गुजरात के भावनगर में पुलिस द्वारा एक अपराधी को पीटने के पुराने वीडियो को वर्तमान का बता वायरल किया जा रहा है।

Partly False Political

हालही में गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अपने पद से इस्तीफा दिया था जिसके बाद भुपेंद्र पटेल को मुख्यमंत्री बनाया गया। इसको जोड़कर एक वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहा जिसमें पुलिस को सड़क पर आपराधियों को बेरहमी से पीटते हुये देखा जा सकता है। वीडियो के साथ यह दावा किया जा रहा है कि यह वर्तमान की घटना है। दावे में लिखा है कि, भुपेंद्र पटेल के मुख्यमंत्री बनने के बाद का यह दृश्य है जब गुजरात पुलिस खुलेआम अपराधियों को सज़ा दे रही है।

वायरल हो रहे पोस्ट में यूज़र ने लिखा है, 

हमारे गुजरात के नए मुख्यमंत्री पटेल साहब का गुंडों के प्रति एक छोटा सा ट्रेलर की। शुरुआत की।“ 

इस वीडियो में लिखे गये कैपशन में लिखा है, 

गुजरात पुलिस ने डॉन को बीच सड़क पीटा।“ 

(शब्दशः)

फेसबुक 

उपरोक्त दावे के साथ वायरल हो रहे वीडियो की एक तस्वीर भी इंटरनेट पर काफी तेज़ी से साझा की जा रही है जिसे आप नीचे दिये गये पोस्ट में देख सकते है।

फेसबुक 

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रहा वीडियो पुराना है और जिस वक़्त ये घटना घटी थी तब विजय रूपाणी गुजरात के मुख्यमंत्री थे।

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को बारीकी से देखकर की, हमें इसमें मेट्रो इंडिया न्यूज़ लिखा हुआ दिखा। इसके बाद हमने यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च किया व परिणाम में मेट्रो इंडिया न्यूज़ नामक एक चैनल दिखा। हमने उसे खंगाला, परिणाम में वायरल हो रहा यही वीडियो 8 सितंबर 2018 को प्रसारित किया हुआ मिला। इस वीडियो के साथ दी गयी जानकारी में लिखा है, “डॉन  को क्यों पड़ा पुलिस का डंडा ।। देखें गुजरात पुलिस ने बीच सड़क पर अपराधी को कैसे धोया।”

आर्काइव लिंक

इस सम्बन्ध में अग्रिम जाँच के बाद हमने पाया कि यही वीडियो 8 सितंबर 2018 को मेट्रो इंडिया न्यूज़ ने अपने फेसबुक पेज पर प्रसारित किया था।

तत्पश्चात हमने इस वीडियो के बारे में अधिक जानकारी पाने लिये यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च किया। हमें न्यूज़ 18 गुजराती द्वारा 1 सितंबर 2018 को प्रसारित वीडियो मिला। इस वीडियो में वायरल हो रहे वीडियो में घट रही घटना के बारे में जानकारी दी जा रही है। इसके शीर्षक में लिखा है, “भावनगर पुलिस ने निकाला शैलेश धंधलिया का जुलूस।”

आर्काइव लिंक

इसके बाद गूगल पर कीवर्ड सर्च करने पर हमें संदेश द्वारा 30 अगस्त 2018 को प्रकाशित एक समाचार लेख मिला। उसमें लिखा है कि यह वीडियो गुजरात में स्थित भावनगर क्राइम ब्रांच के पुलिस इंस्पेक्टर दीपक मिश्रा का है। भावनगर के तलाजा में शैलेश धंधल्या, मुकेश शियाल और भद्रेश गोस्वामी नामक अपरादियों को दीपक मिश्रा व अन्य पुलिसकर्मी द्वारा रास्ते पर लोगों की भीड़ के सामने पीटा गया। तीनों अपराधियों को पुलिस ने तलाजा शहर में ज़मीन खाली करवाने व फायरिंग के मामले में गिरफ्तार किया था। उन्हें तलाडा कोर्ट ने दो दिन की रिमांड पर भावनगर पुलिस के हवाले कर दिया था।

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा आंशिक रूप से गलत है। यह वीडियो पुराना है, इसमें दिख रही घटना तब घटी थी तब भा.ज.पा नेता विजय रूपाणी गुजरात के मुख्यमंत्री थे।

तालिबान के अफ़ग़ानिस्तान पर कब्ज़े से संबंधित अन्य फैक्ट चेक को आप नीचे पढ़ सकते है|

Avatar

Title:गुजरात के भावनगर में पुलिस द्वारा एक अपराधी को पीटने के पुराने वीडियो को वर्तमान का बता वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: Partly False

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •