोई रोक नहीं है। लोग सुबह 8 बजे से दोपहर तीन बजे तक बाज़ार में खरीदी कर सकते है, या जो भी बाहर काम है वे सब कर सकते है। इस लॉकडाउन में लोग काफी सतर्क है, पुलिस को भी कड़ाई करने की जरूरत नहीं पड़ रही है क्योंकि इस बार लोगों में इस बीमारी को लेकर पूर्व से ही काफी ज्यादा संजीदगी है। 

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है| वायरल हो रहा वीडियो पुराना है व वर्तमान में इस वीडियो को वायरल कर लोगों में भ्रामकता फैलाई जा रही है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

.शिवसेना के पोस्टर का रंग बदलकर उसे गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

२.क्या पंजाब में कृषि कानूनों के विरोध के साथ-साथ हिंदी भाषा का ​भी विरोध हो रहा है? जानिये सच

३. झारखण्ड में लड़की पर हमला करने के एक पुराने वीडियो को लव जिहाद के नाम से फैलाया जा रहा है |

Avatar

Title:महाराष्ट्र के अमरावती में लगे लॉक़डाउन के पुराने वीडियो को वर्तमान का बता वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •